सांसद ने सीईओ से कहा अधिकारियों को जवाब देते नहीं आते इनको तो डेमोके्र सी की ट्रेनिंग दो

साधारण सभा की बैठक में अधिकारियों के जवाब से नाराज हुए जनप्रतिनिधि

मंदसौर. जिला पंचायत सभागृह में शुक्रवार को साधारण सभा की बैठक हुई। बैठक में महिला बाल विकास विभाग की जिला कार्यक्रम अधिकारी रमा मुकाती से जिला पंचायत सीईओ प्रियंका गोस्वामी ने पूछा कि एक साल से नाहरगढ़ में आंगनवाड़ी भवन बनकर तैयार है तो उनको शिफ्ट क्यों नहीं कर रहे हो। तीन बार कह चुकी हूं। इस पर जिला कार्यक्रम अधिकारी मुकाती ने कहा वहां पूरी तरह तैयार नहीं हुआ है। इस पर गोस्वामी ने कहा कि छोटे मोटे काम होते रहेेगें। आप शिफ्ट करों। शासन के पैसे किराए के भवन में क्यों लगा रहे हो। इसके बाद पालन प्रतिवेदन में किस सदस्य का प्रश्र है क्या जवाब इसको लेकर जिला पंचायत सदस्य अंशुल बैरागी ने उनसे पूछा कि इसमें कुछ भी साफ नहंी है। इस पर मुकाती ने कहा कि मैं अभी आई हूं। इस पर बैरागी ने कहा कि पालन प्रतिवेदन सही बनना चाहिए। अन्य विभागों के भी बने हुए हैं। आंगनवाडिय़ों की स्थिति के बारे में बैरागी ने पूछा और भोजन रात को बनने के बारे में कहा तो महिला बाल विकास अधिकारी सही जानकारी नहीं दे पाई। इसके बाद सांसद सुधीर गुप्ता ने जिला पंचायत सीईओ रिशव गुप्ता को कहा कि अधिकारी जिम्मेदारी वाला जवाब नहीं देते हैं। अधिकारियों की डेमोक्रेसी की ट्रेनिंग करवाओ।


सीईओ को कहा भेजे इनके खिलाफ शासन को लिखकर : बैठक में जिला पंचायत सदस्य द्वारा कहा गया कि मैं महिला बाल विकास विभाग की सभापति हूं। और एक भी बैठक नहंी हुई है। कितनी बार बोल चुके हैं। इस पर जिला पंचायत अध्यक्ष गोस्वामी ने सीइओ गुप्ता को कहा कि इनके खिलाफ शासन को लिखित में दें। इस पर जिला पंचायत सदस्य अंशुल बैरागी ने कहा कि आंगनवाडिय़ों में खाना स्तरहीन मिल रहा है। आपको पता है। इस पर कार्यक्रम अधिकारी ने कहा कि मैंने आंगनवाडिय़ों का निरीक्षण किया है। तो बैरागी ने कहा कि बताए आप कौन-कौन से आंगनवाडी गए थे और क्या देखा। इस पर उन्होंने कहा कि मैंने फोटेा डिलीट कर दिए हैं।


पहली बार आए सांसद और तीन में विधायक : जिला पंचायत का कार्यकाल समाप्त होने वाला है। इन साढ़े चार साल से अधिक दिनों में कई बार साधारण सभा की बैठक हुई है। बैठक में पहली बार संासद सुधीर गुप्ता नजर आए। और तीन साल में पहली बार विधायक यशपाल ङ्क्षसह सिसौदिया नजर आए। जो चर्चा का विषय रहा। इसके अलावा बैठक में गरोठ विधायक देवीलाल धाकड़़, जनपद पंचायत अध्यक्ष शांतिलाल मालवीय सहित अन्य जिला पंचायत सदस्य एवं जिलाअधिकारी मौजूद थे।
यूरिया की किल्लत नहीं तो लाइन में क्यों लगे हुए हैं किसान
कृषि विभाग की समीक्षा के दौरान संबंधित अधिकारियों से सीईओ गोस्वामी ने पूछा कि यूरिया खाद को लेकर किल्लत क्योंं आ रही है। इस पर अधिकारी ने कहा कि किल्लत नहीं है। डिमांड भेज दी है। इस पर गोस्वामी ने कहा कि जब पहले ही पता था कि बारिश अधिक हो गई है। इस साल रकबा बढ़ेगा तो प्लानिंग उसके अनुसार करना चाहिए थी। और किल्लत नहीं है तो यूरिया को लेकर किसान लाइन लगाकर क्यों खड़े हैं। इसके बाद प्रधानमंत्री सड़क, लोकनिर्माण विभाग की सड़क सहित अन्य सड़कें जो बाढ़े से खराब हो गई है। उनको दुरुस्त करवाने के लिए निर्देश दिए है।

Mukesh Mahavar
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned