इस्कॉन मंदिर का निवेदन, दो महीने तक न आएं विदेशी भक्त

होली के रंग में कोरोना वायरस ने भंग डाल दी। वृंदावन के इस्कॉन मंदिर ने विदेशी पर्यटकों को सलाह देते हुए कहाकि करीब दो माह तक यहां न आएं। हर साल बड़ी संख्या में विदेशी पर्यटक भारत, खासकर मथुरा-वृंदावन होली का जश्न देखने आते हैं।

By: Mahendra Pratap

Updated: 05 Mar 2020, 03:38 PM IST

लखनऊ. होली के रंग में कोरोना वायरस ने भंग डाल दी। वृंदावन के इस्कॉन मंदिर ने विदेशी पर्यटकों को सलाह देते हुए कहाकि करीब दो माह तक यहां न आएं। हर साल बड़ी संख्या में विदेशी पर्यटक भारत, खासकर मथुरा-वृंदावन होली का जश्न देखने आते हैं।

वृंदावन इस्कॉन मंदिर के पीआरओ सौरभ दास ने कहाकि, मथुरा वृंदावन की मशहूर होली को देखने और वृंदावन के इस्कॉन मंदिर में भगवान कृष्ण के दर्शन करने आने वाले विदेशी भक्त और पर्यटक करीब दो माह तक यहां नहीं आएं। और अगर आते है तो अपने मेडिकल सर्टिफिकेट को साथ लेकर आएं। जिससे यह सिद्ध हो जाए कि वे कोरोना वायरस से संक्रमित नहीं हैं।

फिलहाल यह अडवाइजरी सिर्फ वृंदावन के इस्कॉन मंदिर के लिए जारी की गई है। हर साल विधवा आश्रम में होली मिलन आयोजित करने वाले सुलभ इंटरनैशनल ने भी कार्यक्रम रद्द कर दिया है।

कृष्ण जन्मभूमि ट्रस्ट के सचिव कपिल शर्मा ने भी बताया है कि विदेशी पर्यटकों को मास्क लगाकर ही जश्न में शामिल होने की सलाह दी गई है ताकि दूसरों की सेहत का भी ध्यान रहे। इससे पहले पीएम नरेंद्र मोदी के होली मिलन समारोह में हिस्सा नहीं लेने के ऐलान के बाद से ही यह अटकलें लगाई जा रही थीं कि देश में होली के जश्न पर कोरोना का असर देखने को मिल सकता है।

मथुरा से कुछ ही दूर आगरा में भी विदेशी सैलानी काफी संख्या में आते हैं। यहां ताज महल को देखने वाले यात्रियों को जांच के बाद ही आने दिया जा रहा है। ताज महल के बाहर थर्मल गन से जांच की जा रही है और तभी मंदिर में एंट्री दी जा रही है।

Corona virus
Show More
Mahendra Pratap Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned