थोक महंगाई दर 6 माह के उच्चतम स्तर पर, सस्ते कर्ज मिलना नहीं होगा आसान

manish ranjan

Publish: Nov, 14 2017 02:26:43 (IST)

Market
थोक महंगाई दर 6 माह के उच्चतम स्तर पर, सस्ते कर्ज मिलना नहीं होगा आसान

वाणिज्य मंत्रालय द्वारा जारी एक आंकड़ें के मुताबिक, खाद्य उत्पादों की दर बढक़र 3.23 फीसदी पर पहुंच गया हैं, जो कि सितंबर माह में 1.99 फीसदी था।

नई दिल्ली। देश में खुदरा महंगाई दर पिछले 7 महीने अपने उच्चतम स्तर पर पहुंच गई है। अक्टूबर माह में महंगाई दर 3.59 फीसदी के साथ पिछले 6 महीने के टॉप पर पहुंच गया। इसके पहले सितंबर में यह आंकड़ा 2.6 फीसदी था। थोक महंगाई दरों में बढ़ोतरी का सबसे बड़ा कारण खाद्य और पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतो में उछाल को माना जा रहा है। वाणिज्य मंत्रालय द्वारा जारी एक आंकड़ें के मुताबिक, खाद्य उत्पादों की दर बढक़र 3.23 फीसदी पर पहुंच गया हैं, जो कि सितंबर माह में 1.99 फीसदी था। इसके साथ अक्टूबर में वेजिटेबल इंडेक्स भी 19.9 फीसदी पहुंच गया है।


कोर महंगाई में थोड़ी राहत

थोक महंगाई सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) के आंकड़ों के मुताबिक, दाल का महंगाई दर (-)31.05 फीसदी रहा जो कि मासिक आधार पर सितंबर में (-)24.26 फीसदी था। वहीं सब्जियों के महंगाई दर की बात करें तो सितंबर माह के 15.48 फीसदी के मुकाबले यह 36.61 फीसदी पर जा पहुंगया है। हालांकि कोर महंगाई में थोड़ी राहत देखने को मिला है, यह 3 फीसदी से घटकर 2.9 फीसदी पर आ गया हैं। फ्यूल की महंगाई दर भी 9.01 फीसदी से बढक़र 10.52 फीसदी पर चला गया है। मैन्यूफैक्चिरिंग से जुड़ी महंगाई दर भी 3.33 फीसदी पर आ गया, जो कि सितंबर माह के मुकाबले 0.15 फीसदी बढ़ा है।


प्याल भी गिरा रहा आंसू

मासिक आधार पर प्याज की बात करें तो ये भी लोगों को रूला रहा हैं। पिछले माह के आधार पर देखें तो प्याज के महंगाई दर में 127.04 फीसदी की इजाफा हुआ है। अक्टूबर माह में नॉन फूड आर्टिकल्स भी 0.67 फीसदी रहा जो कि मासिक आधार पर सितंबर माह में 2.20 फीसदी था।


7 माह के उच्चतम स्तर पर खुदरा महंगाई दर

महंगे खाद्य सामान की महंगाई दर पिछले सात माह के उच्चतम स्तर पर जा पहुंचा हैं। अक्टूबर माह में खुदरा महंगा ई दर 3.58 फीसदी था। बता दें कि सितंबर माह में कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स 3.28 फीसदी था। इसके पहले इसका पिछला उच्चतम स्तर 3.89 फीसदी था।


शहरी और ग्रामीण इलाकों में भी बढ़ा महंगाई दर

माह दर माह रिटेल शहरी इलाकों के खुदरा महंगाई की बात करें तो ये 3.44 फीसदी से बढक़र 3.81 फीसदी जा पहुंचा है। वहीं ग्रामीण इलाकों में खुदरा महंगाई दर 3.14 फीसदी से बढक़र 3.36 फीसदी हो गया है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned