मुख्यमंत्री का पुतला जलाने से पहले ही पुलिस ने छिना पुतला, जयप्रकाश का फूूंका पुतला

मुख्यमंत्री का पुतला जलाने से पहले ही पुलिस ने छिना पुतला, जयप्रकाश का फूूंका पुतला

harinath dwivedi | Publish: Feb, 15 2018 10:09:42 PM (IST) Mandsaur, Madhya Pradesh, India

पद्मावत फिल्म को जिले में दिखाने को लेकर किया विरोध

मंदसौर । फिल्म पद्मावत को जिले में प्रसारित करने के विरोध में राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने गुरुवार को विरोध प्रदर्शन किया। कार्यकर्ताओ ने शहर के नईआबादी से पैदल रैली निकाली। इसमें कार्यकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी की। रैली प्रमुख मार्गो से होती हुईशहर के गांधी चौराहे पर पहुंची। यहां फायर फाइटर व पुलिस बल तैनात था। कार्यकर्ताओं ने यहां नारेबाजी करते हुए जयप्रकाश चौकसे का पुतला जलाया। करीब १५ मिनट बाद कुछ कार्यकर्ता एक वाहन में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान का पुतला लेकर गांधी चौराहे पर पहुंचे। यहां वाहन खड़ा कर कार्यकर्ताओं ने पुतला बाहर निकालने का प्रयास किया, मौके पर उपस्थित सीएसपी राकेश मोहन शुक्ल ने दौड़ लगा दी। उन्होंने कार्यकर्ताओं से मुख्यमंत्री के पुतले को छिन लिया और पुलिस जवानों को पुतला दिया। इसके बाद पुलिस जवानों ने अपने वाहन में पुतले को रख दिया। इससे कार्यकर्ता निराश हो गए और उन्होंने मुख्यमंत्री के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। उल्लेखनीय है कि शासन द्वारा फिल्म पद्मावत पर लगे प्रतिबंध को हटाने व लगभग सभी जगह फिल्म का प्रसारण होने के बाद मंदसौर में भी प्रसारण करने को लेकर गतदिवस सिनेेमाघर संचालको ने सीएसपी शुक्ल से चर्चा की थी। सीएसपी ने सिनेमा संचालको से कहा कि पद्मावत फिल्म दिखाने को लेकर प्रशासन की अनुमति है। जब चाहे फिल्म का प्रदर्शन कर सकते है। सिनेमा घरो को पूर्णपुलिस सुरक्षा उपलब्ध कराईजाएगी। हालांकि फिल्म दिखाने को लेकर अभी तारीख तय नहीं की गई है। प्रदर्शन के दौरान रविंद्रसिंह राणा, नेपालसिंह सिसौदिया, शैलेंद्रसिंह राठौर, वीरेंद्रसिंह भाटी, विपिनसिंह सिसौदिया सहित कईकार्यकर्ता उपस्थित थे।

नियुद्ध खेल का 37वां स्थापना दिवस मनाया
आदि नियुद्ध गुरू भगवान शिव की पूजा की गई
मंदसौर.नियुद्ध खेल का 37वां स्थापना दिवस शासकीय प्राथमिक विद्यालय जनता कॉलोनी में मनाया गया। इस दौरान आदि नियुद्ध गुरू भगवान शिव की पूजा- अर्चना कर आशीर्वाद प्राप्त किया। राजस्थान नियुद्ध एसोसिऐशन के पदाधिकारी एवं अध्यक्ष मांगीलाल मीणा ने नियुद्ध खेल को अपने जीवन में आत्मसात करके अपने चरित्र को ऊंचाईयों पर पहुंचाने हेतु सभी नियुद्ध खिलाडिय़ों को प्रेरणा दी। निरूद्धाचार्य द्वारा उपस्थित सभी स्तर के खिलाडिय़ों से आव्हान किया कि वे कड़ी मेहनत कर नियुद्ध खेल को सम्पूर्ण विश्व में स्थापित और प्रचारित करने के लिये कटिबद्ध हो। इस अवसर पर नियुद्ध गुरूकुल मंदसौर के अध्यक्ष राजेन्द्र अग्रवाल ने कहा कि वर्तमान परिपेक्ष्य में चलने वाले मार्शल आर्ट खेल के समक्ष भारत की सबसे प्राचीन मार्शल आर्ट नियुद्ध को खेल के रूप में स्थापित करने का प्रयास किया जा रहा है, वह सराहनीय है। इस अवसर पर वरिष्ठ और नवोदित खिलाडिय़ों एवं अपना घर मंदसौर की बालिकाओं द्वारा नियुद्ध खेल का प्रदर्शन भी किया। आदि नियुद्ध गुरू के पूजन अर्चन के पश्चात् कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम में नरेन्द्र श्रीवास्तव, अशोक पालीवाल, नागेश्वर सूर्यवंशी, युवराजसिह राठौर, विजय पारखी, राजीव शर्मा, सुभाष भार्गव, दिनेश परमार, प्रवीण भण्डारी, अजयसिंह चौहान, आदित्य सूरा उपस्थित रहे।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned