IRCTC की वेबसाइट से बनती रहीं फर्जी ई-टिकट, रेलवे को लगा लाखों का चूना

शातिर करीब दो साल से फर्जी तरीके से आईआरसीटीसी से ई टिकट बना रहा था।

By: अमित शर्मा

Published: 15 Nov 2018, 05:55 PM IST

मथुरा। फर्जी पर्सनल आईडी बनाकर आईआरसीटीसी की बेबसाइट से अब तक 478 ई-टिकट बनाकर रेलवे को चूना लगाने वाले एक शख्स को आरपीएफ ने मथुरा से अरेस्ट किया है। पकड़े गए आरोपी के पास से पिछली तारीखों के 18 ई-टिकट और आगामी यात्राओं के 9 ई-टिकट बरामद किए हैं। आरपीएफ के मुताबिक यह शख्स अभी तक करीब पांच लाख रुपए से अधिक कीमत के ई-टिकट फर्जी आईडी से बनाकर मनमानी रेटों पर यात्रियों को बेच चुका है। इसके पास से रेलवे पुलिस ने लैपटाॅप, प्रिंटर, ई-टिकट बरामद किए हैं।

ये है मामला

जानकारी के मुताबिक मथुरा में एक ई-टिकट बुकिंग सेंटर से फर्जी आईडी बनाकर रेलवे की वेबसाइट आईआरसीटीसी से तत्काल और सामान्य यात्रा की टिकिट बनाकर रेलवे को चूना लगाने की सूचना मिल रही थी। इसी सूचना पर कार्रवाई कारते हुए आरपीएफ मथुरा ने बुधवार को शहर कोतवाली क्षेत्र के स्टेट बैंक चैराहा स्थित परमानंद गेस्ट हाउस और ई-टिकिट बुकिंग सेंटर से पवन गौतम निवासी 24 आदर्श नगर महोली रोड को गिरफ्तार कर लिया। आरपीएफ थाना प्रभारी रोहित कुमार ने बताया कि पवन गौतम नाम का यह शख्य पिछले करीब दो साल से इस काम को अंजम दे रहा था और रेलवे को चूना लगा रहा था।

यह भी पढ़ें- ताजमहल के गेट पर चस्पा हुए इस नोटिस ने उड़ाए मुस्लिम संंगठनों के होश

उन्होंने बताया कि पवन गौतम आईआरसीटीसी की बेवसाइट पर टिकिट बुकिंग के लिए हर बार फर्जी आईडी बनाता था। उन्होंने बताया कि पकड़ा गया आरोपी अभी तक कुल 478 ई-टिकिट फर्जी तरीके से बना चुका है जिसकी कीमत करीब पांच लाख सात हजार 390 रुपए है। उन्होंने बताया कि इन ई-टिकिटों को यह शख्स रेलवे के यात्रियों को मनमाने रेंटों पर बेच दिया करता था। आरपीएफ थाना प्रभारी रोहित कुमार ने बताया कि इसके पास से पिछली यात्राओं के करीब 18 ई-टिकिट बरामद किए हैं जिनमें से 8 ई-टिकिट तत्काल और 10 सामान्य हैं वहीं 9 ई-टिकिट आगामी यात्राओं के बरामद किए हैं जिनमें से पांच तत्काल और चार सामान्य यात्रा के हैं। पकड़े गए आरोपी के पास से आरपीएफ ने एक लैपटाॅप, एक प्रिंटर, माउस, एक मोबाल, ब्राडबैंड आदि सामान बरामद किया है। आरपीएफ थाना प्रभारी रोहित कुमार ने बताया कि पकड़े गए आरोपी के खिलाफ रेलवे अधिनियम की धारा 143 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

Show More
अमित शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned