scriptSocial workers said strict action should be taken, four to five cases | समाजसेवियों ने कहा होना चाहिए सख्त कार्रवाई, जिले में बनाए चार से पांच केस | Patrika News

समाजसेवियों ने कहा होना चाहिए सख्त कार्रवाई, जिले में बनाए चार से पांच केस

प्रशासन ने किया मांझा पर वार फिर भी नहीं थमा 'जानलेवा मांझे का कारोबारÓ

मंदसौर

Published: January 16, 2022 08:23:04 pm

मंदसौर. जिले में जानलेवा चाइना मांझा का विक्रय धड़़ल्ले से हुआ और अभी भी बदस्तुर जारी है। यह हाल तब है जब इस मांझे पर प्रतिबंध लगा हुआ है। हांलाकि प्रशासन के द्वारा चार से पांच कार्रवाईयां की गई है। इन कार्रवाईयों के बाद भी प्रशासनिक अधिकारी इस मांझे का विक्रय नहीं रोक पाए। लेकिन वे यह बात जरूर कह रहे है कि कुछ हद तक इसके विक्रय पर नियंत्रण हुआ है। कार्रवाई से पहले कुछ लोग इस मांझे से जिले में घायल भी हुए है। अधिकारियों का कहना है कि पूरे जिले में कार्रवाई की गई है। और जहां भी यह मांझा बिक रहा है। इसकी जानकारी लगी तो कार्रवाई की जाएगी।
समाजसेवियों ने कहा होना चाहिए सख्त कार्रवाई, जिले में बनाए चार से पांच केस
समाजसेवियों ने कहा होना चाहिए सख्त कार्रवाई, जिले में बनाए चार से पांच केस

जानकारी के अनुसार जानलेवा मांझा पर प्रशासन के द्वारा प्रतिबंध लगाया गया। इस मांझे का विक्रय करने के खिलाफ धारा १४४ के उल्लघंन करने पर १८८ के तहत कार्रवाई होती है। इस आदेश के निकलने के बाद प्रशासनिक अधिकारियों के द्वारा भानपुरा, गरोठ और मंदसौर में कार्रवाईयां की गई और इस जानलेवा मांझे का जप्त भी किया गया।
संक्रात पर हुई जमकर बिक्री
मकर संक्राति पर्व के पहले प्रशासन के द्वारा चार से पांच कार्रवाई की गई। लेकिन इन कार्रवाईयों का बहुत कम असर विक्रय करने वालों पर हुआ। और जमकर इस जानलेवा मंाझे का विक्रय किया गया। इस जानलेवा मांझे से कई पक्षी भी घायल हुए। तो कुछ लोग संक्रात से पहले घायल भी हुए है। गत साल से इस मांझे से कई लोग घायल हुए थे। जो जिला अस्पताल में उपचार के लिए पहुंचे थे।

समाजेसवियों ने कहा जहां बने वहां हो कार्रवाई
समाजसेवी विनय दुबेला ने कहा कि यह मांझा जिस जगह बन रहा है। वहां पर कार्रवाई होना चाहिए। ताकि यह बाजार में ही नहीं आए। अधिकारियों की लापरवाही का खामियाजा आम आदमी भुगत रहा है। इस मांझे को लेकर सख्त कार्रवाई सबसे पहले बनाने वाले के खिलाफ करना चाहिए।
समाजसेवी विनोद मेहता ने कहा कि प्रशासन ने इस और ध्यान नहीं दिया। इस और सख्ती से ध्यान देना चाहिए। और लोगों को जागरुक भी करना चाहिए। ताकि इसका उपयोग ना हो।
सुशील संचेती ने फेसबुक पर पोस्ट किया कि जिस तरह फटाखे के लिए लाइसेंस दिए जाते है। उसी तरह इसके लिए लाइसेंस देना चाहिए।
इनका कहना..
जिले में चार से पांच कार्रवाईयां की गई है। इसमें भानपुरा, गरोठ में एक-एक तो जिला मुख्यालय पर दो अधिक कार्रवाईयां की गई।
गौतम ङ्क्षसह, कलेक्टर।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्सयहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतिशुक्र का मेष राशि में गोचर 5 राशि वालों के लिए अपार 'धन लाभ' के बना रहा योगराजस्थान के 16 जिलों में बारिश-आंधी व ओलावृ​ष्टि का अलर्ट, 25 से नौतपाजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथइन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठा7 फुट लंबे भारतीय WWE स्टार Saurav Gurjar की ललकार, कहा- रिंग में मेरी दहाड़ काफीशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफ

बड़ी खबरें

अनिल बैजल के इस्तीफे के बाद Vinai Kumar Saxena बने दिल्ली के नए उपराज्यपालISI के निशाने पर पंजाब की ट्रेनें? खुफिया एजेंसियों ने दी चेतावनीममता बनर्जी ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना, कहा - 'भाजपा का तुगलगी शासन, हिटलर और स्टालिन से भी बदतर'Haj 2022: दो साल बाद हज पर जाएंगे मोमिन, पहला भारतीय जत्था 4 जून को होगा रवानालगातार बारिश के बीच ऑरेंज अलर्ट जारी, केदारनाथ यात्रा पर लगी रोक, प्रशासन ने कहा - 'जो जहां है वहीं रहे'‘सिंधिया जिस दिन कांग्रेस छोडक़र गए थे, उसी दिन से उनका बुढ़ापा शुरू हो गया था’Asia Cup Hockey 2022: अब्दुल राणा के आखिरी मिनट में गोल की वजह से भारत ने पाकिस्तान के साथ ड्रा पर खत्म किया मुकाबलाज्ञानवापी केसः बहस पूरी, 1991 का वर्शिप एक्ट लागू होगा या नहीं, कल होगा फैसला, जानें सुनवाई से जुड़ी हर बात
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.