आयुष्मान योजना ने बदली कानपुर के किसान छेड़ा लाल की जिंदगी

-आयुष्मान योजना के तहत हुआ इलाज
-वरदान बनी आयुष्मान योजना
-कानपूर के किसान को मिली नई जिंदगी
-किसान छेदालाल ने किया प्रधानमंत्री और हॉस्पिटल स्टाफ का धन्यवाद

By: arun rawat

Published: 15 Nov 2020, 05:54 PM IST

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क

मथुरा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी योजना मानी जाने बाली आयुष्मान भारत योजना ग़रीब और किसानों के लिए वरदान साबित हो रही है। आयुष्मान योजना के तहत किसान को नया जीवनदान मिला है। किसान के परिवार ने देश के प्रधानमंत्री और उपचार कर रहे डॉक्टर का आभार व्यक्त किया।

 

विगत कई सालों से कानपुर निवासी छेदालाल कूल्हे में परेशानी होने की वजह से अक्सर बीमार रहते थे। छेदालाल की बीमारी में कई लाख रुपये खर्च भी हुए लेकिन परिणाम जीरो रहा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा चलाई जा रही आयुष्मान भारत योजना ने किसान छेदालाल की जिंदगी में फिर से रंग भर दिए। आज वो अपनी जिंदगी को ख़ुशी से जी रहे है। छेदालाल के बेटे मुकेश कुमार ने बताया कि पिता जी के कूल्हे में काफ़ी दिक्कत रहती थी पिता की के इलाज में कई लाख रुपये भी खर्च हुए, लेकिन कोई फ़ायदा नही मिला। मुकेश का कहना है कि हमारे रिश्तेदार ने हमें मथुरा के एल आर मल्टी सुपरस्पेशलिटी एंड ट्रोमा सेंटर में ईलाज के लिए कानपुर से मथुरा लाये। हॉस्पिटल में पिता जी का इलाज़ आयुष्मान योजना के अंतर्गत बिल्कुल फ्री हुआ है। हम लोग बेहद खुश है कि पिता जी फिर से अपने पैरों पर चल रहे है। उन्होंने ये भी बताया कि कई डॉक्टरों की सलाह ली किसी ने 2 लाख रुपये का ख़र्चा बताया तो किसी ने 3 लाख रुपये का। एल आर हॉस्पिटल में फ्री इलाज हुआ है। 10 अक्टूबर को पिता जी को भर्ती कराया था और 17 तारीख़ को डिस्चार्ज हो जाएंगे।

 

वही आयुष्मान भारत योजना के तहत हुए छेदालाल के ऑपरेशन के बारे में जानकारी देते हुए एल आर हॉस्पिटल के डॉक्टर राकेश कुमार गुप्ता ने कहा कि पेसेंट जब आया था काफ़ी कमजोर था। उन्होंने ये भी कहा कि पेसेंट के दोनों कूल्हे डैमेज हो गए थे। ABN के तहत ट्रीटमेंट दिया गया और जोड़ों को जगह पर बैठाया गया। मरीज़ एक दम स्वस्थ है और प्रधानमंत्री की योजना आयुष्मान भारत के तहत इलाज़ किया गया है। छेदालाल को निःशुल्क इलाज मिला है और अगर देखा जाए तो किसी प्राईवेट हॉस्पिटल में ये लोग इस ईलाज को कराते तो क़रीब 2 लाख रुपये का ख़र्च आता।

arun rawat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned