झुग्गियों में रहने बाले बच्चों ने रंगोली बना की बाल श्रम को ख़त्म करने की अपील

-1098 बच्चों की सेवा मे 24 घंटे तत्पर

-चाइल्ड लाइन 0 से लेकर 18 साल के नीचे के बच्चों लिए करता है काम

-रंगोली बना की बाल श्रम को ख़त्म करने की अपील

-चाइल्ड लाइन से दोस्ती सप्ताह के अंतर्गत बच्चों ने बनायीं रंगोली

 

By: arun rawat

Updated: 20 Nov 2020, 11:35 AM IST

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क


मथुरा. महिला एवं बाल विकास मंत्रालय भारत सरकार एवं चाइल्ड लाइन इंडिया फाउंडेशन के निर्देशन में चिराग सोसायटी द्वारा संचालित रेलवे चाइल्डलाइन मथुरा के द्वारा चाइल्डलाइन से दोस्ती सप्ताह बच्चों के साथ मनाया जा रहा है। इसी क्रम मे आज मलिन बस्ती में रहने बाले बच्चों रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन रेलवे स्टेशन मथुरा जंक्शन पर किया गया।


मथुरा रेलवे जंक्शन पर रंगोली प्रतियोगिता में बच्चों ने अपना हुनर दिखाते हए एक से एक बढ़कर रंगोली की डिजाइन जमीन पर बनाई। कॉर्डिनेटर रेलवे चाइल्ड लाइन मुहम्मद सईद ने कहा कि हमारे देश में हजारों बच्चे ऐसे है जिनके अंदर प्रतिभा छिपी हुई है। बच्चों के अंदर छिपी हुई प्रतिभा को निखारने की जरूरत है। बस उन्हें निखारने की पर ऐसे बहुत बच्चे स्कूल जाने से वंचित है सही दिशा निर्देश न मिलने से प्रतिभा खत्म हो जाती है। बच्चे हमारे देश का भविष्य है चाइल्ड द्वारा दोस्ती वीक मनाकर लोगो को जागरूक किया जा रहा है ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग चाइल्ड लाइन से दोस्ती करके बच्चों के दोस्त बनकर उनकी मदद करें अगर आप को कोई बच्चा मुसिबत मे नजर आता हैं तो इसकी सूचना चाइल्ड हेल्प लाइन 1098 पर अवश्य दें। बच्चों की तत्काल मदद की जाएगी।

टीम सदस्य मधुबाला ने बताया कि 1098 बच्चों की सेवा मे 24 घंटे तत्पर है। आप लोग बेहिचक बच्चों पर हो रहे अत्याचार की सूचना किसी भी समय कर सकते हैं। चाहे दिन हो या रात चाइल्ड लाइन 0 से लेकर 18 साल के नीचे के बच्चों लिए काम करता है। टीम सदस्य रनवीर ओर हसन ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि शिक्षा पोषण पूरा प्यार सभी बच्चों का यह अधिकार है यह हर बच्चे को मिलनी चाहिए। इस कार्यक्रम में मुहम्मद समीम, रनवीर ,मधुबाला, नीलू, नेहा ,सुघड़ सिंह आदि लोग उपस्थित थे।

arun rawat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned