वृंदावन में ठाकुर बांकेबिहारी मंदिर 19 अक्तूबर से अनिश्चितकालीन तक के लिए एक बार फिर बंद

जब ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन व्यवस्था शुरू हो जाएगी तब मंदिर के द्वार भक्तों के लिए खोले जाएंगे।

By: Mahendra Pratap

Published: 18 Oct 2020, 06:10 PM IST

मथुरा. कोरोना की वजह से सात माह बाद 17 अक्तूबर को वृंदावन में ठाकुर बांकेबिहारी मंदिर के दरवाजे श्रद्धालुओं के लिए खोले गए। पर भीड़ को देखते हुए मंदिर प्रशासन ने बांकेबिहारी मंदिर को अनिश्चितकाल तक बंद करने का निर्णय लेना पड़ेगा। जब ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन व्यवस्था शुरू हो जाएगी तब मंदिर के द्वार भक्तों के लिए खोले जाएंगे। वैसे मंदिर में ठाकुर जी की पूजा-अर्चना सेवायत करते रहेंगे।

नवरात्र के पहले दिन बांकेबिहारी मंदिर को खोला गया। एक ही दिन में करीब 20 हजार लोग वृंदावन पहुंच गए पर व्यवस्था सिर्फ चार सौ श्रद्धालुओं के दर्शन थी। इस दर्शन की प्रक्रिया में कोविड-19 के नियमों का पालन नहीं हुआ। इस अव्यवस्था को देखते हुए 17 अक्टूबर दोपहर में मंदिर ठाकुर श्री बांकेबिहारी महाराज के प्रबंधक मुनीश शर्मा ने मंदिर को 19 अक्तूबर से अगले आदेश तक बंद करने का ऐलान किया। पहले दिन व्यवस्था बिगड़ी थी लेकिन दूसरे दिन खामियों को दुरुस्त किया गया। रविवार को सही समय पर दर्शन हुए लेकिन आरती कुछ देरी से हुई।

प्रबंधक मुनीश शर्मा ने बताया कि कोविड-19 की गृह मंत्रालय से जारी गाइडलाइन के तहत ही बांकेबिहारी मंदिर खोला गया, लेकिन ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन पोर्टल पर अत्यधिक लोड हो जाने के कारण ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की व्यवस्था शुरू नहीं हो सकी। अब 19 अक्तूबर से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन व्यवस्था शुरू होने तक अनिश्चितकाल के लिए मंदिर श्रद्धालुओं के लिए बंद रहेगा।

Corona virus
Show More
Mahendra Pratap Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned