समुह लोन वसुली से तंग महिलाएं सड़कों पर उतरी, गांधचौराहें पर प्रदर्शन किया

समुह लोन वसुली से तंग महिलाएं सड़कों पर उतरी, गांधचौराहें पर प्रदर्शन किया
समुह लोन वसुली से तंग महिलाएं सड़कों पर उतरी, गांधचौराहें पर प्रदर्शन किया

Nilesh Trivedi | Updated: 20 Sep 2019, 11:23:15 AM (IST) Mandsaur, Mandsaur, Madhya Pradesh, India

समुह लोन वसुली से तंग महिलाएं सड़कों पर उतरी, गांधचौराहें पर प्रदर्शन किया

मंदसौर.
बाढ़ से गांव में मकान से लेकर अनाज खत्म हो गया है। परिवारों पर आर्थिक संकट मंडराने लगा है। ऐसे में निजी लोन बांटने वाली कंपनियां भी वसूली को लेकर दबाव बना रही है। ऐसे में परेशान महिलाओं ने गुरुवार को कलेक्टर के नाम ज्ञापन सौंपा और गांधीचौराहें पर प्रदर्शन भी किया।

इसके बाद कलेक्ट्रोट पहुंचकर ज्ञापन दिया। ज्ञापन में महिलाओं ने मांग की है कि बारिश के कारण घरों में बड़ा नुकसान हुआ है। रहने और खाने के भी लाले पड़े गए है और कंपनियों के लोन घरों पर वसूली के लिए आ रहे है।


निडर संस्था के बैनर तले ज्ञापन सौंपा गया। इसमें बताया कि महिलाओं को समुह लोन की वसूली के लिए प्रायवेट लोन कंपनियों द्वारा बार-बार बाढ़ पीडि़तों के यहां तकाजा किया जा रहा है। इससे मानसिक प्रताडऩा झेलना पड़ रही है और जबरन वसूली का दबाव बना रहे है। कलेक्टर और प्रभारी मंत्री के नाम एक ज्ञापन देकर मांग की है कि बाढ़ से सारे मकान नष्ट हो गए और खाने के लाले पढ़ रहे है। उन्होंने शासन स्तर से मदद करवाकर राशि स्वीकृत कराने की मांग की है। निडर संस्था के अध्यक्ष शहजाद हुसैन, मुरलीधर मिश्रा, वीरेंद्रसिंह, युनुस मंसुरी , शेरसिंह, चेतन राठौर, योगेश शर्मा, दीपक रूबिना बी, आरती, प्रमलता, मंजु ने बताया कि महिला स्वयं सहायता समुह द्वारा जो ऋण लिया गया है उन्हें ऋण अदायगी के लिए फायनेंसर परेशान कर रहे है। उन्होंने पीडि़त महिलाओं को ४-५ माह का समय देने की मांग की है। साथ ही अतिवृष्टी के चलते बाढ़ के कारण कॉलेज मे एडमिशन से वंचित छात्रों को एडमिशन में पुन: मौका दिया जाने के लिए लिंक ओपन करवाई जाए।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned