कोतवाली में खुद को आग लगाने वाले जोगेंद्र की मौत के बाद हो रहा ऐसा ऑडियो वायरल, पुलिस महकमे में मचा हड़कंप

कोतवाली में खुद को आग लगाने वाले जोगेंद्र की मौत के बाद हो रहा ऐसा ऑडियो वायरल, पुलिस महकमे में मचा हड़कंप
कोतवाली में खुद को आग लगाने वाले जोगेंद्र की मौत के बाद हो रहा ऐसा ऑडियो वायरल, पुलिस महकमे में मचा हड़कंप

Amit Sharma | Updated: 01 Sep 2019, 07:55:15 PM (IST) Mathura, Mathura, Uttar Pradesh, India

जोगेंद्र की मौत से पहले अपने एक परिजन और इंस्पेक्टर से बातचीत का ऑडियो वायरल हो रहा है।

मथुरा। पांच दिन पूर्व सुनवाई न होने से व्यथित दम्पति द्वारा आत्मदाह कर लेने के मामले में रविवार को उपचार के दौरान पीड़ित ने दम तोड़ दिया जबकि उसकी पत्नी की हालत अभी भी नाजुक बनी हुई है। इस प्रकरण को लेकर शनिवार को पीड़ित दम्पति के बेटे की ओर से पुलिस ने 5 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था जिसमें आरोप लगाया गया कि आरोपियों ने ही थाने के बाहर तेल छिड़क कर दम्पति को आग लगाई थी। वहीं इस मामले में एक ऑडियो भी वायरल हो रहा है जिसमें पीड़ित फोन पर बात करते हुए अपने परिजन से यह बात कह रहा है कि अस्पताल में भी पुलिस उस पर बार-बार बयान बदलने का दबाव बना रही है। इस ऑडियो के वायरल होने के बाद एक बार फिर पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठ रहे हैं हालांकि पुलिस अधिकारी अभी इस मामले में कुछ भी बोलने से बच रहे हैं। 

यह भी पढ़ें- दबंगों के जुल्म और पुलिस की ज्यादती से लड़ते हुए जिंदगी की जंग हारा जोगेंद्र, पत्नी की हालत गंभीर

ये था मामला

आरोप है कि सुरीरकलां निवासी सत्यपाल और उसके साथी जोगेंद्र के मकान पर कब्जा करना चाहते थे। उसे परेशान करते चले आ रहे थे। पीड़ित जोगेंद्र ने कई बार पुलिस से आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए थाने में गुहार लगाई लेकिन दबंगों के रसूख के चलते पीड़ित की किसी ने नहीं सुनी और 28 अगस्त को उसने पत्नी सहित कोतवाली में मिट्टी का तेल छिड़क कर खुद को आग लगा ली। पांच दिन से गंभीररूप से झुलसे दम्पति का दिल्ली स्थित सफरजंग हॉस्पिटल में इलाज चल रहा था जहां रविवार की सुबह पीड़ित जोगेंद्र ने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। जबकि उसकी पत्नी चंद्रवती की हालत अभी भी चिंताजनक बनी हुई है। रविवार को एडीएम वित्त एवं राजस्व ब्रजेश कुमार पुलिस अधिकारियों के साथ कस्बा सुरीर पहुंचे और पीड़ित परिवार को सरकार की ओर से हरसंभव का भरोसा दिया। हंगामे की स्थिति को देखते हुए सुरीर में बड़ी संख्या में फोर्स तैनात कर दिया है।

यह भी पढ़ें- कश्मीर मुद्दे पर फिरोजाबाद में बोले भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष व दर्जा प्राप्त राज्य मंत्री, धारा 370 हटाकर प्रधानमंत्री ने दिखाया 56 इंच का सीना

पीड़ित का ऑडियो हो रहा वायरल

घटना के बाद अब कुछ ऑडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं जिसमें पीड़ित जोगेंद्र ये कहता सुना जा रहा है कि बार बार उसके बयानों को बदलवाया जा रहा है। ऑडियो क्लिप पर खुद को इंस्पेक्टर सुरीर बताने वाला व्यक्ति पूछ रहा है कि जोगेंद्र क्या बात हो गई है जिस पर जोगेंद्र कह रहा कि साहब कह-कह कर बयानों को बदलवा रहे हैं। इस पर इंस्पेक्टर कह रहे हैं कि कोई बयान नहीं बदलवायेगा निश्चिंत रहो। वहीं एक दूसरी ऑडियो में पीड़ित अपने चाचा से बात करते हुए कह रहा है कि किसी ने उसका साथ नहीं दिया, पुलिस भी मुझे फटकार देती। आरोपियों के उत्पात के बारे में कहते हुए कहा पीड़ित कह रहा है कि चाचा मैं खुदकुशी नहीं करता। ऑडियो में पीड़ित ने अपने चाचा को बताया कि घटना से एक दिन पहले शाम को थाने गया था और पुलिस से कहा था कि मेरी रिपोर्ट दर्ज नहीं की तो मैं आग लगा लूंगा लेकिन वहां मौजूद पुलिस वालों ने गाली देकर भाग दिया था। पीड़ित कह रहा है कि जब उसने अपने ऊपर तेल छिड़का तो एक सिपाही ने उसे गाली देते हुए कहा था कि जा नहीं रहा, ड्रामा कर रहा है और कहा कि चार आदमी राजीनामा कर गए जबकि मैंने कोई राजीनामा नहीं किया। अपने चाचा से पीड़ित कह रहा है कि यहां आकर पुलिस वाले मुझ पर दबाब बना रहे हैं। धर्मेंद्र नाम के दरोगा के साथ दो-तीन पुलिस वाले आए और कह रहे हैं कि हमारे बच्चों की नौकरी बचा दे। अगर पुलिस वाले मेरी सुनवाई कर लेते तो में ऐसा क्यों करता। पीड़ित ने अपने चाचा से कहा कि रोजाना एक-दो पुलिस वाले आ रहे हैं और दबाव बना रहे हैं।

यह भी पढ़ें- आश्रम पद्धति विद्यालय के हॉस्टल में फंदे से लटका मिला छात्र का शव, नोट में लिखी मिली जान देने की वजह

बेटे की तहरीर पर 5 के खिलाफ दर्ज हुआ मुकदमा

कोतवाली में दम्पति द्वारा आत्मदाह के मामले में शनिवार को एक नया मोड़ आ गया जब पुलिस ने पीड़ित जोगेंद्र के बेटे जगदीश की तहरीर पर 5 लोगों के खिलाफ मुकदमा लिखा। जिसमें आरोप है कि आरोपियों ने तेल छिड़ककर जोगेंद्र और उसकी पत्नी चंद्रवती को आग लगाई, जबकि घटना के बाद खुद पीड़ित कह रहा था कि पुलिस द्वारा सुनवाई नहीं करने पर उसने खुद यह कदम उठाया। इतना ही नहीं वायरल ऑडियो में भी पीड़ित पुलिस को सुनवाई नहीं करने पर यह कदम उठाने की बात कह रहा था तो फिर अचानक यह रिपोर्ट पीड़ित जोगेंद्र के बेटे ने आरोपियों के खिलाफ दर्ज कराई है। कहीं इसके पीछे पुलिस अपना बचाव तो नहीं कर रही। इंस्पेक्टर सुरीर रवि त्यागी ने बताया कि पीड़ित जोगेंद्र के बेटे जगदीश की तहरीर पर बबलू, शिम्मो, सत्यपाल, थान सिंह और मोहनश्याम के खिलाफ जानलेवा हमले सहित संगीत धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोप है कि आरोपियों ने पहले मारपीट की उसके बाद मिट्टी का तेल छिड़ककर मेरे मां-बाप को आग लगा दी। पुलिस के अनुसार इस मामले में सत्यपाल और मोहनश्याम को अरेस्ट किया जा चुका है जबकि 3 आरोपी फरार हैं। इस मामले में इंस्पेक्टर और दो दरोगाओं को सस्पेंड कर के के बाद शनिवार को सुरीर थाने में तैनात 3 मुंशी शेर सिंह, सौरभ और परमिंदर को लाइन हाजिर कर दिया है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned