VIDEO # खराब फसल लेकर पहुंचे किसानों ने मुआवजे की मांग की

खराब फसल लेकर पहुंचे किसानों ने मुआवजे की मांग की

By: Jagdish Vasuniya

Updated: 01 Feb 2019, 07:21 PM IST

मंदसौर । भारतीय किसान संघ के बैनल तले शुक्रवार को जिले के कई गांवों के किसान पुराने कलेक्ट्रेट में पहुंचे।शीतलहर से प्रभावित हुईफसल को लेकर किसान यहां पहुंचे और उन्होंने फसल दिखाते हुए प्रशासन से सर्वे करवाकर मुआवजे की मांग की है।
मुख्यमंत्री के नाम तहसीलदार को सौंपे ज्ञापन में बताया कि जिले में लगातार शीतलहर के कारण फसल प्रभावित हो रही है। इससे उत्पादन प्रभावित होगा। शीतलहर के कारण फसले 60से 80 प्रतिशत तक जल गई है। उन्होंने राहत राशि व फसल बीमा के साथ मुआवजा राशि दिलाने की मांग की है। साथ ही रोजड़ों के कारण हो रही फसल खराब से मुक्ति दिलाने की मांग भी की है। रोजड़ों के खेतों में घुमने के कारण फसले पूरी तरह बर्बाद हो रही है। इससे होने वाली क्षति की पूर्तिकरने की मांग की है। देशी गोनस्ल सुधार के लिए करीब ३५ साल से ध्यान नहीं दिए जाने पर रोष जताते हुए इस पर ध्यान देने और आवारा घुमने वाली गायों को गोशालाओं में निशुल्क छुड़वाने की मांग की। साथ ही गेहूं उपार्जन केंद्रों को पहले की तरह यथावत रखे जाने की मांग भी की। साथ ही जल्द ही पंचायत स्तर पर गोशाला खोलने की मांग भी की। किसानों के हक में विभिन्न मांगों को जल्द पूरा करने की मांग संघ के पदाधिकारियों ने रखी।
अफीम फसल में नुकसानी को लेकर भी सौंपा ज्ञापन
साथ ही किसानों ने अफीम की फसल में शीतलहर के कारण होने वाले नुकसान की भरपाईकरने के लिए मुआवजा देने की मांग की है। शीतलहर के साथ काली मस्सी बीमारी से भी यह फसल खराब हो रही है। उन्होंने तहसीलदार को वित्त मंत्री के नाम दिए ज्ञापन में कहा कि किसानों को फसल की औसत पर छुट की राहत दी जाए। साथ ही अफीम के खेत पर लगने वाली मजदूर, खाद-बीज रखरखाव की भी भरवाई की जाए। रखरखाव के खर्च से किसान आर्थिक बोझ झेल रहा है। इस दौरान किसान संघ पदाधिकारियों व किसानों ने नारेबाजी भी की।

Jagdish Vasuniya
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned