पांडव मार्केट को सील करने पहुंचा प्रशासन तो हुआ जमकर हंगामा

पांडव मार्केट को सील करने पहुंचा प्रशासन तो हुआ जमकर हंगामा

मंदसौर.
जिला अस्पताल के सामने बने पांडव मार्केट को सील करने शुक्रवार की शाम को प्रशासन का अमला पहुंचा। कार्रवाई के दौरान जमकर हंगामा हुआ। आलम यह हुआ कि जो पुलिस मौके पर भी उनसे कंट्रोल नहीं हुआ अतिरिक्त पुलिस फोर्स को बुलाना पड़ा। बाद मेंं टीआई एसएल यादव अमले के साथ पहुंचे और भीड़ को नियंत्रित किया। हंगामा कर रहे लोगों को मार्केट से बाहर निकाला।

यहां कार्रवाई के विरोध में महिलाओं को आगे किया तो महिला पुलिसबल को भी बुलाना पड़ा। अमले ने यहां ऊपरी मंजिल की २० दुकानों को सील करने की कार्रवाई की। बताया जा रहा कि मार्केट के नारायण मनकानी पर ४३ लाख रुपए की रिकवरी के मामले में लोकायुक्त कोर्ट में चल रहे मामले के बाद यह कार्रवाई की गई। सुबह से नपा व प्रशासन का अमला इसे लेकर तैयार कर रहा था।

दोपहर में गांधी चौराहा क्षेत्र में सब एकत्रित भी हुए लेकिन पुलिस नहीं पहुंची तो वहां से लौट गए। इसके बाद कंट्रोल रुम पर बैठक हुई फिर दल-बल के साथ मौके पर पहुंचकर कार्रवाई को अंजाम दिया। कार्रवाई के दौरान मार्केट में फोर्स के साथ राजस्व अमला भी बड़ी संख्या में तैनात किया गया। शाम को करीब डेढ़ घंटे से अधिक समय तक कार्रवाई चली। इस कार्रवाई को प्रशासन का अमला नपा व नपा का अमला प्रशासन पर डालता रहा। नपा के अधिकारियों का कहना था कि हम प्रशासन के सहयेाग में खड़े है तो प्रशासन के अधिकारियों का कहना था कि हम नपा के सहयोग में खड़े है।


कांग्रेस पार्षद ने की थी शिकायत
कांग्रेस पार्षद विजय गुर्जर ने इस मार्केट को लेकर शिकायत की थी। गुर्जर ने बताया कि बिना अनुमति के ऊपरी मंजिल का निर्माण किया गया। वर्ष २००७ में इसे लेकर शिकायत की थी। एसएआर भी अधिक था। इसकी जानकारी नपा से मांगी तो २००८ में फाईल ही नपा से गायब हो गए। फिर कमिश्नर के यहां से अपील की तो वहां से सात दिन में जानकारी देने के लिए नपा को निर्देश दिए थे।

इसमें ५६ लाख से अधिक की राशि नपा को मार्केट वाले से पैनल्टी की लेना थी। इसमें से १३ लाख ही जमा किए थे। ४३ लाख की वसूली लंबे समय से बाकी चल रही। इस पर लोकायुक्त कोर्ट में प्रकरण लगाया था। नपा तो पहले कार्रवाई कर ही नहीं पा रही थी। लोकायुक्त के निर्देश पर यह कार्रवाई अब की।


ऑर्डर के हिसाब से गए थे
नायब तहसीलदार वैभव जैन ने बताया कि लोकायुक्त ने इस मामले में कुर्क के निर्देश दिए है। नपा को कलेक्टर को इस मामले में पत्र लिखा था। नपा की वसूली का मामला था। लोकायुक्त में भी यह मामला चल रहा है। मौके पर लाईन ऑर्डर के हिसाब से अमले के साथ गए थे।

Nilesh Trivedi
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned