मुड़िया मेला पर घरों में कैद हो जाते हैं ग्रामीण

मुड़िया मेला पर घरों में कैद हो जाते हैं ग्रामीण

Amit Sharma | Updated: 14 Jul 2019, 08:18:54 PM (IST) Mathura, Mathura, Uttar Pradesh, India

-मथुरा के गोवर्धन में गुरूपूर्णिमा पर लगता है करोड़ी मेला
-कई किलोमीटर तक लग जाती हैं वाहनों की कतारें

मथुरा। ब्रज के गोवर्धन में मुडिया पूर्णिमा का आयोजन करोड़ी मेला बन गया है। अब सरकार भी इस मेला का आर्थिक व्यय उठाने लगी है। लेकिन अभी भी यहां ज्यादातार इंतजाम जनसामान्य के द्वारा ही किये जाते हैं। भीड़ इस कदर उमड़ रही है कि पुलिस प्रशासन के हाथपांव अभी से फूलने लगे हैं।
सच्चाई यह है कि मूर्णिया पूर्णिमा से दो दिन पहले से ही गोवर्धन को जाने वाले सभी मार्गों पर 20 से 30 किलोमीटर तक सिर्फ वाहन दिखाई देते हैं।

यह भी पढ़ें- Exclusive मुफ्त बिजली कनेक्शन लेने का एक बार फिर मिल सकता है ‘सौभाग्य’

मथुरा से गोवर्धन, भरतपुर से गोवर्धन, डीग राजस्थान से गोवर्धन, कोसीकला से बरसाना होते हुए गोवर्धन, मथुरा से सौंख होते हुए गोवर्धन, इतना ही नहीं गोवर्धन जाने वाले सभी रास्ते एक तरह से चाक हो जाते हैं। गोवर्धन के आसपास पांच से सात किलोमीटर में बसे गांव तो पार्किंग से पट जाते हैं। इतनी भीड़ में श्रद्धालु और आमलोगों को सामान्य सुविधाएं मिलना भी मुश्किल हो जाता है। सबसे ज्यादा मुश्किल किसी के बीमार पड़ जाने पर होती है। मरीज को सामान्य चिकित्सा उपलब्ध कराना भी संभव नहीं हो पाता है। कई बार अधिकारियों की गाड़ियों के चक्कर में जाम लग जाता है तो कई बार इन गाड़ियों को निकालने के लिए होने वाली धींगामुस्ती में दूसरे लोगों को भी आगे बढ़ने का मौका मिल जाता है। सबसे ज्यादा परेशानी मथुरा गोवर्धन मार्ग पर बसे उन गांवों को आती है जो गोवर्धन के पास हैं। इनमें मुख्यरूप से अडींग, कंचनपुर, हरीपुरा, भवनपुरा, मुखराई सहित अनेक गांव हैं। मार्गों के वन वे हो जाने के कारण लोगों को गोवर्धन सौंख होते हुए मथुरा जाना पड़ता है। अडींग से गोवर्धन पहुंचने में छह किलोमीटर का सफल छह घंटे में पूरा हो रहा है। हालात इस कदर हो जाते हैं कि जिन लोगों की पहुंच से मथुरा 10 किलोमीटर होता है इस दौरान वह 40 से 50 किलोमीटर दूर हो जाता है। जाम की स्थिति यह बनी रहती है कि एक घंटे का सफर कितने घंटे में पूरा होगा यह बतापाना किसी के बस में नहीं होता है। कई बार तो बस में टिकट का पैस देकर बैठी सवारियों को भी पैदल यात्रा करनी पड़ती है।

यह भी पढ़ें- Crime in Etah बेटी की हत्या के प्रयास में मां- बाप गिरफ्तार, देखें वीडियो

श्रद्धालुओं की सेवा का जज्बा भी अनूठा
वह लोग धन्य हैं जो पुलिस और प्रशासन की तमाम दिक्कतों के बाद भी श्रद्धालुओं की प्यास बुझाने को मीठे जल की प्याउ या भूखों का पेट भरने के लिए भंडारे लगाते हैं। इनकी संख्या गोवर्धन से मथुरा मुख्या तक हजारों में होती है। प्रशासन गंदगी साफ करने के इंतजाम भी नगर पालिका, नगर पंचायत एवं एनजीओ से नहीं करा पाता क्यों कि जनसैलबा ही इतना होता है। वह लोग जो आस्था के सैलाब में पुण्य कमाने की सोच के साथ यहां आते हैं, सब कुछ करते हैं। लोगों को हलुआ पूड़ी भी खिलाते हैं और उनके झूंठे दौना पत्तल भी उठाते हैं। दिन में निकलने के लिए रास्ता नहीं मिलता तो रात्रि के समय निकट के खेतों में इसका निस्तारण करते हैं। कई बार खेत के मालिकों का गुस्सा भी झेलना पड़ता है।

यह भी पढ़ें- Akhilesh yadav ने पुलिस दरोगाओं के दुष्कर्म की शिकार महिला के घर भेजी जांच टीम, देखें वीडियो

करोड़ों में उठता है जेब कटी का ठेका
हर बार जेबकतरी का ठेका करोड़ों में उठने के समाचार सर्खियों में रहते हैं। लाखों श्रद्धालुओं और हजारों वाहनों की भीड़ को सैकड़ों बैरियर लगाकर हजारों की संख्या में लगे पुलिसकर्मियों के लिए नियंत्रित कर पाना संभव नहीं होता तो जेबकतरों और सामान चुराने वालों को कौन देखे। मानसी गांगा जहां लोग स्नान करने के लिए कपड़े उतारते हैं सबसे ज्यादा मोबाइल चोरी होते हैं। पुलिस चोरी हुए इतने मोबाइलों को रजिस्टर कर सर्विलांस पर भी नहीं लगा सकती इस लिए आसपास के गांवों के बच्चे इस गलत धंधे धंसते जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें- गोवर्धन मुड़िया पूर्णिमा मेला क्षेत्र हुआ ‘नो ट्रिपिंग जोन’

श्रद्धालुओं से होती है खूब वसूली
गोवर्धन की पहुंच वाले चारों रास्तों पर पूर्व में ही बैरियर लगा दिये जाते हैं। यहां स्थानीय ग्रामीणों की पार्किंग भी होती हैं। पार्किंग होने के बाद भी सरकारी मातहात भी यहां वहां वाहन खड़ा करने वालों से वसूली का कोई मौका नहीं छोड़ रहे हैं।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned