मथुरा में 5248 साल के कंस का होगा वध ,तैयारी पूर्ण

-5248 साल के कंस वध मेले का किया जायेगा आयोजन

-कोरोना 2019 की गाईड लाइन के अनुसार परम्पराओं का पालन करते हुए कंस वध मेले का होगा आयोजन

-इस वर्ष नहीं निकलेगी शोभा यात्रा

-22 नवंबर से 26 नवंबर तक चलेंगे कार्यक्रम

By: arun rawat

Updated: 21 Nov 2020, 04:58 PM IST

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क


मथुरा. विगत वर्षों की भाँति इस वर्ष भी कंस मेले का आयोजन किया जायेगा। कोरोना को ध्यान में रखते हुए इस बार लोगों की संख्या को सिमित रखा गया है। कंस मेले को लेकर चल रही तैयारियाँ पूर्ण हो चुकी है। इस बार 5248 साल के कंस वध मेले का आयोजन किया जायेगा।

 

कोरोना 2019 की गाईडलाइन के अनुसार परम्पराओं का पालन करते हुए कंस वध मेले का आयोजन होगा। प्रेस वार्ता में श्री माथुर चतुर्वेद परिषद के मुख्य संरक्षक एवं अखिल भारतीय तीर्थ महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष महेश जी पाठक द्वारा विचार व्यक्त किये गये। इस बार जहां देश में कई बड़े-बड़े कार्यक्रम नहीं हो पाये और जिला प्रशासन द्वारा हमारी समाज के इस मेले को कोरोना वायरस की गाइड लाइन के अनुसार अनुमति प्रदान की है और इस अनुमति के अनुसार इस वर्ष कोई शोभा यात्रा नहीं निकलेगी और गाईड लाइन के अनुसार ही मेला सम्पन्न होगा और यह मेला दिनांक 22 नवम्बर से प्रारम्भ होकर 26 नवम्बर, 2020 तक चलेगा। सर्व प्रथम 22 नवम्बर को प्रातः 10 बजे पुण्य तीर्थ विश्राम घाट पर गौचारण लीला का आयोजन होगा और सांयकाल 4 बजे गोपाल बाग पुराने बस स्टैण्ड पर ठाकुर जी गौ चराने के लिए जायेंगे और यह लीला करके ठाकुर जी पुनः वापिस आयेंगे और दिनांक 23 नवम्बर 2020 को सांय 7 बजे पुण्य तीर्थ विश्राम घाट पर अखिल भारतीय कवि सम्मेलन का आयोजन किया जायेगा, जिसमें दिल्ली, आगरा, इटावा, के अलावा स्थानीय कवि भी मौजूद रहेंगे। तत्पश्चात् 24 नवम्बर को सांय 4 बजे कंस टीले पर भगवान श्रीकृष्ण बलराम के इशारे पर चतुर्वेदी समाज के लोग कंस के पुतले को लाठियों से झूरेंगे और उसके बाद ठाकुर जी विश्राम घाट आयेंगे और उस दिन पहले ठाकुर जी की आरती होती है और तत्पश्चात् मां यमुना की आरती होती है। उन्होंने बताया की अनादिकाल से इस परम्परा को निभाते चले आ रहे है। दिनांक 26 नवम्बर को प्रातःकाल 11 बजे यमुना पूजन सीएसआरए गु्रप द्वारा कर समाज की वर्तमान स्थिति की गणना का कार्य प्रारम्भ किया जायेगा और सांयकाल 6 बजे पुण्य तीर्थ विश्राम घाट पर भव्य दीप दान का आयोजन होगा।

 

पत्रकार वार्ता में उपस्थित श्री माथुर चतुर्वेद परिषद के अध्यक्ष राकेश चतुर्वेदी ने समाज को सभी माता बहिनों से अपील की कि वह मेले में उचित दूरी का पालन करें और मास्क लगाकर आये, सैनिटाइजर का स्तेमाल करे, और कोविड की गाईड लाइन का पालन करते हुए मेले में सीमित संख्या में शामिल हो। पत्रकार वार्ता में मौजूद परिषद के महामंत्री राकेश तिवारी ने मेले की व्यवस्थाओं हेतु निम्न कमेटियों का गठन किया है।राकेश तिवारी ने ये भी बताया की इस बार 5248 वें कंस मेले का आयोजन होगा।

ये रहे मौजूद

नवीन नागर, गिरधारीलाल पाठक, उपाध्यक्षगण मनोज पाठक, संजय एल्पाइन, कोषाध्यक्ष कमल चतुर्वेदी, निरीक्षक संजीव चतुर्वेदी एड, मंत्रीगण अमित चतुर्वेदी, अनुज पाठक,अमित पाठक, गोपाल चतुर्वेदी, नीरज चतुर्वेदी, राजकुमार कप्पू,मोहित चतुर्वेदी, अनिल चतुर्वेदी पमपम, आदि मौजूद रहे।

arun rawat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned