scriptFPI more than 1.50 lakh crore in shares market in three months | तीन महीनों में विदेशी निवेशकों का शेयर बाजर में 1.50 लाख करोड़ से ज्यादा का निवेश, जानिए पूरे साल का हाल | Patrika News

तीन महीनों में विदेशी निवेशकों का शेयर बाजर में 1.50 लाख करोड़ से ज्यादा का निवेश, जानिए पूरे साल का हाल

  • नवंबर के बाद दिसंबर 2020 में विदेशी निवेशकों ने शेयर बाजार में लगाए 60 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा
  • 2020 में विदेशी निवेशकों ने शेयर बाजार से मार्च, अप्रैल और मई के साथ सितंबर में निकाला अपना रुपया

नई दिल्ली

Published: January 03, 2021 02:20:44 pm

नई दिल्ली। विदेशी निवेशकों ने बीते तीन महीने में शेयर बाजार में 1.50 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा का निवेश किया है। खास बात तो ये है कि लगातार दूसरे महीने यानी नवंबर के बाद दिसंबर में भी विदेशी निवेशकों ने शेयर बाजार में 60 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा का निवेश किया है। विदेशी निवेशकों ने 2020 में सबसे ज्यादा निवेश दिसंबर के महीने में ही किया है। जबकि पूरे साल मार्च से लेकर मई तक और सितंबर के महीने में शेयर बाजार से अपना रुपया यूं कहें कि बिकवाली की है। आइए आपको भी बताते हैं कि आखिर पूरे साल विदेशी निवेशकों की ओर से किस महीने कितना निवेश और कौन महीने में बिकवाली की है।

FII more than 1.50 lakh crore in shares market in three months
FII more than 1.50 lakh crore in shares market in three months

यह भी पढ़ेंः- एक साल में भारत की विदेशी दौलत में जबरदस्त इजाफा, जानिए कितनी हो गई बढ़ोतरी

दिसंबर महीने में 68000 करोड़ रुपए का निवेश
विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक (एफपीआई) भारतीय बजारों में लगातार तीसरे महीने शुद्ध लिवाल रहे और दिसंबर में 68,558 करोड़ रुपये निवेश किए। वैश्विक निवेशक उभरते बाजारों में निवेश बढ़ा रहे हैं और भारत उसमें से बड़ा हिस्सा हासिल करने में सफल रहा है। आंकड़ों के अनुसार विदेशी निवेशकों ने दिसंबर महीने में शेयरों में शुद्ध रूप से रिकॉर्ड 62,016 करोड़ रुपए का निवेश किया है। वहीं बांड में 6,542 करोड़ रुपए लगाए हैं। नेशनल सिक्योरिटीज डिपोजिटरी लिमिटेड द्वारा एफपीआई आंकड़ा उपलब्ध कराये जाने के बाद से इक्विटी खंड में यह सर्वाधिक निवेश है।

यह भी पढ़ेंः- बीते सप्ताह फिर हुआ रिलायंस को नुकसान, एचडीएफसी को हुआ सबसे ज्यादा फायदा

तीन महीनों में डेढ़ लाख करोड़ रुपए का निवेश
अगर बीते तीने महीनों की करें तो विदेश निवेश शेयर बाजार और बांड बाजार पर कुछ ज्यादा ही मेहरबान रहे हैं। अक्टूबर, नवंबर और दिसंबर के महीने में विदेशी निवेशकों की ओर से 1.50 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा का निवेश किया है। आंकड़ों के अनुसार नवंबर के महीने में नवंबर 62,951 करोड़ रुपए का निवेश किया था। जबकि अक्टूबर के महीने में 22,033 करोड़ रुपए का निवेश किया है। दिसंबर के 68,558 करोड़ रुपए का निवेश किया है। इन तीनों के जोड़ को देखा जाए तो 1,53,542 करोड़ रुपए बैठता है। जोकि काफी है।

विदेशी निवेशकों ने कुछ इस तरह किया निवेश और बिकवाली

महीना निवेश/निकासी
जनवरी 12,123
फरवरी 6,554
मार्च -1,10,00
अप्रैल -15,403
मई -7,366
जून 24,053
जुलाई 3,301
अगस्त 46,532
सितंबर -7,783
अक्टूबर 22,033
नवंबर 62,951
दिसंबर 68,558

पूरे साल इन चार महीनों में निकाले रुपए
विदेशी निवेशकों ने 2020 में सिर्फ 4 महीने ही निकासी की। जिसकी शुरूआत मार्च से हुई और मई तक जारी रही। इन तीनों महीनों में विदेशी निवेशकों ने 1.32 लाख करोड़ रुपए की निकासी की थी। मार्च में अकेले विदेशी निवेशकों ने रिकॉर्ड 1.10 लाख करोड़ रुपए निकाल लिए थे। अप्रैल में 15,403 और मई के महीने में 7,366 करोड़ रुपए शेयर और बांड बाजार निकाल लिए थे। उसके बाद लगातार निवेश हुआ और सितंबर के महीने में फिर से निवेशकोंं ने 7,783 रुपए की बिकवाली कर ली।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

राजस्थान में इंटरनेट कर्फ्यू खत्म, 12 जिलों में नेट चालू, पांच जिलों में सुबह खत्म होगी नेटबंदीनूपुर शर्मा पर डबल बेंच की टिप्पणियों को वापस लिया जाए, सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस के समक्ष दाखिल की गई Letter PettitionENG vs IND Edgbaston Test Day 1 Live: ऋषभ पंत के शतक की बदौलत भारतीय टीम मजबूत स्थिति मेंMaharashtra Politics: महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने देवेंद्र फडणवीस के डिप्टी सीएम बनने की बताई असली वजह, कही यह बातजंगल में सर्चिंग कर रहे जवानों पर नक्सलियों ने की फायरिंगपंचायत चुनाव: दो पुलिस थानों ने की कार्रवाई, प्रत्याशी का चुनाव चिन्ह छाता तो उसने ट्राली भर छाता बंटवाने भेजे, पुलिस ने किए जब्तMonsoon/ शहर में साढ़े आठ इंच बारिश से सडक़ों पर सैलाब जैसा नजारा, जन जीवन प्रभावित2 जुलाई को छ.ग. बंद: उदयपुर की घटना का असर छत्तीसगढ़ में, कई दलों ने खोला मोर्चा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.