इस क्षेत्र में किसान आंदोलन के बाद बढ़े दावेदार

इस क्षेत्र में किसान आंदोलन के बाद बढ़े दावेदार

harinath dwivedi | Publish: Sep, 07 2018 09:40:17 PM (IST) Mandsaur, Madhya Pradesh, India

इस क्षेत्र में किसान आंदोलन के बाद बढ़े दावेदार

मंदसौर जिले की मल्हारगढ़ विधानसभा सीट आरक्षित सीट है और यहां वर्ष 2013 के चुनाव में भाजपा के जगदीश देवड़ा ने जीत दर्ज की थी। वर्ष २०१८ के चुनावों को लेकर विधायक देवड़ा के साथ ही दोनों पार्टियों से लगभग आधा दर्जन नेता दावेदारी कर रहे हैं।प्रमुख नामों के दोनों ही पार्टियों से तीन-तीन लोगों के नाम सामने आ रहे हैं।विधायक दवेड़ा लगातार दो बार से यहां से विधायक है। विधायक देवड़ा ने पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के प्रत्याक्षी श्यामलाल लोकचंद पर 6571 वोटों सेजीत हासिल की थी।चुनाव में जगदीश देवड़ा को जहां 86857 वोट प्राप्त हुए थे, वहीं श्यामलाल जोकचंद को 80286 वोट प्राप्त हुए थे।
भाजपा
जगदीश देवड़ा- वर्तमान में विधायक है और इस सीट से लगातार दो बार चुनाव जीत चुके है।इसके पहले सुवासरा भी विधायक रह चुके है। इसके साथ ही प्रदेश की भाजपा सरकार में पूर्व में गृह, जेल व परिवहन मंत्री भी रह चुके है। लंबे समय से सक्रियता के साथ कई बार विधायक व मंत्री रहने के कारण मुख्यमंत्री से लेकर कई प्रादेशिक नेताओं से सीधा जुड़ाव है। पार्टी में लगातार सक्रिय और अनुभव के आधार पर ये सबसे तगड़े दावेदार है। इसके साथ ही विजयी उम्मीदवार होने के कारण पार्टी इन पर फिर से दांव खेल सकती है।
शांतिलाल मालवीय- वर्तमान में मंदसौर से जनपद अध्यक्ष है। केंद्रीय मंत्री थावरचंद गेहलोत के नजदीकी माने जाते है। जमीनी पकड़ है। लंबे समय से क्षेत्र में सक्रिय है और लगातार पार्टी के लिए कार्य कर रहे हैं।अनुभव और पार्टी से लंबा जुड़ाव होने के कारण वे दावेदारी कर रहे हैं।
निहालचंद मालवीय- इनकी पत्नी जिला पंचायत अध्यक्ष रह चुकी है और यह जिला पंचायत के सदस्य है। संगठन के विभिन्न पदों के दायित्व संभाल चुके है। संगठन में लंबे समय से सक्रिय होने के कारण इनकी दावेदारी भी मजबूत मानी जा रही है।हालांकि विधायक देवड़ा के लगातार सक्रिय होने और तीन बार के विधायक होने के कारण इनकी दावेदारी कुछ कमजोर भी पड़ जाती है। पूर्व मेंअजा मोर्चाके मंत्री और महामंत्री के पद पर कार्य कर चुके हैं।वर्तमान में अजा मंडल की प्रदेश कार्यसमिति सदस्य है एवं उज्जैन संभाग के प्रभारी के रूप में पार्टी के लिए कार्य कर रहे हैं।
कांग्रेस
श्यामलाल जोकचंद- मीनाक्षी नटराजन के करीबी है और दो बार लगातार कांग्रेस के टिकिट पर विधानसभा चुनाव लड़ चुके है। क्षेत्र में लगातार सक्रियता के कारण दावेदारी मजबूती से कर रहे है। हालांकि पिछले विधानसभा चुनाव में इन्हें हार का सामना करना पड़ा था।इस बार के चुनाव के पूर्व ये क्षेत्र में पूर्णरूप से सक्रिय है और आम जन से सीध संपर्क करने का प्रयास कर रहे हैं।पूर्व में दो बार टिकट मिलने के कारण क्षेत्र में ये एक अच्छा नाम भी है।
परशुराम सिसोदिया- वर्तमान में जनपद पंचायत के उपाध्यक्ष है।यूथ कांग्रेस के नेता हैऔर जमीनी पकड़ के साथ नटराजन गुट से जुड़ाव माना जाता है।युवाओं का साथ होने के कारण इनकी दावेदारी भी मजबूत है।श्यामलाल जोकचंद पूर्व में दो बार टिकट प्राप्त कर चुके हैं।कांग्रेस की नए चेहरों को टिकट देने की रणनीति में ये प्रमुख दावेदार के रूप में सामने आते हैं।दावेदारी करने के पूर्व से ही ये आमजन से सीधा संपर्क करने का प्रयास लगातार करते आ रहे हैं। आमजन की समस्याओं को उठाना और उन्हें निपटाना इनकी सक्रियता को दर्शा रहा है।
पुष्पा भारती- पूर्व में सुवासरा की विधायक रह चुकी है। पार्टी में लंबे समय से सक्रिय है। महिला होने के कारण से भी दावेदारों की लिस्ट में शामिल है।विधायक का कार्यकाल पूरा करने के कारण भी ये प्रमुख दावेदारों में है।पार्टी के साथ ही क्षेत्र में ये लगतार सक्रिय है और आमजन से सीधा जुड़ाव रख रही है।मल्हारगढ़ विधानसभा से ये कांग्रेस का नया चेहरा बनकर दावेदारी कर रही है।
गिरीश वर्मा- वर्ष १९९८ में भी वे कांग्रेस पार्टी की ओर से दावेदारी कर चुके हैं।इसके बाद में लगातार १० वर्षों तक जिला पंचायत सदस्य के रूप में सक्रिय रहे हैं।इनके पिता आशाराम वर्मा भी सुवासरा विधानसभा से विधायक रह चुके हैं।युवा और नए चेहरे के रूप में कांग्रेस इन पर दांव खेल सकती है।इसके साथ ही विगत १० वर्षों से मल्हारगढ़ विधानसभा क्षेत्र में सक्रिय है।खासकर ग्रामीण क्षेत्रों में इनकी अच्छी पकड़ बताई जा रही है।
अन्य पार्टियों से अब तक सामने नहीं आए हैं दावेदार
क्षेत्र की बसपा, सपा, आप जैसी अन्य राजनैतिक पार्टियों से अब तक कोई प्रमुख नाम सामने नहीं आए हैं।हालांकि विधानसभा चुनावों कोलेकर अन्य पार्टियों से भी कई दावेदारों की जल्द सामने आने की संभावना है। क्षेत्र में हालांकि दो प्रमुख पार्टियों भाजपा और कांग्रेस के दावेदारों को लेकर चर्चाएं आम हो रही हैऔर इन दावेदारों के क्षेत्र में सक्रिय रहने की खबरे लगातार बनी रहती है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned