एसएसपी राकेश कुमार के प्रमोशन पर शहीद मुकुल द्विवेदी के भाई का तंज, बोले भारत रत्न से नवाजा जाना चाहिए था...

जवाहर बाग कांड के समय मथुरा के एसएसपी राकेश कुमार सिंह और डीएम राजेश कुमार की कार्यशैली पर सवाल उठे थे।

By: suchita mishra

Published: 07 Jun 2018, 12:20 PM IST

मथुरा। जवाहर बाग कांड के दौरान मथुरा के तत्कालीन एसएसपी राकेश कुमार सिंह को सरकार द्वारा प्रमोशन दिए जाने को लेकर जवाहर बाग कांड में शहीद हुए एसपी सिटी मुकुल द्विवेदी के छोटे भाई प्रफुल्ल द्विवेदी ने सवाल उठाया है। उन्होंने तल्ख टिप्पणी करते हुए कहा है हक एसएसपी को प्रमोशन देने के बजाय उन्हें भारत रत्न से नवाजा जाना चाहिए था। प्रफुल्ल की मानें तो सरकार के इस रवैये ने उनके परिवार की भावनाओं को आहत किया है।

ये है पूरा मामला
दरअसल मथुरा में 2 जून 2016 को हुए जवाहरबाग कांड में शहीद हुए एसपी सिटी मुकुल द्विवेदी के भाई प्रफुल्ल द्विवेदी ने तत्कालीन एसएसपी राकेश कुमार सिंह को प्रमोशन दिए जाने पर सवाल उठाया है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को ट्विटर पर ट्वीट कर इसका विरोध जताते हुए लिखा कि राकेश कुमार सिंह को किस आधार पर प्रमोशन दिया गया। जबकि तत्कालीन एसएसपी का भी नाम जवाहर बाग कांड की चल रही जांच में है। ऐसे में यूपी सरकार के इस फैसले का गलत संदेश जाएगा। मुकुल द्विवेदी की पत्नी ने भी सीएम को ट्वीट किया है। बता दें 2 जून 2016 को जवाहरबाग कांड में एसपी सिटी मुकुल द्विवेदी समेत दो अफसर शहीद हो गए थे जबकि 27 कब्जाधारियों की इस कांड में मौत हो गई थी। इस मामले की जांच करीब 15 महीने से सीबीआई कर रही है।

जवाहर कांड के दौरान हुआ था तबादला
जवाहर बाग कांड के समय मथुरा के एसएसपी राकेश कुमार सिंह और डीएम राजेश कुमार थे। इस घटना के बाद इन दोनों ही अधिकारियों की कार्यशैली को लेकर सवाल उठना शुरू हो गए थे जिसके चलते सरकार ने दोनों ही अफसरों का मथुरा से तबादला कर दिया था। अब यूपी सरकार ने राकेश कुमार सिंह को प्रमोशन देकर डीआईजी बना दिया है। यही बात मुकुल द्विवेदी के परिवार को नागवार गुजरी है। उनके भाई प्रफुल्ल द्विवेदी ने नरेंद्र मोदी और योगी आदित्यनाथ को ट्वीट करके इस पर कड़ा ऐतराज जताया है।

PM Narendra Modi
Show More
suchita mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned