मथुरा में मूसलाधार बारिश से किसानों की फसल तबाह

शनिवार रात किसानों के लिए आफत भरी रात रही। किसान अपनी लहराती फसलों को देख खुश हो रहा था। पर मूसलाधार बारिश ने किसान की फसल को तबाह कर दिया। किसान खून के आंसू रो रहा है।

By: Mahendra Pratap

Updated: 01 Mar 2020, 04:16 PM IST

Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

मथुरा. शनिवार रात किसानों के लिए आफत भरी रात रही। किसान अपनी लहराती फसलों को देख खुश हो रहा था। पर मूसलाधार बारिश ने किसान की फसल को तबाह कर दिया। किसान खून के आंसू रो रहा है।
मथुरा में शनिवार रात 29 फरवरी को बे-मौसम हुई बरसात से किसान पूरी तरह बर्बादी की कगार पर आकर खड़ा हो गया है। शनिवार रात तेज हवाओं के साथ आई बारिश से गेहूं की फसल धरती से चिपक गई है। जिसके चलते किसान को 40 से 50 प्रतिशत नुकसान होने का अनुमान लगाया जा रहा है। जिन किसानों की आलू की फसल अभी खेत में पड़ी है वह भी भीग जाने के कारण खराब हो जाएगी। लेकिन गेहूं की फसल में ज्यादा नुकसान हुआ है। किसान रात हुई बेमौसम बारिश से किसान खून के आंसू रो रहा है। इस बारे में किसान रामजीलाल ने जानकारी देते हुए बताया कि बारिश के चलते किसान पूरी तरह बर्बाद हो गया है। किसान अभी तक अपनी फसल को देखकर खुश हो रहा था लेकिन रातोंरात में किसान की खुशी आंसुओं में बदल गई।

बच्चों की उम्मीदों पर फिरा पानी :- राज नारायण और गोकुल नाम के किसान ने बताया की रात हुई बेमौसम की बारिश और आंधी ने गेहूं की फसल को चौपट कर दिया है। बच्चों को क्या खिलाएंगे और उनके पालन-पोषण के लिए क्या करेंगे। उम्मीद लगा कर बैठे थे कि फसल कट कर घर आएगी तो बच्चों को नई किताबें देंगे इसके साथ सारी उम्मीदों पर पानी फिर गया।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned