लॉकडाउन : मानवता की मिसाल पेश कर पुलिस विभाग ने दिलों में बनाई अपनी अलग छवि

लॉकडाउन के पचास दिन पूरे हो गए हैं। इन पचास दिनों में पुलिस ने अपनी छवि को पूरी तरह से बदल दिया है। लॉकडाउन में पुलिस जहां सख्ती करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी वही मानवता की मिसाल पेश कर मथुरावासियों के दिलों में अपनी अलग छवि बना ली।

By: Mahendra Pratap

Published: 14 May 2020, 06:22 PM IST

मथुरा. लॉकडाउन के पचास दिन पूरे हो गए हैं। इन पचास दिनों में पुलिस ने अपनी छवि को पूरी तरह से बदल दिया है। लॉकडाउन में पुलिस जहां सख्ती करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी वही मानवता की मिसाल पेश कर मथुरावासियों के दिलों में अपनी अलग छवि बना ली।

लॉकडाउन में पुलिस सख्त रवैया अपनाया। जिसने भी लॉकडाउन तोड़ा उसे मुर्गा से लेकर लाठी की सेवा देने में कोई कोरकसर नही छोड़ी वहीं बुजुर्गों से लेकर बच्चों तक के जन्मदिन पर केक ले जाकर उनके जन्मदिन को मना कर उन्हें खुशियों का एहसास दिया है तो जरूरतमंदों को राशन, दवाईयां पहुंचाई। मथुरा पुलिस ने कोविड 19 पॉजिटिव से हुई मौत के बाद परिवारवालों के अंतिम संस्कार न करने पर उसका अंतिम संस्कार किया। बुधवार को एक बार फिर मथुरा पुलिस ने मानवता की मिसाल पेश की। दरअसल थाना गोविंद नगर क्षेत्र के मंडी रामदास में रहने वाले एक व्यक्ति की मौत हो गई।

लॉकडाउन के चलते परिवार के पास आर्थिक तंगी की वजह से पैसे नही थे और परिवार के सामने अंतिम संस्कार करने की समस्या खड़ी हो गयी। परिवारवालों ने पुलिस को मददगार मानते हुए उससे सहायता मांगी जिस पर #PRV4182 पर तैनात पुलिसकर्मियों ने तत्काल मौके पर पहुंचकर लकड़ी आदि सामग्री उपलब्ध कराकर अंतिम संस्कार कराया। जिस पर परिवारवालों ने अंतिम संस्कार में मददगार बनी पुलिस को दिल से दुआ देते हुए शुक्रिया कहा।

Show More
Mahendra Pratap Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned