मथुरा। जन्मभूमि विबाद ,श्रीकृष्ण विराजमान मामले में 22 मार्च को कोर्ट करेगा सुनवाई

- श्री कृष्ण जन्मभूमि विबाद मामला में हुई सुनवाई

- जिला जज ने श्री कृष्ण विराजमान की याचिका पर की सुनवाई

- जिला जज यशवंत कुमार की अदालत ने 22 मार्च को फैसले पर होगी सुनवाई

- 1/10 की एप्लीकेशन के आदेश के बाद श्री कृष्ण विराजमान के रिविजन पर आगे बढ़ेगी सुनवाई

By: arun rawat

Updated: 28 Jan 2021, 05:26 PM IST

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क


मथुरा. श्री कृष्ण जन्मभूमि विवाद मामले में श्री कृष्ण विराजमान रिवीजन के मामले पर जिला जज यशवंत कुमार मिश्र की अदालत में आज सुनवाई हुई। जिसमे न्यायालय में पक्षकार बनने के लिये दिए गए प्रार्थना पत्रों पर बहस के बाद फैसला सुरक्षित रख लिया है। कोर्ट आज शाम तक अपना फैसला सुना सकता है की इस मामले में कितने पक्षकार रहेंगे या नही रहेंगे।

 

गुरुवार को श्री कृष्ण विराजमान मामले में प्रतिवादी पक्ष और शाही मस्जिद ईदगाह की दलील और आपत्तियों पर सुनवाई जिला जज की अदालत में हुई। कोर्ट ने जन्मभूमि मामले को लेकर फैसले को अपने पास सुरक्षित रख लिया है। 18 जनवरी को हुई सुनवाई में कोर्ट ने दाखिल हुए दावे को गलत बताते हुए उसे संशोधित करने के साथ-साथ रिवीजन में बदल दिया गया था। वही वादी पक्ष की अधिवक्ता रंजना अग्निहोत्री व हरीशंकर जैन ने बताया कि न्यायालय में सुनवाई के रिवीजन लगा हुआ था। रिवीजन के पहले जब भी अपील फाइल हुई थी जिसमें पक्षकार बनने के लिए वन टेन जो मेन्टेबिल नही है । न्यायालय ने इस पर फैसला सुरक्षित रख लिया है। उन्होंने कहा कि इस मामले में 8 पक्षकारों ने प्रार्थना पत्र दिया था। इस पर फैसले के बाद अगली तारीख नियत होगी। तीर्थ पुरोहित महासभा , चतुर्वेदी महासभा और तीसरी हिन्दू महा सभा ने पक्षकार बनने के लिए प्रार्थना पत्र दिया था। सभी प्रार्थना पत्रों को देखने के बाद ख़ारिज की माँग की गयी है। वही श्रीकृष्ण विराजमान मामले पर 22 मार्च को कोर्ट सुनवाई करेगा।


उन्होंने कहा कि पक्षकार बनने की धारा 1/10 की एप्लीकेशन के आदेश के बाद श्री कृष्ण विराजमान मामले को रिवीजन के लिए रख लिया गया है। बता दें कि 1967 में हुए समझौते के अनुसार शाही मस्जिद ईदगाह (न्यायिक निर्णय ) को रद्द किये जाने की अपील की थी और श्री कृष्ण जन्मस्थान को संबंधित 13.37 एकड़ भूमि केशव कटरा देव को वापस दिए जाने की मांग की है।

By - Nirmal Rajpoot

arun rawat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned