कथावाचक देवकी नंदन ठाकुर ने की चुनाव में प्रत्याशी उतारने की तैयारी, जानिए उनकी पार्टी से कौन होंगे उम्मीदवार

'अखंड भारत मिशन' के फेसबुक पेज पर उनका एक वीडियो शेयर किया गया है। इसमें उन्होंने बताया है कि उनकी पार्टी के प्रत्याशी कौन लोग बनेंगे।

By: suchita mishra

Published: 06 Oct 2018, 01:19 PM IST

मथुरा। एससी-एसटी एक्ट में संशोधन के खिलाफ सवर्णों की आवाज बने कथावाचक देवकी नंदन ठाकुर ने गांधी जयंती पर 'अखंड भारत मिशन' के नाम से बने फेसबुक पेज पर फेसबुक लाइव कर कहा था कि यदि सरकार ने एक महीने के अंदर एससी-एसटी एक्ट को लेकर सुप्रीम कोर्ट के दिशा निर्देशों को फिर से लागू नहीं किया तो उनके लोग अखंड भारत मिशन पार्टी बनाकर आगामी मध्यप्रदेश के चुनाव और वर्ष 2019 का लोकसभा चुनाव लड़ेंगे। अपने इस कथन पर अमल करने की वो पूरी तैयारी कर रहे हैं। हाल ही 'अखंड भारत मिशन' के फेसबुक पेज पर उनका एक वीडियो शेयर किया गया है। इस वीडियो में उन्होंने बताया है कि मध्यप्रदेश के चुनावों उनकी पार्टी में कौन होंगे उम्मीदवार।

देवकी नंदन ठाकुर ने बताया कि उनकी पार्टी के प्रत्याशी वे ही लोग बन पाएंगे जिनके खिलाफ कोई आपराधिक मामला दर्ज न हो। उनका क्रिमिनल बैकग्राउंड न हो। ईमानदार हों, देश, धर्म और समाज के लिए वफादार हों। जो पैसे, पद या अपनी कोई निजी इच्छा को पूरा करने के लिए चुनाव न लड़ें बल्कि देश की जनता की सेवा के लिए काम करें। उनका कहना है कि प्रत्याशियों से एक फॉर्म भरवाया जाएगा जिसमें संविधान की कसम नहीं होगी, बल्कि ऐसी चीजें होंगी जिससे व्यक्ति झूठ न बोल सके। वाकई देश की सेवा करे।

कथावाचक ने ये भी स्पष्ट किया कि उनकी पार्टी का एजेंडा एससी-एसटी एक्ट ही नहीं है। उनकी पार्टी का एजेंडा है देश की अखंडता, धर्म की रक्षा, नौजवानों के साथ देश की सेवा, बुजुर्गों की सेवा और संस्कार जो बहुत दूर हो गए हैं, उन्हें दोबारा से जिंदा करना, समाज में जाति के नाम पर बंटवारे को रोकना, बच्चों की शिक्षा से खिलवाड़ न होने देना आदि तमाम महत्वपूर्ण एजेंडे हैं। उन्होंने बताया कि अभी वे लोकसभा चुनाव के बजाय मध्यप्रदेश पर फोकस कर रहे हैं। वे समाज के सभी लोगों से अनुरोध करेंगे के एक झंडे के नीचे चुनाव लड़ें और देश के लिए काम करें।

Show More
suchita mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned