शहीद पंकज नौहवार की अंतिम विदाई में उमड़े हजारों लोग, पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे, देखें वीडियो

मथुरा के पैतृक गांव जरेलिया में हो रहा अंतिम संस्कार, विमान क्रैश में शहीद हुए थे

By:

Published: 01 Mar 2019, 10:49 AM IST

मथुरा। जम्मू एवं कश्मीर के बड़गांव में विमान हादसे में शहीद हुए पंकज नौहवार का पार्थिव शरीर आगरा होते हुए मथुरा पहुंचा। पार्थिव शरीर सेना अस्पताल में रखा गया। अंतिम संस्कार के लिए शुक्रवार की सुबह पैतृक गांव जरेलिया (नौहझील, मथुरा) में होगा। शहीद के अंतिम दर्शन के लिए हजारों लोग उमड़ पड़े। भारत माता की जय के नारे लगाए जा रहे हैं। भीड़ बढ़ती जा रही है।

मथुरा में पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे
शुक्रवार की सुबह शहीद पंकज नौहवा का पार्थिव शरीर मथुरा के बालाजीपुरम स्थित सारंग विहार कॉलोनी में उनके निवास स्थान पर लाया गया। शहीद पंकज के अंतिम दर्शन के लिए हजारों की संख्या में लोग मौजूद रहे। तकरीबन 20 मिनट उनके पार्थिव शरीर को पैतृक गांव जरेलिया ले जाया गया। वहां उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। पंकज की शव यात्रा में पाकिस्तान मुर्दाबाद के जमकर नारे लगे। श्रद्धांजलि देने पहुंचे यूपी के मंत्री वश्रीकांत शर्मा ने मीडिया से रूबरू होते हुए कहा कि शहीद पंकज की शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी। सेना को खुली छूट दे दी गई है। अब ईंट का जवाब पत्थर से दिया जाएगा।

शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी
उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी ने बताया कि शहीद पंकज का अंतिम संस्कार पूरे राजकीय और सैन्य सम्मान के साथ किया जाएगा। शहीद परिवार में एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी दी जाएगी। गांव के प्राथमिक विद्यालय का नाम शहीद पंकज के नाम पर होगा। परिजनों के नाम ग्राम समाज की जमीन का पट्टा भी सरकार करेगी। गाँव जरेलिया का संपूर्ण विकास शहीद पंकज के नाम से किया जाएगा। 25 लाख रुपये की आर्थिक मदद दी जाएगी। उन्होंने कहा कि शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी। संकट की घड़ी में सरकार पंकज के परिवार के साथ है। उन्होंने कहा कि आतंकवाद को समाप्त करने के लिए पूरा विश्व भारत के साथ है।

एयरफोर्स स्टेशन श्रीनगर में तैनात थे
गौरतलब है कि मथुरा के बालाजीपुरम में रहने वाले रिटायर सूबेदार मेजर नौबत सिंह के पुत्र पंकज 2012 में वायु सेना में एयरमैन तकनीकी के पद पर भर्ती हुए थे। मौजूदा समय में पंकज की तैनाती एयरफोर्स स्टेशन श्रीनगर में थी। बड़गांव के निकट उनका विमान हादसे का शिकार हो गया था। इस हादसे की खबर मिलने के बाद पंकज के घर सांत्वना देने वालों का तांता लग गया।

 

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned