scriptThere is faith in karma, there is hope for change, more than 300 have | कर्म में है विश्वास, परिवर्तन की है आस, 300 से अधिक ने किया श्रमदान | Patrika News

कर्म में है विश्वास, परिवर्तन की है आस, 300 से अधिक ने किया श्रमदान

कर्म में है विश्वास, परिवर्तन की है आस, 300 से अधिक ने किया श्रमदान

मंदसौर

Published: June 13, 2022 12:14:18 pm


मंदसौर.
मां शिवना फिर से प्रवाहमान हो और कल-कल बहें। स्वच्छ शिवना सपना अपना। शिवना का आंचल फिर से स्वच्छ और सुंदर हो इन्हीं संकल्पों के साथ मंदसौर ने शिवना शुद्धिकरण व गहरीकरण महाअभियान में श्रमदान शुरु किया तो प्रशासन ने भी तमाम संसाधन शिवना पर लगा दिए। इस अभियान का असर नजर आया और श्रमदानियों को उत्साह भी चरम पर पहुंचा तो अब प्रशासन ने इसे २१ जून तक के लिए बढ़ा दिया है। मानसून भी अभी नहीं आया है। ऐसे में शिवना शुद्धिकरण का अभियान अभी १० दिन और चलेगा। शनिवार को बैंक के अधिकारियों व कर्मचारियों के साथ ही सामाजिक संगठनों सहित करीब ३०० से अधिक श्रमदानियों ने दो घंटे तक श्रमदान करते हुए गाद व मिट्टी निकालने का काम किया।
कर्म में है विश्वास, परिवर्तन की है आस इसी ध्येय को लेकर शनिवार को 300 से भी अधिक श्रद्धालु श्रमदान करने पहुंचे। 24 वे दिन का श्रमदान ऐतिहासिक रहा। अभियान को जितने दिन हो रहे है उतने ही श्रमदानियों की संख्या भी बढ़ रही है। कलेक्टर के निर्देश पर अभियान को तेजी देने के लिए पोकलेन सहित अन्य मशीनें शनिवार को शिवना के तट पर पहुंची। श्रमदान में बैंकों के स्टॉफ ने अपनी भागीदारी की। 5 बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया बैंक ऑफ बड़ौदा यूनियन बैंक एचडीएफसी बैंक के साथ ही श्रम विभाग के कर्मचारी अधिकारी सहित पूरा स्टॉफ मौजूद थे। इन्होंने यहां श्रमदान किया। सफल उद्योग के समस्त कर्मचारी एवं मैनेजर मैनेजिंग डायरेक्टर सैकड़ों की तादाद में श्रमदान करने पहुंचे। बैंकों के अधिकारियों ने तगारी उठाकर एक संदेश दिया राष्ट्र को जब जब हमारी जरूरत पड़ेगी हम अपने बैंक कार के अलावा भी प्रत्येक सेवा कार्य में प्रशासन के साथ रहेंगे। सफल उद्योग के मालिक एक संदेश दिया कर्म में है विश्वास परिवर्तन की है आस इस महा संदेश के अंदर सब कुछ छुपा है जब आप कोई भी कर्म करने के लिए शुरुआत करते हैं उस कर्म करने की शुरुआत में आपका विश्वास बहुत महत्व रखता है और वही विश्वास एक आस्था के साथ जब पूरा होता है तो उसके परिणाम भी देखने को मिलते हैं। भगवान पशुपतिनाथ के प्राकृतिक कारण एवं उत्पत्ति स्थल के बारे में सोचना पूर्ण रूप से स्वयं को धोखा देना था जितना भी जल चारों तरफ दिखाई दे रहा है श्रम देवता एवं संकल्प सील समर्पित कार्यकर्ताओं के दम पर जिन्होंने सपना सजाया था यह उन्हीं का परिणाम है। श्रम विभाग के राजकुमार गोठवाल ने कहा मैं मंदसौर में पूर्व में 30 वर्ष पहले आया था आज पशुपतिनाथ के इस विहंगम दृश्य को देखकर आने वाले समय में यह स्थल मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा स्थल बनेगा। इसका मुझे पूर्ण विश्वास है। बिना स्वार्थ के किसी प्रकार की मन में लालसा ना लेकर प्रतिदिन सेवा देना इससे बड़ी जलसेवा क्या हो सकती है। प्रतिदिन 68 वर्ष के हरिशंकर शर्मा, 84 वर्ष के घनश्याम भावसार, 75 वर्ष के राजाराम तंवर, 68 वर्ष के अजीजउल्ला खान, 62 वर्षीय शिवेंद्र प्रताप सिंह श्रमदान कर रहे है। वह संदेश दे रहे है कि अच्छे काम के लिए हौंसला होना चाहिए उम्र कोई बाधा नहीं।
१० दिन बढ़ाया शिवना शुद्धिकरण अभियान
कलेक्टर गौतमसिंह ने शिवना शुद्धिकरण व गहरीकरण अभियान को १० दिन और बढ़ाया है। १९ मई से पत्रिका खबरों के बाद प्रशासन ने शिवना शुद्धिकरण व गहरीकरण का अभियान शुरु किया। जो २ जून तक होना था। लेकिन लोगों के जुड़ाव के कारण इसे १२ जून तक बढ़ाया था। मानसून भी अभी जिले में नहीं आया है और श्रमदानियों के उत्साह से अभियान का असर भी हो रहा है। ऐसे में कलेक्टर ने इसे २१ जून तक बढ़ा दिया है। इसमें १३ जून को नापतौल विभाग से लेकर भारतीय रेडक्रॉस सोसायटी, आंनद विभाग, जिला योजना कार्यालय के अधिकारी-कर्मचारी व स्टॉफ श्रमदान करने पहुंचेगे। इसी तरह १४ जून को उत्कृष्ठ विद्यालय एवं बीमा अस्पताल, १५ जून को शासकीय कन्या महाविद्यालय व नूतन हाईस्कूल, १६ जून को पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग व जनजातीय कल्याण विभाग, १७ जून को शहरीय विकास अभिकरण व शासकीय उमावि बालागंज, १८ जून को महारानी लक्ष्मीबाई, शासकीय उमावि, १९ जून को शासकीय उमावि क्रमांक २ मंदसौर, २० जून को उपायुक्त सहकारिता, नागरिक आपूर्ति, पेंशन विभाग व जिला कोषालय विभाग, २१ जून को आयुष विभाग व एमपी एग्रो इंडस्ट्रीज के अधिकारी-कर्मचारी अपने स्टॉफ के साथ इस अभियान में पहुंचकर श्रमदान करेंगे।
..
कर्म में है विश्वास, परिवर्तन की है आस, 300 से अधिक ने किया श्रमदान
कर्म में है विश्वास, परिवर्तन की है आस, 300 से अधिक ने किया श्रमदान
हमने अपना लक्ष्य पा लिया
बैंक ऑफ बड़ौदा के गजेंद्र तिवारी ने कहा मेरा जीवन 50 साल का मंदसौर में हो गया है लेकिन मुझे नहीं मालूम था कि मैं ऐसे देवी स्थल पर रह रहा हूं जब पूरे विश्व के लोग मंदसौर का बड़े सम्मान के साथ नाम लेंगे। प्रशासन ने यहां श्रमदान का मौका देकर दिव्य स्थल से जोड़ा। समस्त बैंकों को बुलाकर हमको इस दिव्य कार्य से जोड़ा गया यह गर्व की बात है सभी के मन में प्रसन्नता देख कर ऐसा लगता है कि हमने अपना लक्ष्य पा लिया बहुत जल्दी गंदे नालों का भी निराकरण होगा।
श्रमदान जागरुकता का संदेश
शिवना तट पर श्रमदान करना जागरुकता का संदेश है। शहर व जिले की पहचान शिवना को फिर से प्रवाहमान करने के लिए जो अभियान शुरु हुआ है वह उत्साह से सफलता तक पहुंचेगा। फिर से नदी प्रवाहमान होगी।

जनचेतना आई है
शिवना शुद्धिकरण से जनचेतना आई है। प्रतिदिन शिवना तट पर प्रशासन और सामाजिक संगठन श्रमदान कर अपना अमूल्य योगदान दें रहे हैं। सकारात्मक भाव रखने से अभियान को सफलताएं मिल रही है। आने वाले समय में हम शिवना नदी को स्वच्छ और सुंदर बहता देखेंगे।-मुन्नालाल यादव

हम सभी की जवाबदारी
शिवना हमारी जीवनदायिनी और आस्था का केंद्र है। ऐसे में हम सभी की जवाबदारी है। आज शिवना के लिए जनआंदोलन छिड़ा है तो हम सभी को इसका हिस्सा बनकर इसमें भाग लेना चाहिए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: अयोग्यता नोटिस के खिलाफ शिंदे गुट पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, सोमवार को होगी सुनवाईMaharashtra Political Crisis: एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाने पर दिया बड़ा बयान, कहीं यह बातBypoll Result 2022: उपचुनाव में मिली जीत पर सामने आई PM मोदी की प्रतिक्रिया, आजमगढ़ व रामपुर की जीत को बताया ऐतिहासिकRanji Trophy Final: मध्य प्रदेश ने रचा इतिहास, 41 बार की चैम्पियन मुंबई को 6 विकेट से हरा जीता पहला खिताबKarnataka: नाले में वाहन गिरने से 9 मजदूरों की दर्दनाक मौत, सीएम ने की 5 लाख मुआवजे की घोषणाअगरतला उपचुनाव में जीत के बाद कांग्रेस नेताओं पर हमला, राहुल गांधी बोले- BJP के गुड़ों को न्याय के कठघरे में खड़ा करना चाहिए'होता है, चलता है, ऐसे ही चलेगा' की मानसिकता से निकलकर 'करना है, करना ही है और समय पर करना है' का संकल्प रखता है भारतः PM मोदीSangrur By Election Result 2022: मजह 3 महीने में ही ढह गया भगवंत मान का किला, किन वजहों से मिली हार?
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.