हत्या के फरार आरोपी के अवैध निर्माण पर चला सख्ती बुलडोजर

हत्या के फरार आरोपी के अवैध निर्माण पर चला सख्ती बुलडोजर

Nilesh Trivedi | Updated: 17 Jul 2019, 12:11:30 PM (IST) Mandsaur, Mandsaur, Madhya Pradesh, India


हत्या के फरार आरोपी के अवैध निर्माण पर चला सख्ती बुलडोजर


मंदसौर.
10 अप्रैल को सराफा व्यापारी अनिल सोनी की हत्या के मामले में फरार चल रहे मुख्य आरोपी चुन्नु लाला के शहर में स्थित इमारतों से अवैध निर्माण वाले हिस्से को पुलिस व नपा ने मंगलवार को धराशाई कर दिया। पुलिस ने नपा से दो बार इसकी नपती करवाई थी। इसमें अवैध निर्माण पाया गया था। इस पर नपा ने पहले नोटिस दिया। अब इसे तोडऩे की कार्रवाई की गई। सुबह दो घंटे से अधिक समय तक चली कार्रवाई में पुलिस-नपा ने मिलकर इसक कार्रवाई को अंजाम दिया। चुन्नु लाला पर दबाव बनाने के लिए पुलिस ने यह तरीका अपनाया है।
पत्नी-मां विरोध करने पहुंची
सुबह के समय जब अवैध निर्माण को तोडऩे की कार्रवाई की गई। उसम समय चुन्नु लाला की पत्नी- मां और अन्य करीबी लोग भी वहां पहुंचे और इस कार्रवाई का विरोध किया। उनका कहना था कि यह अवैध कार्रवाई की जा रही है। नपा द्वारा की गई नपती के बाद चुन्नु लाला के वकील ने भी नपा को इसके लिए नोटिस भेजा था। हालांकि वहां तैनात पुलिस बल ने उन्हें वहां से हटाया और निर्माण को तोडऩे की कार्रवाई जारी रखी।
दोनों जगह जमा हो गई हजारों लोगों की भीड़
स्टेशन रोड क्षेत्र में चलने वाले शराब की दुकान वाले बिल्डिंग और कंबल केंद्र रोड नईआबादी क्षेत्र में स्थित बहुमङ्क्षजला इमारत की पहले नपती हुई थी। इसके बाद से ही इसमें निर्माण को तोडऩे की बात सामने आ रही थी। शहर के हाईप्रोफाईल मर्डर से जुड़ा मामला होने के कारण जब पुलिस ने दोनों दुकानें सुबह के समय खाली कराना शुरु की और बाद में जेसीबी से पुलिस की मौजूदगी में नपा ने तोड़्ने की कार्रवाई की तो दोनों ही जगहों पर हजारों लोगों की भीड़ जमा हो गई। पुलिस को इस कार्रवाई के अलावा भीड़ को भी नियंत्रित करने के लिए मशक्कत करना पड़ी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned