मथुरा की शिला बनेगी राम मंदिर निर्माण का आधार, विधि विधान से शिला का हुआ पूजन

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्य परमानंद जी महाराज ने कहा कि सभी संतों ने मिलकर एक चांदी की शिला भेट की है जो भगवान राम मंदिर के निर्माण में लगाई जाएगी

By: Hariom Dwivedi

Updated: 01 Mar 2020, 02:25 PM IST

मथुरा. श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्य परमानंद जी महाराज शनिवार को मथुरा पहुंचे। संतों ने उनका स्वागत करते हुए राम मंदिर निर्माण के लिए चांदी की शिला भेंट की। धर्म रक्षा संघ के संतों ने कहा कि सभी कि इच्छा है कि भगवान राम मंदिर निर्माण में यह शिला लगाई जाए। शिला पूजन के बाद उन्होंने कहा कि राम मंदिर आंदोलन में वृंदावन के संतों-महंतों व भक्तों का अतुलनीय योगदान रहा है। राम मंदिर के प्रति ब्रजवासियों का हमेशा लगाव रहा है।

परमानंद महाराज का यह कहना है कि आज सभी संतों ने मिलकर एक चांदी की शिला भेट की है जो भगवान राम मंदिर के निर्माण में लगाई जाएगी। अच्छा कार्य करने के लिए मिलकर कार्य करें तो अच्छा है। देश को शक्तिशाली और समृद्ध बनाना हम सभी का कर्तव्य है। सभी संतों की इच्छा है कि समाज एक रहे और समाज एक रहकर देश की रक्षा करें। इसके साथ ही उन्होंने यह कहा कि जो व्यक्ति आगे जाता है तो आपसी मतभेद पैदा हो जाते हैं लेकिन ऐसा नहीं होना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा जिन मंदिरों पर मस्जिद बनाई गई थी उन मंदिरों पर भगवान राम की कृपा से मंदिर बनाए जा रहे हैं और हमें खुशी है कि भगवान राम त्रिपाल में से जल्द हटकर भव्य मंदिर में विराजेंगे।

परमानंद जी महाराज ने अपने कहा कि हम सभी का दायित्व है मंदिर निर्माण मिलकर करना। उन्होंने कहा कि मस्जिद कहीं भी बनाई जा सकती है, लेकिन मंदिर तोड़कर मस्जिद बनाई गई। इसके लिए हमें अपमानित किया गया और जो चीज हमारी है वह हम वापस लेने का पूरा प्रयास करते रहे थे। भगवान राम की कृपा ऐसी रही कि उन्होंने अपनी खोई हुई चीज को वापस दिला दी। भगवान राम ने हमारे स्वाभिमान को कहीं भी टूटने नहीं दिया। भगवान राम का मंदिर बनाने से लोग कहते हैं दोनों समुदायों के बीच आपसी मतभेद पैदा होंगे, लेकिन ऐसा नहीं है जो हुआ दोनों समुदाय के लोगों के बातचीत के बाद हुआ।

Ram Mandir
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned