ड्रग विभाग और पुलिस की संयुक्त कार्यवाई में पकड़ी 80 लाख रुपये की अवैध दवाईयों

- थाना गोविंद नगर क्षेत्र में ड्रग और पुलिस की बड़ी कार्यवाई

- ट्रांसपोर्ट कंपनी के तीन गोदामों पर छापेमारी

- पुलिस और ड्रग विभाग को मिला दवाईयों का बड़ा ज़खीरा

- 80 लाख रुपये की दवाइयों का मिला ज़खीरा

- दवाईयों की इलिग़ल डायवर्जन बिक्री का मामला

By: arun rawat

Published: 09 Mar 2021, 04:20 PM IST

निर्मल राजपूत

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क मथुरा. ड्रग विभाग और मथुरा पुलिस को एक बड़ी सफलता हाथ लगी है। ट्रांसपोर्टरों के तीन गोदामों से लाखों रुपए की दवाइयों को पुलिस और ड्रग्स विभाग की संयुक्त कार्यवाही में बरामद किया गया है। डाक विभाग और पुलिस की संयुक्त कार्यवाही से ट्रांसपोर्टरों में हड़कंप मच गया। पुलिस गहनता से दवाइयों के काले कारोबार की जांच कर रही है।

 

थाना गोविंद नगर क्षेत्र के अंतर्गत सरस्वती कुंड स्थित Ajay Freight Carrirs ट्रांसपोर्ट कंपनी पर पुलिस और आगरा से आई ड्रग विभाग की टीम ने छापेमारी की। ड्रग विभाग और पुलिस की संयुक्त कार्यवाही से ट्रांसपोर्टरों में अफरा-तफरी का माहौल पैदा हो गया। पुलिस ने ट्रांसपोर्ट कंपनी के गोदाम से दवाइयों की एक बड़ी खेप बरामद की है। छापामार कार्यवाही की जानकारी देते हुए सीओ सिटी वरुण कुमार सिंह ने बताया काफी दिनों से दवाइयों का एलीगल डायवर्जन की जानकारी मिल रही थी आगरा की ड्रग विभाग की टीम और पुलिस के द्वारा यह कार्यवाही संयुक्त रूप से की गई है। उन्होंने बताया कि इस कार्यवाही में तीन ट्रांसपोर्टरों के गोदामों पर छापे मार कार्यवाही की गई और एक बड़ी सफलता हाथ लगी है। सीओ सिटी ने बताया कि छापेमारी में कोडीन सिरप की 4500 किलो लीटर पदार्थ नारकोटिक्स का बरामद हुआ है। मार्केट में कीमत करीब 80 लाख रुपए आंकी गई है। दवाइयों के एलीगल डायवर्जन से जो भी लोग जुड़े हैं पुलिस गहनता से जांच में जुटी है जल्द ही जो बचे हुए लोग हैं उनके ऊपर कार्यवाही की जाएगी।


पुलिस और ड्रग्स विभाग की कार्यवाही के बाद ट्रांसपोर्टर को छुड़ाने के लिए लोगों का दबाब आना शुरू हो गया है। लोग थाने के चक्कर लगा रहे हैं। ड्रग विभाग और पुलिस दवाइयों के इलीगल डायवर्जन कारोबार में लिप्त लोगों की ख़ाक छानने में जुटी है।

arun rawat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned