scriptShramdanis sweated out silt with laughter | हंसी-ठहाको के साथ श्रमदानियों ने पसीना बहाकर निकाली गाद | Patrika News

हंसी-ठहाको के साथ श्रमदानियों ने पसीना बहाकर निकाली गाद

हंसी-ठहाको के साथ श्रमदानियों ने पसीना बहाकर निकाली गाद

मंदसौर

Published: June 11, 2022 10:30:05 am


मंदसौर.
शिवना शुद्धिकरण व गहरीकरण का महाअभियान अपार सफलता के साथ आगे बढ़ रहा है। क्लीन गंगा प्रोजेक्ट में केंद्र से मंजूरी मिली लेकिन शहरवासियों व सामाजिक संगठनों ने शिवना को अपने स्तर पर शुद्ध करने और गाद निकालने के लिए शुरु किए गए अभियान में हिस्सा लिया। अब तक १ हजार ट्रॉली से अधिक मिट्टी व गाद निकाली जा चुकी है तो मशीनें लगातार चल रही है। अब तक हजारों श्रमदानियों ने यहां पहुंचकर पसीना बहाया। इसका असर अब दिखने लगा और शिवना शुुद्ध होने लगी। लेकिन शुक्रवार को एकादशी पर जयकारों के बीच सुबह श्रमदान शुरु हुआ तो अलग नजारा था। यहां पर लाफ्टर क्लब से लेकर समग्र मालवा के साहित्यकार व कंबल केंद्र के अधिकारी-कर्मचारी स्टॉफ के साथ सामाजिक संगठनों व अन्य श्रमदानियों ने हिस्सा लिया तो हंसी-ठहाको के साथ तगारी उठाने का क्रम जारी रहा। दो घंटे से अधिक समय तक किए गए श्रम के बाद शिवना को स्वच्छ व शुद्ध रखने का संकल्प भी लिया गया।
हंसी-ठहाको के साथ श्रमदानियों ने पसीना बहाकर निकाली गाद
हंसी-ठहाको के साथ श्रमदानियों ने पसीना बहाकर निकाली गाद

जुगाड़ की मशीनों के साथ उठे हजारों हाथ तो स्वच्छ दिखने लगी शिवना
शिवना के महाअभियान में ट्रैक्टरों से लेकर डंपर व जेसीबी से लेकर पोकलेन मशीनों के साथ ही पानी से गाद निकालने के लिए जुगाड़ की क्रेशर मशीन भी शिवना में लगाई गई। इसके साथ ही पानी में ट्रैक्टर-ट्रॉलियों भी इनके सहारे लगाई। इससे गाद व मिट्टी निकालने के साथ पानी से गंदगी को हटाया गया। संसाधनों के साथ हजारों श्रमदानियों के हाथ उठे और अभियान को गति मिली और १२ जून तक चलने वाले इस महाअभियान का दौर अंतिम चरण में पहुंचा तो शिवना का आंचल साफ दिखने लगा। श्रमदानियों के उत्साह व श्रम से मां शिवना फिर से स्वच्छ दिखने लगी और मंदिर के समीप क्षेत्र में साफ पानी लबालब भरा दिख रहा है। अब बचे हुए दो दिनों में भी श्रमदानियां गाद व मिट्टी बाहर निकालने का काम करेंगे।

सभी का संकल्प बदलें शिवना का स्वरुप
सराफा व्यापारी नरेंद्र मेहता ने कहा कि हम सभी का संकल्प है कि शिवना का स्वरुप बदलना चाहिए। पिछले दिनों जो श्रम शहरवासियों ने यहां किया है उसका नतीजा भी मंदिर क्षेत्र में दिखने लगा है। सभी की सहभागिता इसी तरह रही तो जल्दी नदी फिर से प्रवाहमान होगी।

शिवना को पुराने स्वरुप में लौटाने के लिए करना होगा श्रम
लफ्टर क्लब के अध्यक्ष पीआर ज्ञानी ने कहा कि आज के इस श्रमदान करने के लिए कंबल केंद्र का समस्त स्टॉफ एवं अधिकारी इस कार्यक्रम में अपनी भागीदारी भगवान पशुपतिनाथ के चरणों में तगारी उठाकर जयघोष के साथ सम्मिलित हुए। सभी के चेहरे पर बहुत खुशी थी उनके श्रम के कारण मां शिवना अपने पुराने रूप में शीघ्र आएगी यही संकल्प लिए हर व्यक्ति श्रमदान कर रहा है।

हम सभी की पहचान शिवना से है
कृष्णपालसिंह शक्तावत ने कहा कि भगवान पशुपतिना और मां शिवना शहर सहित जिलेवासियों की पहचान है और हमें हमारी पहचान के लिए जितना भी श्रम करना हो वह करना पड़ेगा। इस बार शिवना शुद्धिकरण से लेकर गहरीकरण के अभियान में जो उत्साह दिखा है उससे यह तय है कि आने वाले दिनों में शिवना फिर से प्रवाहमान होगी।
सहभागिता से बदल रहा नदी का स्वरुप

निर्मला श्रीवास्तव ने कहा कि प्रशासन और सामाजिक संगठनों की सहभागिता से शिवना शुद्धिकरण को नित नए आयाम मिल रहे हैं। मातृशक्ति और जन-जन बड़ी संख्या में श्रमदान करने शिवना तट पर पहुंचकर किया जा रहा श्रमदान से नदी का स्वरुप बदल रहा है। श्रम से नदी का रुप निख रहा है। पहले से साफ और स्वच्छ होती जा रही है। शिवना प्रवाहमान होकर बहती रहे, हम सभी इसके लिए दृढ़ संकल्पित है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Presidential Election 2022: लालू प्रसाद यादव भी लड़ेंगे राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव! जानिए क्या है पूरा मामलाMumbai News Live Updates: शिवसेना के बागी विधायक एकनाथ शिंदे गोवा से मुंबई एयरपोर्ट पहुंचेMaharashtra Political Crisis: उद्धव के इस्तीफे पर नरोत्तम मिश्रा ने दिया बड़ा बयान, कहा- महाराष्ट्र में हनुमान चालीसा का दिखा प्रभावप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने MSME के लिए लांच की नई स्कीम, कहा- 18 हजार छोटे करोबारियों को ट्रांसफर किए 500 करोड़ रुपएDelhi MLA Salary Hike: दिल्ली के 70 विधायकों को जल्द मिलेगी 90 हजार रुपए सैलरी, जानिए अभी कितना और कैसे मिलता है वेतनKangana Ranaut ने Uddhav Thackeray पर कसा तंज, कहा- 'हनुमान चालीसा बैन किया था, इन्हें तो शिव भी नहीं बचा पाएंगे'उदयपुर हत्याकांड: आरोपियों के कराची कनेक्शन पर पाकिस्तान की बेशर्मी, जानिए क्या बोलाUdaipur Murder: उदयपुर में हिंदू संगठनों का जोरदार प्रदर्शन, हत्यारों को फांसी दो के लगे नारे
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.