प्रशासन का अनूठा प्रयोग अब घर-घर जाकर कर रहा हर व्यक्ति का स्वास्थ्य परीक्षण


प्रशासन का अनूठा प्रयोग अब घर-घर जाकर कर रहा हर व्यक्ति का स्वास्थ्य परीक्षण

मंदसौर.
जिले में बाहर से आने वालों पर तो प्रशासन की विशेष नजर बनाए हुए है। साथ में अब कलेक्टर ने इस कड़ी में एक ओर नया प्रयोग किया है। जिससे की जिले में कोई भी व्यक्ति बीमार है तो उसको अस्पताल नहीं आना पड़ेगा और उसकी जांच घर पर ही हो जाएगी साथ ही प्रत्येक व्यक्ति की स्क्रीनिंग भी हो जाएगी। जिले के अंदर अब तक इस प्रयोग के तहत ५०४ गांवों की स्क्रीनिंग हो चुकी है। जिसमें ५१७ लेागों को सर्दी-खंासी सामने आई है। हांलाकि यह सर्दी-खांसी सामान्य है। इनको तत्काल प्रभाव से पैरामेडिकल स्टाफ द्वारा दवाईयां दी गई। गंावों में प्रत्येक व्यक्ति की स्क्रीनिंग के लिए २२ टीमें बनाई गई है। जो प्रतिदिन स्क्रीनिंग का काम कर रही है।
वीडियो कॉल से विशेषज्ञों की राय
अंचल में स्क्रीनिंग करते समय किसी भी पैरामेडिकल स्टाफ को विश्ेाषज्ञों की राय लेना हो तो इसके लिए कंट्रोल रूम पर डॉक्टरों की तैनाती प्रशासन द्वारा की गई है। वे उस स्थान से सीधे वीडियो कॉल के माध्यम से कंट्रोल पर तैनात डॉक्टर से राय ले रहे है और तत्काल उपचार कर रहे है। इसके साथ ही स्टाफ द्वारा ग्राम वासियों को हाथ धोने के तरीके और लाक डाउन का पालन करने के लिए भी सलाह दे रहे है। साथ ही वायरस से बचने के लिए कौन-कौन से उपाय करने है। इसको लेकर भी जानकरी दी जा रही है।
नगरीय क्षेत्रों में अब होगा स्क्रीनिंग का काम शुरु
अंचल में ९०४ गांवों में से ५२४ गांवों की स्क्रीनिंग हो गई है। और अन्य गांवों की चल रही है। इसके साथ ही अब नगरीय क्षेत्रों में भी स्क्रीनिंग का काम शुरु हो जाएगा। इसके लिए भी अलग-अलग टीमें बनाई गई है। पूरे जिले की स्क्रीनिंग का कार्य ३१ मार्च तक पूरा करने के लिए कलेक्टर मनोज पुष्प ने निर्देश दिए है।
इनका कहना..
कलेक्टर मनोज पुष्प ने बताया कि प्रत्येक व्यक्ति की स्क्रीनिंग के लिए टीमें कार्य कर रही है। अभी तक ५२४ गांवों में स्क्रीङ्क्षनग की जा चुकी है। जिसमें ५१७ लोगों को सामान्य सर्दी-खांसी सामने आई है। उनको दवाईयां दी गई है। नगरीय क्षेत्रों में भी अब स्क्रीनिंग शुरु हो जाएगी। इसके लिए टीमें भी बना दी है। इससे घर पर जिनका स्वास्थ्य खराब है। उनका उपचार हो जाएगा। और दूसरा स्क्रीनिंग भी हो जाएगी। ३१ मार्च तक पूरे जिले की स्क्रीनिंग हो जाएगी। पैरामेडिकल स्टाफ को कुछ समस्या आए तो कंट्रोल रूम पर डॉक्टरों की तैनाती भी की गई है। ताकि वीडियो कॉल से तत्काल सलाह ली जा सके।

Vikas Tiwari Bureau Incharge
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned