भगवान महावीर का जन्मवाचन महोत्सव मनाया

भगवान महावीर का जन्मवाचन महोत्सव मनाया

harinath dwivedi | Publish: Sep, 10 2018 09:18:58 PM (IST) Mandsaur, Madhya Pradesh, India

भगवान महावीर का जन्मवाचन महोत्सव मनाया

मंदसौर । पर्यूषण महापर्वके पंचम दिवस शहर सहित जिले भर में अनेक स्थानों पर भगवान महावीर का जन्मवाचन महोत्सव धूमधाम से मनाया गया। इस दौरान कहीं पालना झूलाया गया तो कहीं 14 स्वप्नों की बोलियां लगाईगई। कार्यक्रम के दौरान खुशियां मनाई गई।
अक्षत उछाले, पालना का निकला जुलूस
शहर के चौधरी कॉलोनी स्थित रूपचांद आराधना भवन में भगवान महावीर का जन्मवाचन महोत्सव धूमधाम से मनाया गया। यहां साध्वी ने भगवान महावीर के जन्म का वृतान्त श्रवण कराया जैसे ही भगवान महावीर का जन्म वृतान्त पूर्ण हुआ। धर्मालुजनो ने अक्षत उछाले तथा एक दूसरे की प्रभुजी के जन्म की शुभकामनाएं दी। रूपचांद आराधना भवन में भगवान महावीर के जन्मोत्सव पर नारियल वदारे गए, प्रभुजी की आरती की गई तथा उनके पालने को धर्मालुजनों ने झुला झूलाया। साध्वी मुक्तिप्रिया मसा ने सोमवार को कल्पसूत्र का वाचन करते हुए भगवान महावीर के साथ ही अन्य सभी तीर्थकरो के गर्भ में रहने के समय का वर्णन किया तथा बाद में 24वें तीर्थकर महावीर के जन्म के पूर्व की स्थिति बताई। साध्वी ने जैसे ही जन्म वाचन धर्मालुजनो को श्रवण कराया, धर्मालुजन प्रसन्न हो गए और उन्होंने प्रभुजी के पालने को झूला झुलाया। जन्म वाचन के उपरांत रूपचांद आराधना भवन से पालना का जुलूस निकाला गया। जुलूस ने कईकॉलोनियों का भ्रमण किया गया। जुलूस में बडी संख्या में धर्मालुजन शामिल हुए। बैंड बाजो के साथ निकले इस जुलूस में श्रीसंघ अध्यक्ष दिलीप डांगी, संदीप धींग, छोटेलाल जैन, सुरेन्द्र जैन, प्रवीण मुराडिया, रोहित संघवी, पंकज खटोड शामिल थे। जन्मवाचन के पूर्व माता विशाल के सपने में आई 14 वस्तुओं की बोलिया लगाई गई। श्रीसंघ से जुड़े परिवारो ने पूरे उत्साह के साथ इन बोलियो में भागीदारी की। पालाना की बोली का लाभ आदिनाथ पाश्र्वनाथ गु्रप राजकुमार कलश कुमार श्रीमाल ने लिया। कार्यक्रम में श्रीसंघ के द्वारा स्वामीवात्लय के लाभार्थी डॉ प्रकाशचंद्र निलेश कुमार नारायणगढ़ वाला परिवार का भी बहुमान किया गया। जन्मवाचन के पूर्व 14 सपनाजी तथा अन्य धार्मिक गतिविधियों की बोलियों लगायी गई। धर्मसभा में चौधरी कॉलोनी स्थित शंातिनाथजी मंदिर व आदिनाथ विहार स्थित आदिनाथ मंदिर की वार्षिक बोलिया भी बोली गई, इसमें कई परिवारो ने बढ़- चढकर भाग लिया और मंदिरजी की विभिन्न पूजाओं व द्रव्य पदार्थो की बोली का धर्मलाभ लिया।
---
कल्पसूत्र का कराया श्रवण, लगी बोलियां
शहर क्षेत्र स्थित पोरवालों के जैन मंदिर परिसर में भगवान महावीर ने जैसे ही धर्मसभा में भगवान महावीर का जन्मवाचन श्रवण कराया। यहां जैन पोरवाल श्वेताम्बर समाज के धर्मालुजनों ने उत्साह से कल्पसूत्र का श्रवण किया तथा 14 सपनाजी की बोलियों में भी भागीदारी की। यहां पालनाजी की बोली का धर्मलाभ अरविंद कुमार उकावत परिवार ने लिया। जैन पोरवाल श्वेताम्बर समाज के धर्मालुजनों ने सपना की बोलियां में भागीदारी की गई। जन्मवाचन के उपरांत गुलाबचंद्र लक्ष्मीलाल निर्मलकुमार मच्छीरक्षक परिवार द्वारा स्वामीवात्सल्य का आयोजन किया गया। प्रसन्नसागर मसा ने धर्मसभा को संबोधित किया। जन्म के बाद एक दूसरे को बधाई दी। इसके बाद पालनाजी में महावीर को झूलाया गया तथा बैंड- बाजे के साथ पालनाजी का जुलूस निकाला गया।
---
प्रभुजी के पालने को झूलाया
स्थानकवासी जैन समाज की परम्परा अनुसार भगवान महावीर का जन्मवाचन महोत्सव पर शास्त्री कॉलोनी स्थित जैन दिवाकर स्वाध्याय भवन में विशेष धर्मसभा का आयोजन हुआ। धर्मसभा में साध्वी अपूर्वप्रज्ञा मसा ने भगवान महावीर का पूरा वृतान्त श्रवण कराया। साध्वीजी ने कहा कि तीर्थकरों का जन्म सभी प्राणियों को सुख प्रदान करता है। भगवान महावीर के जन्म का साध्वी ने जैसे ही धर्मालुजनो को वृतांत श्रवण कराया। धर्मालुजन प्रसन्न हो गए और उन्होंने प्रभुजी के पालने को झूला झूलाया। साध्वी अर्पूवप्रज्ञा ने कहा कि धर्मालुजन जन्मवाचन से यह प्रेरणा ले कि जब भी घर परिवार में शिशु का जन्म हो शुभ व अच्छे संस्कारी नाम रखो। धर्मसभा के उपरंात सूरजमल कोमल चयन बाफना परिवार की ओर से जन्मवाचन की प्रसन्नता मेंप्रभावना वितरित की गई। एक अन्य प्रभावना विजयसिंह पामेचा परिवार व गब्बाबालाराम पामेचा परिवार की और से भी वितरित की गई।

Ad Block is Banned