कोरोना के मुश्किल हालात में देश में मिलता रहेगा पेट्रोल-डीजल-Indian Oil

पेट्रोल और डीजल की मांग बेहद कम हो चुकी है ऐसे में इंडियन ऑयल ने कहा है कि कोविड-19 ( कोरोना वायरस ) की वजह से पैदा हुई इस संकट की घड़ी में भी वो फ्यूल सप्लाई बदस्तूर जारी रखेंगे ।

Pragati Vajpai

25 Mar 2020, 06:50 PM IST

नई दिल्ली: कोरोना की वजह देश भर में लॉकडाउन लगा दिया है। लेकिन लॉकडाउन से पहले ही इस महामारी के चलते आम जनता के जिंदगी में ब्रेक लग गया था। दरअसल कई कंपनियों ने अपने कर्मचारियों को इस बीमारी से बचाने के लिए वर्क फ्राम का सहारा ले रखा था जिसकी वजह से यातायात में कमी आई थी। घर पर रहने का असर फ्यूल प्रोडक्ट्स की डिमांड पर भी साफ देखा जा रहा है। अब जबकि पेट्रोल और डीजल की मांग बेहद कम हो चुकी है ऐसे में इंडियन ऑयल ने कहा है कि कोविड-19 ( कोरोना वायरस ) की वजह से पैदा हुई इस संकट की घड़ी में भी वो फ्यूल सप्लाई बदस्तूर जारी रखेंगे । यानि फ्यूल की कमी की वजह से हालात ठीक करने के लिए हो रहे कामों में कमी नहीं आएगी।

ट्रंप सरकार ने किया राहत पैकेज का ऐलान, 2 लाख करोड़ डॉलर के पैकेज से हर अमेरिकी को मिलेंगे $1200

आपको बता दें कि ट्रैवेल एडवाइजरी जारी होने के बाद से लगातार फ्लाइट्स के कैंसिल होने और आखिरकार बंद हो जाने के कारण ATF (Aviation Turbine Fuel) में भी काफी कमी आ चुकी है। जिस वजह से कंपनी को अपने टोटल उत्पादन का 25-30 फीसदी कंट्रोल करना पड़ा है। पिछले एक सप्ताह में कंपनी ने अपने स्टोरेज प्वाइंट्स पर पेट्रोलियम प्रोडक्ट्स का भंडारण कर लिया है। ताकि लॉकडाउन की स्थिति खत्म होने के बाद डिमांड बढ़ने पर सप्लाई को बढ़ाया जा सके। इसके अलावा कंपनी ग्लोबल मार्केट पर भी नजर रखे हुए है ताकि बाजार रणनीति को उसी के हिसाब से प्लान कर सके।

21 दिनों में होगा 900000 करोड़ का नुकसान लेकिन फिर भी बाजार में दिखी रौनक, आखिर कैसे संभला बाजार ?

यहां ध्यान देने वाली बात है कि इंडियन ऑयल ने हाल ही में bs6 एमिशन नॉर्म्स वाले फ्यूल की सप्लाई शुरू की है और ऐसा करके कंपनी देश की पहली सबसे साफ ईंधन देने वाली कंपनी बन चुकी है।

Corona virus COVID-19
Show More
Pragati Bajpai Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned