अनियंत्रित होकर पलटी क्रूजर जीप, चालक सहित तीन की मौत, आधा दर्जन घायल

- 10.92 करोड़ से हाईटेक होंगे 21 आईटीआई

- सीरो सर्वे के लिए 10 डॉक्टर समेत 40 लोगों की टीमें तैयार, आज से होगी जांच

By: Neeraj Patel

Published: 25 Aug 2020, 07:29 PM IST

मथुरा. थाना नौहझील क्षेत्र के अंतर्गत यमुना एक्सप्रेस वे पर एक दर्दनाक हादसा हो गया। इस हादसे में तीन लोगों की मौके पर दर्दनाक मौत हो गई जबकि एक दर्जन से ज्यादा लोग घायल हो गए। घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने मृतकों को पोस्टमार्टम के लिए और घायलों को उपचार के लिए अस्पताल भेजा। घटना की जानकारी देते हुए एसपी ग्रामीण श्रीश चंद ने बताया यमुना एक्सप्रेस वे की माइलस्टोन संख्या 60 पर क्रूजर जीप अनियंत्रित होकर डिवाइडर से टकरा गई थी। आगरा से दिल्ली की तरफ यह लोग जा रहे थे और ड्राइवर सहित तीन लोगों की मौत हो गई है। हादसा कैसे हुआ यह अभी पता नहीं चल पाया है यह कहना अभी असंभव है कि ड्राइवर को नींद आ गई या कुछ और भी कारण रहे हादसे के। जांच के बाद ही हादसे का पता चल पाएगा कि हादसा कैसे हुआ।

10.92 करोड़ से हाईटेक होंगे 21 आईटीआई

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के 21 औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों (आईटीआई) को 10 करोड़ 92 लाख रुपये से हाईटेक किया जाएगा। केंद्र सरकार की स्किल स्ट्रेंथिनिंग फॉर इंडस्ट्रियल वैल्यू इन्हैंशमेंट स्ट्राइव योजना के तहत 16 राजकीय और पांच निजी संस्थानों केलिए बजट की स्वीकृति मिली है। योजना के तहत आईटीआई छात्रों को तकनीकी दक्षता के साथ साथ रोजगार दिलाना है। संयुक्त निदेशक प्रशिक्षण एवं शिशिक्षु राहुल देव ने बताया कि इस योजना के अंतर्गत संस्थानों में नए ट्रेड संचालित करना, आधुनिक मशीनों के जरिये छात्रों को हुनरमंद बनाना, इंडस्ट्री क्लस्टर बनाकर छात्रों को अप्रेंटिस और रोजगार दिलाना आदि शामिल है।

सीरो सर्वे के लिए 10 डॉक्टर समेत 40 लोगों की टीमें तैयार, आज से होगी जांच

आगरा. ताजनगरी में स्वास्थ्य विभाग ने सीरो सर्वे के लिए 10 डॉक्टरों समेत 40 लोगों की टीम तैयार कर दी है। इसकी सूची शासन और भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) को भेज दी है। सर्वे वाले स्थान अभी सार्वजनिक नहीं किए गए हैं। आईसीएमआर की टीम आने के बाद तय स्थानों पर जाकर रक्त के नमूने लिए जाएंगे। सीरो सर्वे के लिए बनाई गई दस टीमों का नेतृत्व चिकित्सक करेंगे। सर्वे 26 अगस्त से होगा। इसके प्रभारी डॉ. सुबोध कुमार, डॉ. मनु शर्मा, डॉ. संदीप तोमर, डॉ. एसके सक्सेना, डॉ. बहादुर सिंह, डॉ. उदय रावल, डॉ. अंकित मिश्रा, डॉ. आशीष मनोहर, डॉ. मनीष धर्मेश और डॉ. सौरभ को बनाया गया है। प्रत्येक टीम में चार सदस्य हैं। इसमें चिकित्सक के अलावा टेक्नीशियन, आशा और एएनएम शामिल हैं। इनके नाम, पद और फोन नंबर की सूची शासन को भेज दी गई है। आईसीएमआर की टीम के निर्देशन में लोगों के रक्त के नमूने लिए जाएंगे। इसमें देहात और शहर के 18 से 60 साल की उम्र के स्वस्थ लोगों के रक्त का नमूना लिया जाएगा।

Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned