प्रधानमंत्री जुमलाबाजी छोड़ें, देश की अर्थव्यवस्था को ठीक करें: दिग्विजय सिंह

प्रधानमंत्री जुमलाबाजी छोड़ें, देश की अर्थव्यवस्था को ठीक करें: दिग्विजय सिंह
प्रधानमंत्री जुमलाबाजी छोड़ें, देश की अर्थव्यवस्था को ठीक करें: दिग्विजय सिंह

Amit Sharma | Updated: 13 Sep 2019, 10:04:00 PM (IST) Mathura, Mathura, Uttar Pradesh, India

-विरोधियों को झूठे मुकदमों में फंसाया जा रहा है

मथुरा। कांग्रेस के फायरब्राण्ड नेता दिग्वजय सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ओम और गाय का नाम सुनकर रौंगटे खड़े हो जाने वाले बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि ओम और गाय का नाम लेने से हिंदू, मुस्लिम, इसाई, सिख किस के रौंगटे खड़े होते हैं। यह जुमला तब चला था जब इंदिरा गांधी ने पाकिस्तान के दो टुकड़े कर दिये थे उस समय कहा जाता था कि भुट्टो जब बाल कटाने के लिए बैठते हैं तो वहां के नाई को इंदिरा गांधी का नाम लेना पड़ता है, इससे उनके बाल खड़े हो जाते हैं। उन्होंने कहाकि प्रधानमंत्री जुमलेबाजी छोड़ कर देश की अर्थव्यवस्था को सही करें। गोवर्धन परिक्रमा को आये मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह यहां एक स्थानीय होटल में पत्रकारों से वार्ता कर रहे थे। उन्होंने आरोप लगाया कि मुद्दों से लोगों का ध्यान भटकाने के लिए प्रधानमंत्री जुमलेबाजी कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें- अब बोलचाल ही नहीं, लिखापढ़ी भी होगी ब्रजभाषा में

भाजपा के सभी वायदे जुमला साबित हुए हैं। न कालाधन आया, न आतंकवाद खत्म हुआ, न भ्रष्टाचार और न नकली नोट समाप्त हुए। 15 लाख रूपए लोगों के खाते में आये नहीं, कहा था हर साल दो करोड़ नौकरियां देंगे, हालात यह हैं कि लोगों को नौकरियों से निकाला जा रहा है। ऑटोमोबाइलन सैक्टर से 10 लाख लोगों को निकाला जा रहा है। लोग नोकरियां खो रहे हैं, नौकरी मिल नहीं रही हैं। मथुरा के सराफा बाजार में सैकड़ों लोगों के बेरोजगार होने की स्थित आ चुकी है। पूरा व्यापार ठप है, मंदी चली हुई है, सिर्फ जुमला बाजी चल रही है।

यह भी पढ़ें- मुख्यमंत्री की जनसभा में प्रतिबंधित रहेगी प्लास्टिक, मटके का पानी पिएंगे योगी

जिस आदमी को गुजरात में मुस्लिमों की टोपी पहनने से ऐतराज था वही आदमी साउदी अरब जाकर वहां के मुसल्मानों को खुश करने के लिए टोपी भी पहनते हैं, दुपट्टा भी डालते हैं। उन्होंने कहाकि मेरे मुख्यमंत्री रहते हुए मध्य प्रदेश पहला राज्य था 1993-94 में गौशाला आयोग का गठन किया था और गौशाला को अनुदान देना शुरू किया था। भाजपा की सरकार आई तो इस आयोग को भंग कर दिया। सरकार को आवारा गायों के लिए इंतजाम करना चाहिए। गौशालाओं को मदद देनी चाहिए। मैं सरकार से अपील करता हूं कि राज्य सरकारों को भी राशि दें। जिनती गौशालाएं हैं उनको जितना गोसंवर्धन पर खर्चा आता है, सरकार को उठाना चाहिए।

यह भी पढ़ें- टूंडला विधानसभा के 46 गांवों को मुख्यमंत्री से मीठे पानी की आस

भाजपा पर लगाया बीफ एक्सपोटर्स से चंदा लेने का आरोप
दिग्विजय सिंह ने कहाकि भाजपा एकमात्र पार्टी जिसे बीफ एक्सपोटर्स चंदा देते हैं। यह खुद भाजपा ने इलेकक्शन कमीशन को लिख कर दिया है कि उन्हें बीफा एक्सपोटर्स ने चंदा दिया है। मैं प्रधानमंत्री से पूछना चाहता हूं इस पर वह क्या कहते हैं। उनके कार्यकाल में सबसे ज्यादा बीफ एक्सपोर्ट में वृद्धि हुई है।

यह भी पढ़ें- आ रहें है प्रभारी मंत्री श्रीकांत शर्मा, तैयारियों में जुटा प्रशासन

अटलजी ने सुझाया था कश्मीर का समाधान
उन्होंने कहाकि पूर्व प्रधानमंत्री अटलबिहारी वाजपेयी ने कश्मीर समस्या का सही हल सुझाया था। वर्तामान सरकार ने उसे दरकिनार कर दिया है। 35ए आर्टिकल पर कहा कि यह कांग्रेस ने लागू नहीं किया, 1927 में कश्मीरी पंडितों के आगृह पर यह कानून बनाया था, कश्मीर में 96 में से 94 आर्टिकल लागू होने लगे थे। सुप्रीम कोर्ट का दायरा वहां तक नहीं था, अब हो गया है, गृहमंत्री अमित शाह ने रिजर्वेशन, एजुकेशन और इनफार्मेशन के बारे में भ्रम पैदा किया है। डवलप मेंट इंडेक्श कश्मीर का अधिकांश राज्यों से बेहतर है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned