मात्र 2.50 रुपये की वजह से कैसे इतिहास बनाने से चूकी मुकेश अंबानी की RIL, पढ़ें पूरी खबर

इसके अलावा मुकेश अंबानी ने पिछले दिनों एलान किया था कि वह अपना पूरा कर्ज 18 महीनों में खत्म कर देंगें। उनके इस ऐलान से निवेशकों का भरोसा कंपनी में बढ़ा है।

By: Pragati Bajpai

Updated: 28 Nov 2019, 08:21 AM IST

नई दिल्ली: बुधवार का मुकेश अंबानी की रिलांयस कंपनी के ऐसतिहासिक दिन हो सकता था लेकिन महज 2.50 रुपए की वजह से देश के नामचीन बजनेसमैन की कंपनी शेयर बाजार का इतिहास बनाने से चूक गई। दरअसल आज RIL का शेयर इंट्राडे में 1575 रुपये के भाव पर पहुंच गया और उस दौरान कंपनी का मार्केट कैप करीब 9.98 लाख करोड़ रुपये पहुंच गया। आज के यूनिट के आधार पर देखें तो अगर आरआईएल का शेयर 1577.5 रुपये के भाव को छू लेता तो कंपनी का मार्केट कैप 10 लाख करोड़ के पार हो जाता। आपको बता दें कि मंगलवार को भी कंपनी 9.99 लाख करोड़ के स्तर पर पहुंच गई थी यानि इस सप्ताह 2 बार रिलायंस इंडस्ट्रीज इतिहास बनाने से चूक गई।

आम आदमी पर महंगाई की मार, खाने-पीने की चीजों के बाद अब मंहगा हुआ रेल का किराया

शेयर में 40% रही तेजी
1 जनवरी से 27 नवंबर तक जहां कंपनी के शेयर का भाव 1121.05 रुपये से बढ़कर 1569.75 रुपये पर पहुंच गया है। यानि हम कह सकते हैं कि रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों में 52 हफ्तों में 40 फीसदी तक की तेजी देखी गई। 52 हफ्तों का हाई 1576 रुपये रहा, ये भाल कंपनी ने मंगलवार को छुआ था।

शेयर में मजबूती का बड़ा कारण कंपनी के टेलिकॉर्म आर्म जियो और रिटेल कारोबार की ओर से भी बेहतर प्रदर्शन देखने को मिल रहा है। इसके अलावा मुकेश अंबानी ने पिछले दिनों एलान किया था कि वह अपना पूरा कर्ज 18 महीनों में चरणबद्ध तरीके से खत्म कर देंगे।

क्या अनिल अंबानी ग्रुप की नैया पार लगाएगी यह कंपनी, 100 दिनों में 800 फीसदी तक चढ़ा शेयर

मार्केट कैप के मामले में लंबे समय से रिलायंस इंडस्ट्रीज और TCS में कड़ी टक्कर मानी जाती है लेकिन इस साल आरआईएल के शेयरों के बेहतर प्रदर्शन से TCS रेस में काफी पीछे चली गई है। इस साल TCS के शेयर में अबतक सिर्फ 8.5 फीसदी ही ग्रोथ रही है और शेयर का भाव 1893.55 रुपये से बढ़कर 2053.45 रुपये के भाव पर पहुंच गया।

चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में RIL का मुनाफा सालाना आधार पर 18.3 फीसदी बढ़कर 11,262 करोड़ रुपये रहा है। रिलांयस जियो का मुनाफा वित्त वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही में 45.4 फीसदी बढ़कर 990 करोड़ हो गया है। जियो का रेवेन्यू सालाना आधार पर 33.7 फीसदी बढ़कर 12354 करोड़ रुपये हो गया है।

Pragati Bajpai
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned