प्रदेश भर में सप्लाई हो रहा था मथुरा में बना ’नकली आक्सीटोसिन’

प्रदेश भर में सप्लाई हो रहा था मथुरा में बना ’नकली आक्सीटोसिन’

Amit Sharma | Updated: 04 Jun 2019, 07:20:52 PM (IST) Mathura, Mathura, Uttar Pradesh, India

-पुलिस, औषधि विभाग की संयुक्त कार्रवाई में सामने आया काला सच
-लम्बे समय से चल रहा था यह खेल, खुलासा हुआ तो अधिकारी भी चौंक गये
-सवाल उठ रहे हैं, शहर, बीच कैसे होता रहा इतना बड़ा खेल

मथुरा। तेल चोरी, काले तेल, जहरीली शराब, 315 बोर के तमंचा और टटलू काटने के लिए अपराध जगत में कुख्यात रही इस धार्मिक नगरी के खाते में एक और बदनामी जुड़ गई है। मथुरा में बन रहा नकली आक्सिटोसिन पूरे प्रदेश और आसपास के प्रदेशों में सप्लाई हो रहा था।

यह भी पढ़ें- यूं ही नहीं की थी मोदी ने ‘बुआ-बबुआ’ की जोड़ी टूटने की ‘भविष्यवाणी’, भाजपा की इस रणनीति को न भांप सके माया-अखिलेश

औषधि विभाग, थाना कोतवाली पुलिस, स्वाट टीम ने अवैध रुप से नकली आक्सीटोशिन बनाने की फैक्ट्री का भंड़ाफोड़ करते हुए दो अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है। मौके से भारी मात्रा में नकली ऑक्सीटोशिन इंजेक्शन बनाने का कैमिकल व उपकरण भी बरामद किये हैं।

यह भी पढ़ें- यूपी और राजस्थान की सीमा पर पहाड़ियों में बसे इन गांवों में ट्रैक्टर लूट गैंग की ‘फ्रेंचाइजी’

मंगलवार को मुखबिर के द्वारा सूचना प्राप्त हुई कि मौहल्ला बल्देवपुरी में नकली ऑक्सीटोशिन बनाने की अवैध फैक्ट्री संचालित है। सटीक सूचना पर एसएसपी ने स्वाट टीम व सर्विलांस सैल को निर्देशित किया कि जांच कर आवश्यक कार्यवाही करें। मंगलवार को कृष्णानगर चौकी प्रभारी थाना कोतवाली, टीम व स्वाट टीम प्रभारी, छाता पुलिस, औषधि निरीक्षक मथुरा एवं हाथरस ने अजय कुमार गुप्ता पुत्र बाबूलाल गुप्ता के मकान मौहल्ला बल्देवपुरी पर दबिश दी तो मौके पर अजय कुमार गुप्ता पुत्र स्व. बाबूलाल गुप्ता होली वाली गली थाना कोतवाली मथुरा, मुकेश कुमार पुत्र हरिओम निवासी रूकमणी बिहार थाना कोतवाली मथुरा को नकली ऑक्सीटोशिन बनाते हुए मौके से दबोचा। मौके से भारी मात्रा में कैमिकल, साल्ट, मशीन व अन्य उपकरण सहित गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार अभियुक्तगणों ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि यह पदार्थ व उपकरण संजय से प्राप्त कर नकली ऑक्सीटोशिन दवा बनाते हैं। हम लोग नकली ऑक्सीटोशिन दवा को इरफान को व अन्य दो तीन जगह सप्लाई करते हैं। इस बरामदगी के सम्बन्ध में गिरफ्तार अभियुक्तों के विरूद्ध कार्यवाही की जा रही है। बताया जा रहा है कि अजय गुप्ता पहले भी 2015 में जेल जा चुका है।

यह भी पढ़ें- बल्देव में हुई चांदी लूट का खुलासा, दो आरोपी पकड़े, इनकी है अभी तलाश

फैक्ट्री से ये माल हुआ बरामद
2531 सफेद रंग की भरी हुई प्लास्टिक की बोतल सौ मिली लाल ढक्कन, 1370 सफेद रंग की भरी हुई प्लास्टिक की बोतल सौ मिली सफेद ढक्कन, 48 सफेद रंग की भरी हुई बोतल पांच सौ मिली, 4 सफेद रंग की भरी हुई प्लास्टिक केन बीस लीटर, 3 सफेद रंग की भरी हुई प्लास्टिक केन 5 लीटर, 9 नीली और सफेद भरी हुई प्लास्टिक की केन चालीस लीटर, एक नीले रंग की भरी हुई प्लास्टिक की केन बीस लीटर, एक नीले रंग की प्लास्टिक की केन तीस लीटर, एक नांरगी रंग की प्लास्टिक की केन चालीस लीटर, 3087 सफेद रंग की खाली प्लास्टिक की बोतल, दस हजार रबर कैप, आठ हजार लाल रंग का एल्युमीनियम ढक्कन, दो हजार सफेद रंग की एल्युमीनियम ढक्कन, एक हजार सफेद रंग प्लास्टिक ढक्कन, बीस हजार प्रिन्टेड लेबल, 4 पैकेट टाटा नमक, एक कैंची, दो प्लास्टिक मग, एक प्लास्टिक कीप, एक प्लास्टिक की ट्रांसफर पाइप, एक मापन सिलेण्डर, तीन ढक्कन सीलर, दो प्लास्टिक की टोकरी।

यह भी पढ़ें- लोकसभा चुनाव के बाद एक्शन में योगी, भ्रष्टाचार की शिकायत पर शिक्षा विभाग में चला डंडा, हड़कंप

यह थी कार्यवाही करने वाली टीम
अनिल आनन्द औषधि निरीक्षक मथुरा, दीपक कुमार औषधि निरीक्षक हाथरस, हरवेन्द्र मिश्रा स्वाट प्रभारी एवं थानाध्यक्ष थाना छाता, अमित कुमार भाटी प्रभारी कृष्णा नगर चैकी, राजन पुण्डीर प्रभारी सर्विलांस टीम के साथ।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned