scriptSensex crosses 45,000 after RBI MPC decision, Nifty reaches new high | आरबीआई एमपीसी के फैसले के बाद सेंसेक्स 45,000 के पार, नई ऊंचाई पर पहुुंचा निफ्टी | Patrika News

आरबीआई एमपीसी के फैसले के बाद सेंसेक्स 45,000 के पार, नई ऊंचाई पर पहुुंचा निफ्टी

  • सेंसेक्स ने 45033 अंकों के साथ नए स्तर पर पहुंचा, निफ्टी 13250 अंकों तक गया
  • आरबीआई द्वारा इकोनॉमी के पॉजिटिव रहने के संकेतों के बाद बाजार में देखने को मिली तेजी

नई दिल्ली

Updated: December 04, 2020 12:32:06 pm

नई दिल्ली। आरबीआई के फैसले पर घरेलू शेयर बाजार ने शुक्रवार को उत्साहपूर्ण प्रतिक्रिया दी। सेंसेक्स पहली बार 45,000 के मनोवैज्ञानिक स्तर के पार चला गया और निफ्टी भी रिकॉर्ड उंचाई को छुआ। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने प्रमुख ब्याज दर यानी रेपो रेट चार फीसदी पर बरकरार रखने की घोषणा की है। वहीं, देश की आर्थिक विकास को लेकर भी आरबीआई का नजरिया सकारात्मक है। जिसकी वजह से आज शेयर बाजार में अच्छी तेजी देखने को मिल रही है।

Sensex crosses 45,000 after RBI MPC decision, Nifty reaches new high
Sensex crosses 45,000 after RBI MPC decision, Nifty reaches new high

यह भी पढ़ेंः- आरबीआई का अनुमान, जानिए देश में कितनी रह सकती है खुदरा महंगाई दर

सेंसेक्स पहली बार 45 हजार के पार
आज शेयर बाजार पहली बार 45 हजार के पार चला गया। कारोबारी सत्र के दौरान सेंसेक्स रिकॉर्ड 45033.19 अंकों पर पहुंचा। जबकि मौजूदा समय यानी दोपहर 11 बजकर 50 मिनट पर सेंसेक्स 292.44 अंकों की तेजी के साथ 44,925.09 अंकों पर कारोबार कर रहा है। वहीं दूसरी ओर नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का प्रमुख सूचकांक निफ्टी कारोबारी सत्र के दौरान 13,250.30 अंकों रिकॉर्ड लेवल पर गया। जबकि 11 बजकर 50 मिनट पर निफ्टी 13,211.90 अंकों पर कारोबार कर रहा था।

यह भी पढ़ेंः- आरबीआई ने दिए इकोनॉमी के बेहतर होने के संकेत, बताया कब होगी पॉजिटिव

जीडीपी होगी पॉजिटिव
आरबीआई के गर्वनर शक्तिकांत दास की ओर से जारी किए गए अनुमानित आंकड़ों के अनुसार देश की जीडीपी तीसरी और चौथी तिमाही में पॉजिटिव नोट में आ सकती है। आरबीआई की ओर से कहा गया कि तीसरी तिमाही में देश की जीडीपी जीरो से 0.1 फीसदी ज्यादा और चौथी तिमाही में 0 से 0.7 फीसदी ज्यादा हो सकती है। आरबीआई की ओर से यह अनुमान लगाया हैै। इसमें फेरबदल की भी गुंजाइश है।

यह भी पढ़ेंः- आरबीआई एमपीसी की नीतिगत दरों में नहीं किया बदलाव, जानिए किनती होगी होम, ऑटो और पर्सनल लोन की दरें

खुदरा महंगाई दर के आंकड़े
भारतीय रिजर्व बैंक के गर्वनर शक्तिकांत दास ने शुक्रवार को कहा कि देश में खुदरा महंगाई दर चालू वित्त वर्ष 2020-21 की तीसरी तिमाही में 6.8 फीसदी रह सकती है, लेकिन चौथी तिमाही में घटकर 5.8 फीसदी रहने का अनुमान है। आरबीआई का अनुमान है कि अगले वित्त वर्ष की पहली छमाही में खुदरा महंगाई दर 5.2 फीसदी से लेकर 4.6 फीसदी के बीच में रह सकती है।

यह भी पढ़ेंः- आरबीआई एमपीसी की घोषणाओं से पहले शेयर बाजार में तेजी, सेंसेक्स 44700 के पार

रेपो दरों में कोई बदलाव नहीं
इससे पहले आरबीआई ने शुक्रवार को प्रमुख ब्याज दर यानी रेपो रेट चार फीसदी पर बरकरार रखने की घोषणा की। आरबीआई ने लगातार तीसरी बार रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं किया है। रिवर्स रेपो रेट में भी कोई बदलाव नहीं हुआ है। केंद्रीय छह सदस्यीय मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) की बैठक में लिए गए फैसले के बाद आरबीाई गनर्वर शक्तिकांत दास ने रेपो रेट चार फीसदी पर बरकरार रखने की घोषणा की।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Subhash Chandra Bose Jayanti 2022: इंडिया गेट पर लगेगी नेताजी की भव्य प्रतिमा, पीएम करेंगे होलोग्राम का अनावरणAssembly Election 2022: चुनाव आयोग का फैसला, रैली-रोड शो पर जारी रहेगी पाबंदीगोवा में बीजेपी को एक और झटका, पूर्व सीएम लक्ष्मीकांत पारसेकर ने भी दिया इस्तीफाUP चुनाव में PM Modi से क्यों नाराज़ हो रहे हैं बिहार मुख्यमंत्री नितीश कुमारPunjab Election 2022: भगवंत मान का सीएम चन्नी को चैलेंज, दम है तो धुरी सीट से लड़ें चुनाव20 आईपीएस का तबादला, नवज्योति गोगोई बने जोधपुर पुलिस कमिश्नरइस ऑटो चालक के हुनर के फैन हुए आनंद महिंद्रा, Tweet कर कहा 'ये तो मैनेजमेंट का प्रोफेसर है'खुशखबरी: अलवर में नया सफारी रूट शुरु हुआ, पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.