पारंपरिक वेषभूषा में युवक-युवतियों ने गरबा खेलकर मां शक्ति की आराधना

पारंपरिक वेषभूषा में युवक-युवतियों ने गरबा खेलकर मां शक्ति की आराधना

By: harinath dwivedi

Updated: 12 Oct 2018, 08:40 PM IST

मंदसौर । नवरात्रि महोत्सव में माता कीआराधना मेंडूबे शहर ने शाम के समय माता की स्थापना के बाद गरबों से माता की भक्ति की।इस दौरान नई आबादी में आनंद गरबा मंडल द्वारा विशाल पंडाल सजाया गया। यहां पारंपरिक वेषभूषा में युवतियों और युवकों ने कई धुनों पर गरबा खेलते हुए मां शक्ति की आराधना की।इसके पूर्व माता की भव्य आरती की गई, जिसमें बड़ी संख्या में क्षेत्रीय लोगों के साथ शहर के गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे।

माता की भक्ति मेंडूबा दूधाखेड़ी माता मंदिर

गरोठ क्षेत्र के प्रसिद्ध आरोग्य धाम दूधाखेडी माताजी मंदिर में भी इस महापर्व में माहौल भक्ति मय हो गया है। आस्था के महाकुंभ का एक धार्मिक नजारा और भक्ति मय माहौल इन दिनों केसर बाई महारानी के दरबार में देखा जा सकता है।
नवरात्र महोत्सव की अधिक जानकारी देते हुए मंदिर कर्मचारी पंडित ब्रजेश शर्मा ने बताया कि आश्विन नवरात्र पर्व के दौरान प्रात: 4 बजे से पैदल भक्तों के झुंड माँ के दर्शन हेतु माँ के जयकारों से पूरे मंदिर परिसर को गुंजायमान कर देते है।
मंदिर के पुजारी लक्ष्मीनारायण योगी द्वारा माँ की प्रात: एवं सांध्य आरती हजारों भक्तों की उपस्थिति में प्रतिदिन की जा रही है।
हजारों की संख्या मे प्रतिदिन प्रात: काल 4 बजे से देर रात 10 बजे तक भक्त मां की पूजा अर्चना कर दर्शन लाभ प्राप्त कर रहे है। मंगलवार को दोपहर 12 बजे ग्राम दुधाखेडी के पंडित दिनेश शर्मा द्वारा माताजी की पूजा अर्चना कर घट स्थापना, मंदिर पुजारी रतननाथ शास्त्री, लक्ष्मीनारायण नाथ, योगी आत्माराम, पुरानाथ, पप्पूनाथ, केसरनाथ, गोपालनाथ, घनश्यामनाथ, मंदिर कर्मचारी नरेंद्र शर्मा लेखापाल के हाथों करवाई गई।
गंभीर रोगों के मरीज भी स्वास्थ्य लाभ हेतु मंदिर परिसर में मंगलवार से ही अपने जीवन कल्याण हेतु माँ की आराधना करने मंदिर में आने शुरू हो गए थे। जिनकी संख्या आने वाले दिनों में और भी बढ़ेगी। शनिवार की रात्रि विश्राम का अपना एक महत्व है अनुमान है कि 20 हजार से भी अधिक भक्त माँ दुधाखेडी के दरबार में इस दिन रात्रि विश्राम कर जागरण कर अपने मंगलमय जीवन की कामना माँ से करेंगे। नवरात्रि मे मंदिर पर आने वाले भक्तों की सम्पूर्ण मूलभूत व्यवस्थाओ पर मंदिर समिति के सचिव एसडीएम अनुकूल जैन के निर्देश अनुसार तहसीलदार नारायण नांदेडा के मार्गदर्शन में स्वच्छ जल पेयजल हेतु, रात्रि विश्राम वैकल्पिक टेंट, मंदिर प्रकाश, पंखे, सुलभ शौचालय, अन्य कार्यो पर मंदिर कर्मचारियों द्वारा कार्य सम्पन्न किया गया। भक्तों की दर्शन व्यवस्था में सुरक्षा की कमान थाना प्रभारी भानपुरा गोपालसिंह चौहान के नेतृत्व में मेला प्रभारी गेंदालाल पलासिया, सहायक पुलिस उप निरीक्षक, सशस्त्र पुलिस बल, पुलिस आरक्षक, महिला आरक्षक, ग्राम कोटवार एवं प्रशासनिक स्तर पर की गई है।तहसीलदार नारायण नांदेडा, ग्राम पटवारी जगदीश बामनिया, राजस्व विभाग पटवारी शैलेन्द्रसिंह ठाकुर, गोवर्धन पाटीदार, कपिल गौड़, दिनेश जोशी, ग्राम कोटवार परमानंद शर्मा, मंदिर कर्मचारी पप्पू नाथ योगी, चतुर्भुज प्रजापति, श्याम गोस्वामी आदि सेवाएं दे रहे हैं।
नौ दिवसीय आयोजन में ग्राम पंचायत द्वारा मेले में आने वाले व्यवसाइयों को प्लॉट आवंटन कर दिए गए है और व्यवसाइयों ने भी अपने व्यवसाय की दुकानें सजा ली गई है। साथ ही वाहनों की पार्किंग व्यवस्था हेतु भी ठेकेदारों को उच्च बोली पर कार्य प्रदान कर दिया गया है। स्वास्थ सुविधा हेतु पैरामेडिकल स्टाफ , आगजनी की घटना रोकथाम हेतु फायर ब्रिगेड 24 घंटे, सुचारू विद्युत व्यवस्था हेतु 24 घंटे विद्युत कर्मचारी सेवाएं मेले मे दे रहे है। नौ दिवसीय इस आयोजन में नि:शुल्क भंडारा भोजन प्रसादी की भी व्यवस्था की गई है, जिसमें प्रतिदिन बड़ी संख्या में माँ के भक्त भोजन ग्रहण कर रहे है। इस भंडारा भोजन व्यवस्था में वजे सिंह, देवराज योगी, पवन नाथ, गोविंद योगी, चेतन नाथ के साथ अन्य युवा साथी अपना सराहनीय सहयोग इस व्यवस्था में दे रहे है।
सांस्कृतिक कार्यक्रमों मे मंगलवार से सांध्य आरती के बाद श्री दुर्गा कला मंडल के कलाकारों द्वारा प्रतिदिन भगवान मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम के जीवन चरित्र पर आधारित तुलसीकृत रामायण राम लीला मंचन किया जा रहा है।विधिवत शुभारंभ ग्राम पंचायत के सरपंच प्रतिनिधि किशोर पाटीदार, उपसरपंच भारत चौधरी एवं स्थानीय व्यापारी बंधु, ग्राम वासियो, मंदिर पुजारियों, कर्मचारियों द्वारा पंडित दिनेश जी शर्मा के आचार्यत्व मे महाग्रन्थ रामायण जी की पूजा अर्चना कर रिबिन काटकर किया गया था। प्रतिदिन देर रात 1 बजे तक राम लीला का मंचन एवं राजस्थान से आए हुए कलाकारों द्वारा सुंदर, मनमोहक नृत्य प्रस्तुत कर भक्तों को खूब मनोरंजन किया गया।

harinath dwivedi Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned