भारत नेपाल बॉर्डर पर तस्करों की कैद से पांच भालुओं को मुक्त कराया

 

वाइल्डलाइफ एसओएस की टीम दो दिन का सफर तय करके उन्हें आगरा के भालू संरक्षण केंद्र लेकर आयी। यहां उनका इलाज किया जा रहा है।

By: suchita mishra

Published: 27 Nov 2019, 05:08 PM IST

मथुरा। नेपाल और भारत की सीमा पर तस्करों की कैद में से पांच भालुओं को वाइल्डलाइफ एसओएस ने मुक्त कराया। वाइल्डलाइफ एसओएस की टीम दो दिन का सफर तय करके उन्हें आगरा के भालू संरक्षण केंद्र लेकर आयी, जहां विशेषज्ञों की देखरेख में भालुओं का उपचार किया जा रहा है। वाइल्डलाइफ एसओएस के सीआईओ कार्तिक सत्यनारायण ने भालुओं के रेस्क्यू की जानकारी देते हुए बताया कि तस्करों से पांच भालू को छुड़ाया है। इन भालुओं के दांतों को लोहे की रॉड से तोड़ दिया गया था। इन्हें एंटी पंचिंग अभियान के तहत मुक्त कराया गया है। पहले इनको झारखंड के रांची के भगवान बिरसा जूलॉजिकल पार्क में अस्थाई देखरेख और उपचार के तहत रखा गया था। इसके बाद इन पांचों भालुओं को आगरा के लिए भेजा गया है। भालू को वाइल्डलाइफ की अनुमति के बाद ही दो दिन का सफर करने के बाद आगरा लाया गया है। पशु चिकित्सा सेवा के तहत इनका इलाज किया जा रहा है। इनका स्वास्थ्य परीक्षण भी कराया जा रहा है।

यह भी पढ़ें: यूपी के रहने वाले सैनिक की राजस्थान में सड़क हादसे के दौरान मौत

suchita mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned