किसी ने तनाव तो किसी ने परेशान होकर दे दी जान

किसी ने तनाव तो किसी ने परेशान होकर दे दी जान
soldier sucide

vikram ahirwar | Updated: 22 Apr 2017, 11:37:00 AM (IST) Mandsaur, Madhya Pradesh, India

- जिले में 110 दिनों में 38 लोगों ने की आत्महत्या


मंदसौर/रतलाम.
सुवासरा में एक युवक ने तीन दिन पहले जिंदगी में तनाव होने के कारण फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। तो कुछ दिनों पहले सीतामऊ में एक डॉक्टर ने अकेलेपन से परेशान हो अपना जीवन खत्म कर लिया था। पिछले 110 दिनों में करीब 38 आत्महत्या के मामले में सामने आए है। जिनमें किसी ने आत्मग्लानि तो किसी ने परेशान होकर तो किसी ने अन्य कारणों से अपना जीवन समाप्त कर लिया है। 
सबसे अधिक कोतवाली और पिपलियामंडी  में हुई आत्महत्या 
पुलिस अधीक्षक कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार जिले में जनवरी एक से लेकर 20 अप्रैल तक 38 आत्महत्या के मामले सामने आए है। इनमें सबसे अधिक आत्महत्या पिपलियामंडी थानाक्षेत्र में छह हुई है तो कोतवाली थानाक्षेत्र में पांच और नाहरगढ़ थानाक्षेत्र में चार आत्महत्या के मामले सामने आए है। शेष सभी थानों में एक से लेकर तीन आत्महत्या के घटनाएं घटित हुई है। 
औसतन तीसरे दिन एक आत्महत्या 
जानकारी के अनुसार 110 दिनों में 38 आत्महत्या हुई है। इन का औसतन देखा जाए तो प्रत्येक तीसरे दिन एक आत्महत्या का प्रकरण सामने आया है। पुलिस के मुताबिक इनमें से करीब7 से अधिक आत्महत्या के प्रकरण में मृतक को परेशान करने वालों के खिलाफ पुलिस ने धारा 304 के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर गिरफ्तार भी किया है। तो कुछ में आरोपी अभी भी फरार है। 
फैक्ट फाइल 
जिले में थाने-15
जिले में एक जनवरी से लेकर 20 अप्रैल तक- 38 आत्महत्या 
सबसे अधिक- पिपलियामंडी और कोतवाली 
औसतन-प्रत्येक तीन दिन में एक 
ज्यादातर मृतकों की उम्र-20 से 40वर्ष  
(समस्त जानकारी पुलिस अधीक्षक कार्यालय से प्राप्त)
एक्सपर्ट व्यू...
आत्महत्या का मुख्य कारण यह है कि छोटा सा तनाव भी सहन नहीं कर पा रहे है। व्यक्ति अंतरमुखी हो गया है। टीवी, वाट्सअप, मोबाइल दिनभर इनमें लगे रहते है। खेल से तो बिलकुल ही मोह भंग हो गया है। जब कि खेलने से तनाव मुक्त होता है और सहनशीलता बढ़ती है। आज के दौर में अंतरमुखी होने के कारण कोई किसी से बात शेयर नहीं क रते है। दोस्तों और परिवार वालों से बात शेयर करना चाहिए। ताकि जो समस्या है वो दूर हो सके। 
- अजय प्रताप सिंह, एएसपी मंदसौर। 
----
आज की जीवनशैली परिवर्तित करना होगी। और दिल और दिमाग को मजबूत करना होगा। प्रत्येक व्यक्ति को योगा करना चाहिए। जिससे शारिरीक और मानसिक रूप से मजबूती मिलती है। और प्रेशर सहन करने की क्षमता बढ़ती है। 
- डॉ अधीर मिश्रा, सिविल सर्जन जिला अस्पताल। 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned