scriptThe moment that the residents have waited for years, it came too late | अभिनंदनवासियों ने जिस पल का वर्षों किया इंतजार वह देर से ही सही लेकिन आया जरुरी | Patrika News

अभिनंदनवासियों ने जिस पल का वर्षों किया इंतजार वह देर से ही सही लेकिन आया जरुरी

अभिनंदनवासियों ने जिस पल का वर्षों किया इंतजार वह देर से ही सही लेकिन आया जरुरी

मंदसौर

Updated: April 18, 2022 11:03:02 am

मंदसौर.
शहर के अभिनंदनवासियों ने जिस पल का वर्षोंं से इंतजार किया। आखिरकार रविवार को वह पल आया और मिड इंडिया फाटक पर लंबे इंतजार के बाद ही सही लेकिन अंडरब्रिज बनकर तैयार हुआ और लोकार्पण के साथ आवाजाही शुरु हुई। इस क्षेत्र के २५ हजार से अधिक लोगों को यह ब्रिज सीधे शहर से जोड़ेगा। दो साल से अधिक समय से चल रहे निर्माण के बाद ७ करोड़ से अधिक की लागत का ब्रिज बनकर तैयार हुआ। पत्रिका ने पिछले लंबे समय से इस ब्रिज की मंजूरी से लेकर अड़चनों के अलावा तमाम खींचतान को लेकर जनसमस्याओं को लेकर लगातार खबरों का प्रकाशन किया। अब इस क्षेत्र के लोगों को आवाजाही में सुविधा होगी।
अभिनंदनवासियों ने जिस पल का वर्षों किया इंतजार वह देर से ही सही लेकिन आया जरुरी
अभिनंदनवासियों ने जिस पल का वर्षों किया इंतजार वह देर से ही सही लेकिन आया जरुरी

रविवार को नगर पालिका प्रशासन व पश्चिम रेलवे मंडल द्वारा आयोजित कार्यक्रम में मिड इंडिया अंडरब्रिज रेलवे समपार एल/151 का लोकार्पण हुआ। यह ब्रिज रेलवे व राज्य शासन के 50-50 प्रतिशत अशंदान से बनकर तैयार हुआ है। अंडरब्रिज के निर्माण पर 7 करोड 8 लाख 55 हजार की लागत आई है। इस दौरान सांसद सुधीर गुप्ता, विधायक यशपालसिंह सिसौदिया, भाजपा जिलाध्यक्ष नानालाल अटोलिया ने फीता काटकर अभिनंदनवासियों को यह ब्रिज समर्पित किया। इसके बाद ब्रिज से आवागमन शुरु हो गया। इस दौरान जिला पंचायत प्रधान प्रियंका गोस्वामी, कलेक्टर गौतमसिंह, विजय गुर्जर, लिखिता गोड़, मुकेश काला, पश्चिम रेल्वे मण्डल के तकनीकी अधिकारी महेंद्र जाटव भी ंमंचसीन थे। अतिथियों ने श्रीफल बदारकर व शिलालेख परिक्रम का अनावरण करअंडरब्रिज जनता को समर्पित किया। रहवासियों ने अतिथियो का माला पहनाकर स्वागत किया।

संघर्षों के बाद मिली मिड इंडिया अंडरब्रिज की सौगात
सांसद गुप्ता ने कहा कि मिड इंडिया अंडरब्रिज की सौगात हमें बहुत सघर्षों के बाद मिली है। उन्होंने कहा कि भाजपा के जनप्रतिनिध कभी भी श्रेय की होड में शामिल नहीं होते है क्योकि जनता अच्छी तरह जानती है कि किसने कितना योगदान दिया है। देश में लगभग 33 हजार अंडरब्रिज व ओवरब्रीज बनाने की योजना सरकार के समय बनी थी लेकिन उन्होने मात्र 2790 ही बनाए। 70 साल में देश में मात्र 2790 अंडरब्रिज व ओवरब्रिज बने तो इसकी जिम्मेदारी किसी है। विधायक सिसौदिया ने कहा कि इस अंडरब्रिज के निर्माण में जो कठिनाई आई है उस पर चर्चा होना जरूरी है। मिड इंडिया अंडरब्रिज को रेलवे ने बंद घोषित किया। इसके बाद आंदोलन हुए।
मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान दलौदा आए तो उनसे इस अंडरबिीज के निर्माण के लिए 1 करोड की राशि हमने नपा को दिलाई। इसके बाद नपा ने संचित निधी से रेलवे को दी। इसके निर्माण में तकनीकी परेशानिया आई। पूर्व में एक बार जो प्रोजेक्ट डिजाईन बनी थी उसके कारण मालगोदाम रोड से स्टेशन चौराहा तक का रोड सकरा होने की नौबत आई। तकनीकी अधिकारियों की सुझबुझ के कारण ऐसा उपाय निकाल गया कि मालगोदाम व स्टेशन चौराहा रोड सकरा नहीं हो तथा अंडरब्रिज भी बन जाए। उन्होंने कहा कि पिछले १० सालों में मप्र शासन व रेलवे ने 118 करोड की राशि ब्रिज व पुलियाओं के लिए मंदसौर को दी है। जिलाध्यक्ष अटोलिया ने कहा कि अंडरब्रिज अभिनंदन क्षैत्र के विकास में मिल का पत्थर साबित होगा। रेलवे के तकनीकी अधिकारी महेंद्र जाटव ने अंडरब्रिज निर्माण की जानकारी दी। संचालन जेके जैन व चंद्रशेखर नागदा ने किया। आभार सीएमओ प्रेम कुमार सुमन ने माना।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी सर्वे रिपोर्ट से मंदिर-मस्जिद के सबूतों का नया अध्याय, एक्सक्लूसिव रिपोर्ट सिर्फ पत्रिका के पास, जानें क्या है इन सर्वे रिपोर्ट में...दिल्ली हाई कोर्ट से AAP सरकार को झटका, डोर स्टेप राशन डिलीवरी योजना पर लगाई रोकसुप्रीम कोर्ट का फैसला: रोड रेज केस में Navjot Singh Sidhu को एक साल जेल की सजा, जानें कांग्रेस नेता ने क्या दी प्रतिक्रियाGST पर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, जीएसटी काउंसिल की सिफारिश मानने के लिए बाध्य नहीं सरकारेंIPL 2022 RCB vs GT live Updates: पावर प्ले में गुजरात 2 विकेट के नुकसान पर 38 रनों पर6 साल की बच्ची बनी AIIMS की सबसे कम उम्र की ऑर्गन डोनर; 5 लोगों को दिया नया जीवनGyanvapi Masjid-Shringar Gauri Case: सुप्रीम कोर्ट में 20 मई और वाराणसी सिविल कोर्ट में 23 मई को होगी सुनवाईपंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सुनील जाखड़ BJP में शामिल, दिल्ली में जेपी नड्डा ने दिलाई पार्टी की सदस्यता
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.