चांदी कारोबारी से अफसरों ने ही छीने थे 43 लाख रुपये, सीएम योगी के आदेश पर चार पर गिरी गाज

मथुरा के चांदी कारोबारी प्रदीप कुमार से छीने थे 43 लाख। पुलिस ने शिकायत के बाद नहीं की थी कार्रवाई। आगरा दौरे के दौरान सीएम योगी से व्यापारियों ने की थी शिकायत।

By: Rahul Chauhan

Published: 20 May 2021, 02:25 PM IST

मथुरा। जनपद में कुछ दिन पहले चांदी कारोबारी (silver businessman) प्रदीप कुमार अग्रवाल से 43 लाख रुपए छीनने का मामला सामने आया था, जिसमें सीएम योगी (cm yogi adityanath) ने सख्त कदम उठाते हुए 4 अधिकारियों को निलंबित कर दिया है। दरअसल, कुछ दिन पहले आगरा दौरे पर आए मुख्यमंत्री से व्यापारियों व जन प्रतिनिधि ने मुलाकात की थी। इस दौरान व्यापारियों ने सीएम से चांदी व्यापारी प्रदीप कुमार अग्रवाल से सेल टैक्स अधिकारियों द्वारा 43 लाख रुपए छीनने की बात बताई थी। जिस पर सीएम ने तत्काल जांच के आदेश दिए थे। इस मामले की जांच करने वाले अपर मुख्य सचिव संजीव मित्तल ने सीसीटीवी फुटेज की जांच की तो कई हैरतअंगेज खुलासे हुए जो काफी चौंकाने वाले थे।

यह भी पढ़ें: बारिश के कारण बड़ा हादसा, भर-भराकर गिरी मकान की छत, मां और तीन बच्चों की मौत

जानकारी के अनुसार जब प्रत्यक्षदर्शियों से इस मामले में पूछा गया तो उन्होंने बताया कि मथुरा से व्यापारी को निजी वाहन में सेल्स टैक्स आगरा के असिस्टेंट कमिश्नर मोबाइल सचल दल सप्तम अजय कुमार व शैलेंद्र कुमार निजी वाहन से बिना किसी लिखा पढ़ी के सेल टैक्स आगरा ऑफिस लाएं। वहां पर इंट्रोगेशन के नाम पर उनको धमकाया गया और नियमों का हवाला देते हुए व्यापारी से उसके 43 लाख रुपये अजय कुमार व शैलेन्द्र कुमार द्वारा छीन लिए गए। इस पूरे मामले में उनके वरिष्ठ अधिकारी डीएन सिंह व अभिषेक श्रीवास्तव भी शामिल थे। जिनको उनका हिस्सा पहुंचा कर मामले को रफा-दफा करा दिया गया था।

शिकायत के बाद नहीं हुई थी कार्रवाई

बता दें कि मामले की शिकायत पुलिस से करने के बाद किसी तरह की कोई कार्रवाई नहीं की गई। आरोप है कि इस पूरी इंट्रोगेशन की कोई कागजी कार्रवाई नहीं हुई और ना ही किसी सरकारी कागज में दर्ज किया गया। आरोप है कि ऐसा ना करने का आदेश अफसर शैलेंद्र के कहने पर हुआ था। वहीं इस मामले की शिकायत होने पर इन दोनों अधिकारियों की डीएन सिंह एडिशनल कमिश्नर ग्रेड 2 एसआईबी व अभिषेक श्रीवास्तव ज्वाइंट कमिश्नर एसआईबी आगरा से अच्छे संबंध होने पर कार्रवाई नही हुई।

यह भी पढ़ें: ऐसा गांव जहां 56 साल बाद बनने जा रही पक्की सड़क, लोग बोले- पूरा हो रहा है सपना

इन अफसरों पर हुई कार्रवाई

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पास मामला पहुंचने पर चारों अधिकारियों को आड़े हाथ लिया गया और इनको निलंबित कर विभागीय जांच के आदेश दिए गए हैं। इस जांच के दौरान ऐसे तमाम अधिकारियों के नाम भी सामने आए, जिनकी सरपरस्ती में ऐसे भ्रष्ट अधिकारी इस तरीके की वारदातों को अंजाम देते आए हैं।सीएम के आदेश पर सेल्स टैक्स के जॉइंट कमिश्नर, एसआईबी अभिषेक श्रीवास्तव, एडिशनल कमिश्नर ग्रेड 2, एसआईबी डीएन सिंह, अजय कुमार असिस्टेंट कमिश्नर, मोबाइल सचल दल सप्तम, आगरा और शैलेन्द्र कुमार, सीटीओ मोबाइल सचल दल- 7, आगरा को सस्पेंड कर दिया।

Show More
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned