scriptThe lights are on on a message in the middle of the night, even the de | आधी रात में एक मैसेज पर हो रही बत्ती गुल, विभाग को भी नहीं पता कब होगा सुधार | Patrika News

आधी रात में एक मैसेज पर हो रही बत्ती गुल, विभाग को भी नहीं पता कब होगा सुधार

आधी रात में एक मैसेज पर हो रही बत्ती गुल, विभाग को भी नहीं पता कब होगा सुधार

मंदसौर

Updated: May 12, 2022 10:27:37 am


मंदसौर.
एक और जिला भीषण गर्मी से जुझ रहा है। हर कोई पसीना सुखाने के लिए पंखे-कुलर का रुख कर रहा है तो रात को सुकून भरी नींद भी तलाश रहा है। लेकिन गर्मी के इस दौर में हो रही अघोषित कटौती ने जिलेवासियों की नींद भी छिन ली है। लोड सेंटिग के नाम पर कटौती हो रही है। सुधार कब होगा इस पर विभाग के पास जवाब नहीं। बस यह कहना है कि लोड सेङ्क्षटग के साथ एक मैसेज आता है और कटौती हो जाती है। बिजली कंपनी को एक मैसेज मिलने की देर है और दिन हो या रात तबाक से बत्ती गुल हो रही है। दिनभर तो कामकाज में बीत जाता है लेकिन रात को सवा नो बजे से सवा दस बजे और रात में एक बजे से दो बजे के बीच हो रही कटौती लोगों की नींद छिन रही है और ग्रामीण अंचल में अधिक कटौती हो रही है।
२४ घंटे में मिलीं बिजली की १२५० शिकायतें
२४ घंटे में मिलीं बिजली की १२५० शिकायतें

इन्वेंर्टर, लालटेन व मोबाइल टॉर्च का फिर बढऩे लगा दौर
पिछले एक माह से जिले में अघोषित कटौती का दौर जारी था। जब सिंचाई हो रही थी तो सिंचाई फिडर पर कटौती कर रहे थे लेकिन सिंचाई का काम बंद हुआ और गर्मी में लोड बढ़ा तो अब ग्रामीण फिडर पर अघोषित कटौती कर रहे है। अघोषित कटौती के साथ ही प्री मानसून मेंटेंनेस की कटौती भी हो रही है। इस तरह कटौती ने लोगों को गर्मी में तपने के लिए मजबूर कर दिया है तो फिर से लालटेन, मोबाइन की रोशनी से लेकर इन्वेंर्टर का उपयेाग भी बढऩे लगा है और लंबे समय बाद कटौती की समस्या गहराती जा रही है। कटौती पर विपक्ष ने विरोध भी शुरु कर दिया है। महंगाई के साथ कटौती ने आमलोगों में मुद्दा बनती जा रही है। कटौती के कारण ग्रामीण अंचल में आम लोगों की परेशानियां लगातार बढऩे से विरोध भी बढ़ रहा है।

निर्देश पर हो रही कटौती
पहले सिंचाई के चलते लोड बढ़ रहा था लेकिन अब गर्मी के कारण उतना ही लोड बढ़ रहा है। इधर लोड बढऩे के साथ लोड सेंटिग के चलते कटौती की जा रही थी। पहले सिंचाई फिडर पर हो रही थी। अब ग्रामीण फिडर पर हो रही है। एक मैसेज के निर्देश पर कटौती हो रही है। सुधार कब होगा इसके बारें में कहा नहीं जा सकता। -सुधीर आचार्य, अधीक्षण यंत्री, बिजली कंपनी
..
इधर रात में कटौती होते ही लालटेन, मोमबत्तियों के साथ रैली निकालकर किया प्रदर्शन -कांग्रेस ने प्रदर्शन करते हुए कटौती को लेकर सरकार के खिलाफ की नारेबाजी
अघोषित विद्युत कटौती से ग्रामीण क्षेत्रों में हाहाकार मचा हुआ है रात्रि में दो बार बिजली कटौती से लोग काफी परेशान है व भीषणतम गर्मी में बिजली गुल होने से रतजगा कर रहे हैं। गर्मी के साथ मच्छरों की भी भरमार है। यह बात बीती रात को कटौती होते ही लालटेन व मोमबत्ती व मोबाइल टॉर्च के साथ रैली निकालकर प्रदर्शन करने के बाद ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष अनिल शर्मा ने कही। बीती रात को गांव काचरिया में बिजली कटौती के दौरान उन्होंने रैली निकालकर प्रदर्शन किया। इस दौरान कटौती को लेकर सरकार के खिलाफ ग्रामीणों में भी नारेबाजी करते हुए आक्रोश व्यक्त किया। शर्मा ने कहा कि जिले के गांवों में कटौती हो रही है। जबकि अधिकांश लोग गांवों में रहते है। ऐसे में वर्तमान में जिले की ८० प्रतिशत जनता कटौती से परेशान है। उन्होंने कहा कि महंगाई के साथ भरपूर बिजली भी अब सरकार नहीं दे पा रही है।
कांग्रेस नेताओं ने कहा कि सरकार हर मोर्च पर फैल हो रही है। लगातार जलसंकट के साथ अब बिजली संकट और महंगाई का दंश भी बढ़ रहा है। क्षेत्र में पीने के पानी की स्थिति धीरे धीरे गंभीर होती जा रही है। शर्मा ने यह भी कहा कि बिजली नहीं है पर भाजपा सरकार आम लोगों को भारी भरकम राशि के बिल जरुर थमा रही है। और वसूली के नाम पर फिर कनेक्शन काटे जा रहे है।
बिजली बंद होते ही लालटेन, मोमबत्तियां जलाकर नारेबाजी के साथ गांव में निकाली रैली
रात में जैसे ही 9.40 पर बिजली बंद हुई कि ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष अनिल शर्मा के नेतृत्व में ग्रामीणजनों व कांग्रेसजनों ने शिवराज सरकार होश में आओ, रात्रि कालीन बिजली कटौती बंद करो, जबसे शिवराज सरकार आई है, बिजली कटौती लाई है के नारें लगाते हुए कटौती के विरोध में प्रदर्शन किया। इस मौके पर ब्लॉक कांग्रेस महामंत्री दिनेश गुप्ता काचरिया, रामप्रसाद फरक्या, जिला कांग्रेस सचिव कन्हैयालाल पाटीदार,अनिल मुलासिया, विष्णु फरक्या, किशोर उणियारा, भंवर राठौर, महेश चौधरी, ईश्वरलाल पंवार, नाथूलालाल पाटीदार, फूलचंद चौधरी, विकास धनगर सहित बड़ी संख्या में ग्रामवासी मौजूद थे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

किसी भी महीने की इन तीन तारीखों में जन्मे बच्चे होते हैं बेहद शार्प माइंड, लाइफ में करते हैं बड़ा कामपैदाइशी भाग्यशाली माने जाते हैं इन 3 राशियों के बच्चे, पिता की बदल देते हैं तकदीरइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथ7 दिनों तक मीन राशि में साथ रहेंगे मंगल-शुक्र, इन राशियों के लोगों पर जमकर बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपादो माह में शुरू होने वाला है जयपुर में एक और टर्मिनल रेलवे स्टेशन, कई ट्रेनें वहीं से होंगी शुरूपटवारी, गिरदावर और तहसीलदार कान खोलकर सुनले बदमाशी करोगे तो सस्पेंड करके यही टांग कर जाएंगेआम आदमी को राहत, अब सिर्फ कमर्शियल वाहनों को ही देना पड़ेगा टोल15 जून तक इन 3 राशि वालों के लिए बना रहेगा 'राज योग', सूर्य सी चमकेगी किस्मत!

बड़ी खबरें

Delhi LG Resign: दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने दिया इस्तीफा, बताया ये कारणIndia-China Tension: पैंगोंग झील पर बॉर्डर के पास दूसरा पुल बना रहा चीन, सैटेलाइट इमेज से खुलासाHeavy rain in bangalore: तेज बारिश से दो मजदूरों की मौत, मुख्यमंत्री ने की मुआवजे की घोषणाज्ञानवापी मस्जिद: नौ तालों में कैद वजूखाना, दो शिफ्टों में निगरानी कर रहे CRPF जवान, महंतो का नया दावापाकिस्तान व चीन बॉडर पर S-400 मिसाइल तैनात करेगा भारत, जानिए क्या है इसकी खासियतप्रयागराज में फिर से दिखा लाशों का अंबार, कोरोना काल से भयावह दृश्य, दूर-दूर तक दफ़नाए गए शवFarmers protest: विरोध कर रहे किसानों से मिलेंगे CM मान, आखिर क्यों धरने पर बैठे किसान?जब कांस के दौरान खो गई दीपिका पादुकोण की ड्रेस तो आखिरी समय में किया गया ये बदलाव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.