म्याऊ-म्याऊ जैसे खतरनाक मादक पदार्थ में मंदसौर के युवाओं को धकेलने की तैयारी ?

म्याऊ-म्याऊ जैसे खतरनाक मादक पदार्थ में मंदसौर के युवाओं को धकेलने की तैयारी ?

By: Vikas Tiwari

Published: 13 Aug 2020, 10:57 PM IST

मंदसौर.
जिले में अब तक अफीम, गांजा, स्मैक, डोडाचूरा सहित अन्य मादक पदार्थों की तस्करी होती आई है। लेकिन इस बार पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। मंदसौर के इतिहास में पहली बार भावगढ़ पुलिस ने एमडीएम ड्रग जिसको याऊ-याऊ और पार्टी ड्रग के नाम से वियात है। उसको पकडऩे मेंं सफलता हाथ लगी है। पुलिस ने एमडीएम ड्रग के साथ चार बदमाशों को गिरतार किया है। पुलिस ने इन आरोपियों ६४८ ग्राम ड्रग बरामद की है। जिसका मूल्य ६५ लाख रूपए बताया जा रहा है। पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ चौधरी ने यह खुलासा पुलिस कंट्रोल रूम पर बुधवार को प्रेस वार्ता में किया।
पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ चौधरी ने बताया कि विश्वसनीय मुखबीर से सूचना प्राप्त हुई थी। जिसके बाद एक विशेष दल का गठन तत्काल किया गया। गठित टीम के द्वारा अवैध मादक पदार्थ तस्करों पर कार्रवाई हुए भावगढ़ विवेकानन्द स्कूल के सामने चूपना रोड पर योजनाबद्ध तरीके से नाकाबंदी कर दबीश देते हुए राजस्थान तरफ जा रही तेज गति से एक स्वीट कार को रोका। और कार में सवार चार व्यक्तियों को गिरत में लिया गया तथा उनके कब्जे से अवैध रूप से तस्करी के लिए परिवहन किया जा रहा अत्यंत घातक मादक पदार्थ एमडीएमए ड्रग को बरामद किया गया। और एनडीपीएस एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज किया गया। उन्होंने बताया कि दीपक उर्फ दीपू उर्फ हेमन्त पिता विनोद जैन उम्र 32 वर्ष निवासी आकोदड़ा, आसिफ खान पिता गुलशेेर खान उम्र 32 वर्र्ष निवासी लसुडिय़ा ईला, अफजल अली फारूखी पिता जुल्फिकार अलि उम्र 29 वर्ष निवासी सम्राट मार्केट मंदसौर और घनश्याम पाटीदार पिता लक्ष्मीनारायण पाटीदार उम्र 37 वर्र्ष निवासी जवासिया को गिरतार किया है।
या़ऊ-याऊ के नाम से वियात ड्रग
पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ चौधरी ने बताया कि एमडीएम ड्रग लाईन, आईस, याउ.याउए एक्सटेसी व पार्टी ड्रग नाम से वियात अत्यंत ही नशीला व घातक मादक पदार्थ हैं जो प्राय: अत्याधिक नशेे व उत्तेजना वृद्धि के प्रयोजन से युवक युवतियों के द्वारा सेवन किया जाता हैं। आम तौर पर उक्त ड्रग बड़े पैमाने पर पब, डिस्को क्लब, बीयर बार, रेव पार्टीयों में तथा बड़ेे शहरों व महानगरो में अत्याधिक प्रचलन में हैं। उक्त ड्रग की अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में कीमत लगभग एक करोड़ रूपए प्रति 1000 ग्राम हैं। मन्दसौर जिले उक्त ड्रग का पहला मामला है। आरोपियों से 648 ग्राम एमडीएमए ड्रग अवैध रूप से तस्करी के लिए राजस्थान तरफ परिवहन करते हुए जप्त की गई। उन्होंने बताया कि किस से लेकर आ रहे थे किसको देने जा रहे थे। इसको लेकर पूछताछ की जा रही है।

Vikas Tiwari Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned