कोई महीनेभर से परिवार से नहीं मिला तो कोई 24 घंटे निभा रहा अपनी ड्यूटी

परिवार दूर है तो वीडियो काल पर ही देख लेते है परिजनों का चेहरा

By: Mukesh Mahavar

Published: 23 Apr 2020, 05:16 PM IST

मंदसौर . वैश्विक महामारी कोरोना को लेकर लगातार लॉक डाउन जारी है। यह लॉक डाउन लोगों को संक्रमण से बचाने के लिए जरूरी भी है। लोग अपने घरों में रहकर सुरक्षित हैं। लेकिन इस लॉकडाउन में भी डॉक्टर, पुलिस आदि कोरोना वरियर्स दिन रात लोगों की सुरक्षा के लिए ड्यूटी कर रहे है। इनमें से कई तो महीने भर से अपने परिवार से नहीं मिले। तो कई परिवार के पास रहते हुए भी 24 घण्टे ड्यूटी में लगे है। लोगों के लिए दिन रात ड्यूटी कर रहे इन कर्मवीरों का जज््बा सराहनीय है।


परिवार धार में विडियो कॉल पर देख लेते है परिजनों का चेहरा : भानपुरा में पदस्थ डीएसपी किरण चौहान पिछले एक माह से अपने परिवार से नहीं मिली है। परिवार धार रहता है। और ये भानपुरा में अपनी ड्यूटी निभा रही है। क्षेत्र से राजस्थान सीमा सटी हुई है। जिसके कारण यहां की चौकसी भी बढी हुई है। वे अपने अधीनस्थ कर्मचारियों के साथ यहां की चौकसी का निरीक्षण में लगी है। साथ ही भैंसोदा में एक व्यक्ति पॉजिटिव होने के कारण यहां कोरेन्टाइन क्षेत्र का निरीक्षण भी जारी है। वहीं रहवासी क्षेत्रों में पहुंचकर लॉकडाउन का उल्लंघन करने वाले लोगों को भी समझाइश दे रही है। ड्यूटी को लेकर खाने का कोई समय तय नही है। जब ड्यूटी से फुर्सत मिलती है। तो वे खाना घर जाकर ही खाती है। डीएसपी चौहान ने बताया कि यहां उनकी पहली ही पोस्टिंग हुई है। एक माह से अधिक समय हो गया। वे अपने घर धार जाकर परिजनों से नहीं मिल पाई है। परिजन भी यहां नहीं आ सकते है। तो विडियो कॉल पर बात करके ही परिजनों का चेहरा देख लेते हैं। परिवार भी हमें कोरोना को हराने के लिए प्रेरित कर है। जल्द ही हम इस कोरोना महामारी से जीतेंगे।

अस्पताल में रहो या घर, ड्यूटी 24 घंटे की
शामगढ़ स्वास्थ केंद्र में पदस्थ और ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर डॉ राकेश पाटीदार स्वास्थ केंद्र और घर मे रहते हुए 24 घण्टे ड्यूटी दे रहे है। स्वास्थ केंद्र से घर पहुंचने के बाद भी मोबाईल पर ड्यूटी जारी रहती है। एमरजेंसी में कभी भी स्वास्थ केंद्र लौटना पडता है। डॉ पाटीदार ने बताया है कि हमारे सभी स्वास्थकर्मी जी.जान से कोरोना महामारी को हराने में जुटे हुए है। हमारे ब्लॉक क्षेत्र से भेजे गए कोरोना परीक्षण के सेंपल सारे नेगिटिव आए है। घर जाने पर कुछ सावधानियां बरतनी पड़ती है। सरकार द्वारा सावधानियां बरतने की गाइडलाइन पर सभी अमल करते रहें और लॉक डाउन के नियमों का पालन होता रहे। तो जल्द ही हम इस कोरोना महामारी से जीत जाएंगे।

Mukesh Mahavar Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned