बीजेपी के विधायक बोले मानसून पर्यटन पर आए थे मंत्रीजी

बीजेपी के विधायक बोले मानसून पर्यटन पर आए थे मंत्रीजी

Nilesh Trivedi | Updated: 14 Aug 2019, 02:05:21 PM (IST) Mandsaur, Mandsaur, Madhya Pradesh, India

बीजेपी के विधायक बोले मानसून पर्यटन पर आए थे मंत्रीजी

मंदसौर.
हवाईयात्रा पर आए और हेलीपेड पर उतरकर हवाईसफर कर अफसरों से मिलकर उन्हीं से जानकार लेकर चले गए। प्रभावितों के पास पहुंचककर या उनसे मिलने की भी जरुरत नहीं समझी। एक खेत में या एक किसान या जिसका मकान टुटा उससे बात तक नहीं की। किसी एक को सांत्वना तक नहीं दी। सिर्फ अफसरों से मिलें और हवाई यात्रा कर चले गए। मंत्रीजी की यात्रा पूरी तरह मानसून में पर्यटन की यात्रा थी। प्रशासन ने भी उन्हें गुमराह कर जानकारी दी। यहां हवाईसर्वे जैसे हालात नहीं है। मैं बैठक में निमंत्रित नहीं था। तो भी मैं कलेक्टोरेट पहुंच गया। वहां मंत्रीजी से यहीं कहा बैठक में अपेक्षित नहीं। बैठक के बाद चर्चा करुंगा। इसके बाद मैंने आग्रह किया तो एक किसान के घर जाकर नुकसानी देखी। -यशपालसिंह सिसौदिया, विधायक
बाजखेड़ी में पहुंचे कलेक्टर को सर्वे के दिए निर्देश
फोटो एमएन ११०७ बाजखेड़ी में तालाब फूटने से घरों में घुसे पानी से ग्रामीणों का हुआ नुकसान देखते हुए।
राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत बाजखेड़ी पहुंचे। जहां तालाब फूटने से प्रभावित लोगों के घरों में हुए नुकसान को देखा। वर्षा के कारण जिन घरों में पानी घुस गया था। उन घरों का मौका मुआयना किया गया। जिन लोगोंं के घर में रखी फसलें, पानी से खराब हो चुकी हैं। उसके लिए कलेक्टर को सर्वे करने के निर्देश दिए। सर्वे के बाद सहायता राशि देने के निर्देश दिए। इसके बाद राजपूत ने भगवान पशुपतिनाथ के दर्शन किए एवं पूजा-अर्चना की। यहां कलेक्टर ने राजस्व मंत्री को भगवान पशुपतिनाथ की मूर्ति भेंट की गई।
मुख्यमंत्री आना चाहते थे, बैठक के कारण नहीं आ पाए
पत्रकारवार्ता के दौरान मंत्री राजपूत ने कहा कि मुख्यमंत्री यहां आना चाहते थे। लेकिन दिल्ली में जरुरी बैठक के कारण वह नहीं आए और राजस्व मंत्री के नाते मुझे यहां भेजा है। यहां ४ लोगों की मौत हुई। वहीं ३६ पशु हानी हुई। ३१५ मकान जिले में बारिश के कारण क्षतिग्रस्त हुए है। ४०० लोगों के लिए राहत शिविर लगाए गए। ६० लाख १५ हजार राशि मुआवजे की सहायता राशि दी। बारिश यहां अधिक हुई लेकिन स्थिति नियंत्रण में है। सामान्य से ज्यादा पानी यहां हो गया है। फसलें यहां सुरक्षित है। तैलिया तालाब से लेकर ग्रीन बेल्ट में अनुमति देने और कॉलोनियों बनने से लेकर यहां राजस्व अमले की विसंगतियों के साथ अन्य मुद्दों पर उन्होंने कहा कि १५ साल प्रदेश में बीजेपी की सरकार थी। हमारी सरकार आए ६ माह हुए है। गड़बडिय़ा है तो शिकायत पर कार्रवाई करेंगे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned