शहर के निजी स्कूल की बस टक्कर, 5 बच्चे घायल, मची अफरा- तफरी

बारिश में यात्री से लेकर स्कूली बसें हो रही हादसे का शिकार

By: harinath dwivedi

Published: 24 Jul 2018, 08:20 PM IST

मंदसौर । शहर सहित क्षेत्रमें बस हादसे लगातार बढ़ते जा रहे हैं।बारिश के दौर में हाईवे से लेकर शहर में दौड़ रही बसें हादसों का शिकार हो रही है, बावजूद विभाग न तो इन स्कूली व यात्री बसों की रफ्तार पर अंकुश लगवा पा रहा है और न ही नियमों का पालन करवा पा रहा है। मंगलवार को सुबह घर से स्कूल के लिए निकलें नन्हें बच्चों से भरी बस अनियंत्रित होकर हादसे का शिकार हो गई तो खलबली मच गई। गनीमत तो यह रही की बड़ा हादसा होने से बच गया और बच्चें सुरक्षित रहें। बच्चें भी सहम गई। शहर के मुख्य मार्गपर मंडी के समीप क्षेत्रमें करणी इंटरनेशनल स्कूल के बच्चों से भरी बस जब जा रही थी तब भी वह मंडी के समीप एक दीवार में घुस गई। इससें करीब ५ बच्चों को चोट आई जिन्हें जिला अस्पताल में लाया गया। इधर पुलिस का कहना है कि मामले की जांच चल रही है लेकिन अभी तब इसमें कोई मामला दर्जकरवाने आया नहीं है। बड़ा हादसा होने से बच गया। किसी को गंभीर चोट नहीं आई है।
मामूली चोट लगी
जयंत सोनी, चिंकी सोलंकी, तनिशा जैन, यशस्वी शर्मा, नितांश सोनी को मामूली चोट आई है। चालक कांतिलाल धनगर ने पुलिस को बताया कि गाय सामने आने के कारण बस अनियंत्रित हो गई थी। इसी के चलते वह दीवार तक पहुंच गई। दीवार में घुसी नहीं थीं, सिर्फ दीवार पर जाकर बस लगी थी।
स्कूल से लेकर यात्री बसों पर नहीं अंकुश
शहर में एक नहीं कई स्कूलों की बसें कॉलोनियों से लेकर बाजार व गली-मोहल्लों तक में पहुंच रही है। जिनमें सुरक्षा के लिए बने नियमों के पालन होने का अभाव है।बावजूद इन पर कोईसख्ती करते हुए नियमों का पालन नहीं करवा पा रहा है। यहीं आलम यात्री बसों को लेकर भी है। कुछ दिन पहले ही फोरलेन के कचनारा ओवरब्रिज से यात्री बस नीचे जा गिरी थी। इस प्रकार बसों के हादसें लगातार हो रहे है।बावजूद न तो विभाग चैकिंग से लेकर सख्ती कर रहा है और न हीं कोई कार्रवाई। इसी के कारण हर और मनमानी का आलम छाया हुआ है और यात्रियों की जान से यहां हर दिन खिलवाड़ हो रहा है।
मामला जांच में हैं
स्कूली बस वाला मामला जांच में हैं। किसी को चोट नहीं आई है। चालक ने बताया किे गाय सामने आने के कारण बस अनियंत्रित हो कर दीवार की और चली गई। अभी इस मामले में कोई फरियादी आया नहीं है। बस जप्त कर ली गई हैं। जांच की जा रही है।
-विनोदसिंह कुशवाह, टीआई, वायडी नगर, मंदसौर

harinath dwivedi Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned