scriptThis unique Balaji Dham of the state, where Chola is to be offered, wi | प्रदेश का यह अनोखा बालाजी धाम जहां चोला चढ़ाना है तो वर्ष 2045 तक करना होगा इंतजार | Patrika News

प्रदेश का यह अनोखा बालाजी धाम जहां चोला चढ़ाना है तो वर्ष 2045 तक करना होगा इंतजार

प्रदेश का यह अनोखा बालाजी धाम जहां चोला चढ़ाना है तो वर्ष 2045 तक करना होगा इंतजार

मंदसौर

Published: April 16, 2022 10:42:13 am

मंदसौर.
शहर में स्थित तलाई वाले बालाजी शहरवासियों की आस्था और श्रद्धा के केंद्र के रूप में जाना जाता है। मंदसौर के तलाई वाले बालाजी का दरबार ही प्रदेशभर में बालाजी का ऐसा अनोखा दरबार है जहां चोला चढ़ाने के लिए सालों इंतजार करना पड़ता है। वर्तमान स्थिति में २०४५ तक की तारीख बुक है। यही नहीं हनुमान जयंती पर आज जिसकी और से चोला चढ़ेगा वह भी वर्ष २००९ में ही बुक किया गया था। मंगलवार व शनिवार को २०४५ तक बुकिंग है तो सामान्य दिनों में चोला चढ़ाने की बुङ्क्षकग वर्ष २०३१ तक बुक है। ऐसे में तलैया वाले बालाजी को चोला चढ़ाना है तो सालों का इंतजार करना होगा। यदि बालाजी को चोला चढ़ाना है तो आज की स्थिति में सामान्य वार में ९ साल तो मंगलवार-शनिवार के लिए के लिए 2२ साल का इंतजार भक्तों को करना पड़ रहा है।
प्रदेश का यह अनोखा बालाजी धाम जहां चोला चढ़ाना है तो वर्ष 2045 तक करना होगा इंतजार
प्रदेश का यह अनोखा बालाजी धाम जहां चोला चढ़ाना है तो वर्ष 2045 तक करना होगा इंतजार

इसलिए है यहां चोला चढ़ाने का महत्व
कहा जाता है कि तलाई वाले बालाजी के दरबार में लड्डू. चूरमे का प्रसाद चढ़ाने, राम रक्षा स्त्रोत का पाठ करवाने और चोला चढ़ाने से मांगी गई हर मनोकामना पूर्ण होती है। यही वजह है कि यहां हर दिन चोला चढ़ाने के बावजूद चोले की प्रतीक्षा सूची सालों की लंबित है। मंदिर सूत्रों की माने तो मंगलवार को चोला चढ़ाने के लिए २३ जुलाई-२०१९ के बाद बुकिंग बंद कर दी गई है। इसके बाद भी १४ नवंबर-२०४५ तक के मंगलवार बुक है। यानी इसके लिए २२ साल इंतजार करना होगा। वहीं शनिवार के लिए भी इतना ही इंतजार करना होगा। अगस्त २०४५ तक के शनिवार भी चोला चढ़ाने को लेकर बुक है। तो सामान्य वार के लिए मार्च २०३१ तक बुक है। इतना ही नहीं राम रक्षा स्त्रोत करवाने और लड्डू चूरमे के भोग के लिए भी साल की प्रतिक्षा भक्तों को करना पड़ेगी। प्रतिदिन बालाजी को यह स्रोत सुनाया जाता है। यहां सुबह 5 बजे से भक्तों का सैलाब उमडऩा शुरू होता है जो रात 10 बजे तक अनवरत जारी रहता है। हनुमान जयंती को जिसकी और से चोला चढ़ाया जाएगा वह भी ७ अक्टूबर २०१९ को बुक हुआ था। मंदिर से जुड़ी मान्यताओं के कारण ही सालों के इंतजार के बाद भक्तों का चोला बालाजी को चढ़ पाता है।
दयालु बाबा के नाम से जाने जाते है तलाई वाले बालाजी
तलाई वाले बालाजी का मंदिर एक ऐसा अनूठा मंदिर है जहां पट खुलने से राम रक्षा स्त्रोत की गूंज गूंजती है तो वहीं रात को पट बंद होने पर सुंदरकांड, हनुमान चालिसा और भजन कीर्तन के सूर गूंजते रहते है। प्रतिदिन सैकड़ों से लेकर हजारों की तादाद में भक्त यहां मत्था टेककर दयालु बाबा के नाम से पहचाने जाने वाले तलाईवाले बालाजी का आशीर्वाद प्राप्त करते है। भक्ति और श्रद्धा इतनी अटूट है कि व्यापारी और नौकरी पर जाने वाले लोग पहले दरबार में मत्था टेकते है और फिर अपने काम-काज की शुरूआत करते है।

700 साल पुराना है इतिहास
लगभग सात सौ वर्ष पुरानी बालाजी की प्रतिमा प्रारंभ में विशाल वटवृक्ष के नीचे विराजित थी। यह स्थान शहर से दूर सूबा साहब कलेक्टर बंगले के पास स्थित था। मंदिर के पास ही एक तलाई थी जिस पर वर्तमान में नगरपालिका तरणताल स्थित हैं। किवंदती हैं कि इस प्रतिमा की स्थापना अत्यंत सिद्ध परमहंस संत द्वारा की गई थी। बहुत समय तक यहां बनी धर्मशाला, तलाई एवं मंदिर साधु संतों एवं जमातों का विश्राम एवं आराधना स्थल रहा। ब्रह्मलीन पूज्य राजारामदासजी महाराज अधिष्ठाता पंचमुखी बालाजी मंदिर भीलवाड़ा ने भी 1940 ईस्वी में यहां रहकर साधना की हैं।

अमरिका राष्ट्रपति ओबामा की जीत के लिए हुआ था अनुष्ठान
अमरिका के राष्ट्रपति पद के चुनाव के दौरान प्रत्याशी के रूप में खड़े हुए बराक ओबामा की जीत को लेकर तलाई वाले बालाजी मंदिर के दरबार में अनुष्ठान भी हुआ था। अमरिका में रहने वाले परिवार जो बालाजी को अपना इष्ट मानता है उस परिवार ने यहां अनुष्ठान और धार्मिक आयोजन कर जीत की मनोकामना मांगी थी। चुनाव के दौरान बराक ओबामा विजय हुए थे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

द्वारकाधीश मंदिर में पूजा के साथ आज शुरू होगा BJP का मिशन गुजरात, मोदी के साथ-साथ अमित शाह भी पहुंच रहेRajasthan: एंटी करप्शन ब्यूरो की सक्रियता से टेंशन में Gehlot Govt, अब केंद्र की तरह जांच से पहले लेनी होगी अनुमतिVIP कल्चर पर पंजाब की मान सरकार का एक और वार, 424 वीआईपी को दी रही सुरक्षा व्यवस्था की खत्मओडिशा में "भ्रूण लिंग" जांच गिरोह का भंडाफोड़, 13 गिरफ्तारमां की खराब तबीयत के बावजूद बल्लेबाजों पर कहर बनकर टूटे ओबेड मैकॉय, संगकारा ने जमकर की तारीफRenault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चदिल्ली में डबल मर्डर से सनसनी! एक की चाकू से गोदकर हत्या, दूसरे को गोली मारीEncounter In Ghaziabad: बदमाशों पर कहर बनकर टूटी पुलिस, एक रात में दो इनामी अभियुक्तों को किया ढेर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.