ट्रेफिक समस्या का नहीं हुआ समाधान, आए दिन लगता है जाम

क्या वजह है जाम लगने की और लगने वाले जाम से कैसे निजात पाई जाए पत्रिका ने एसपी यातायात डॉक्टर बृजेश कुमार से खास बातचीत की।

By: अमित शर्मा

Published: 08 Dec 2019, 05:15 PM IST

मथुरा। कान्हा की नगरी में हर दिन हजारों की संख्या में श्रद्धालु आते हैं और भगवान के दर्शन कर आशीर्वाद प्राप्त करते हैं। यहां श्रद्धालु आते तो खुशी से हैं लेकिन मायूस होकर वापस जाते हैं और श्रद्धालुओं की ही नहीं बल्कि स्थानीय लोगों की मायूसी का कारण है यहां आए दिन लगने वाला जाम। जाम के झाम से घंटों लोगों को जूझना पड़ता है। क्या वजह है जाम लगने की और लगने वाले जाम से कैसे निजात पाई जाए पत्रिका ने एसपी यातायात डॉक्टर बृजेश कुमार से खास बातचीत की।

यह भी पढ़ें- VIDEO: शादी के छह माह बाद ही दहेज की बलि चढ़ गई विवाहिता, ससुरालीजन फरार

इस कारण लगता है जाम

कभी गलियों में छाया रहता था सन्नाटा और आज बने हैं जाम के हालात, जी हां हम बात कर रहे हैं उस गोपाल की नगरी की जहां जाम के झाम से लोगों को जूझना पड़ता है। मथुरा में ही नहीं बल्कि वृंदावन में भी स्थानीय लोग जाम से तो परेशान हैं साथ में यहां आने वाले जो श्रद्धालु हैं वह भी जाम से परेशान दिखते हैं। जाम की स्थिति क्यों पैदा होती है और अभी तक हालात क्यों नहीं सुधरे आज हम चर्चा करेंगे एसपी ट्रैफिक डॉक्टर बृजेश कुमार से। जानने की कोशिश करेंगे कि आखिर क्या वजह है जाम से निजात लोगों को क्यों नहीं मिल पा रही है और यह जाम लगातार बढ़ता ही जा रहा है। पत्रिका से बात करते हुए एसपी ट्रैफिक डॉक्टर बृजेश कुमार ने बताया कि मथुरा और वृंदावन में दर्शनार्थी अधिक संख्या में आते हैं। शनिवार और रविवार को अधिक भीड़ रहती है और जो भी त्यौहार पर्व आते हैं। उन सभी के लिए हम लोगों ने पार्किंग की व्यवस्था कर रखी है। जितनी पार्किंग हैं वृंदावन छटीकरा रोड पर वह प्राइवेट पार्किंग हैं। 100 सैया हॉस्पिटल की तरफ से जो वाहन आते हैं हमारे पास तीन ऑफिशियल पार्किंग हैं। जाम से मुक्ति की बात है उसके लिए लगातार हम प्रयास कर रहे हैं और हमें सफलता भी मिली है। शहर में जाम की जो स्थिति बनती है वह ई रिक्शा और ऑटो रिक्शा की वजह से बनती है। यह लोग अपने वाहनों को कहीं भी खड़ा कर देते हैं इसलिए जाम के हालात पैदा हो जाते हैं हम लोग पार्किंग की व्यवस्था कर रहे हैं और यात्रियों को वहीं से बैठना होगा और वहीं छोड़ना होगा ताकि जाम की स्थिति न बन पाए।

यह भी पढ़ें- तांत्रिक क्रियाओं में इस्तेमाल होने वाले प्रतिबंधित जीव-जंतुओं के अंगों की तस्करी का खुलासा

यात्रियों से मिला अच्छा फीडबैक

यातायात व्यवस्था को देखते हुए हम लोगों ने त्योहारों के मद्देनजर खास व्यवस्थाएं की हैं। जहां बैरियल लगे हैं वहां से किसी भी वाहन को आगे नहीं जाने दिया जाएगा। श्रद्धालुओं को थोड़ी सी परेशानी तो होगी लेकिन जब वह दर्शन कर वापस आएंगे तो बहुत अच्छा लगेगा।

यह भी पढ़ें- दो दिन पहले दफनाया गया लड़की का शव कब्र से गायब

होली गेट क्षेत्र को ऑटो रिक्शा, ई-रिक्शा मुक्त क्षेत्र किया

बृजेश कुमार का कहना है कि शहर में जो जाम लगता है वह ऑटो रिक्शा और ई रिक्शा की वजह से लगता है हम लोगों ने तिराहे चौराहे पर इसके साथ साथ होली गेट क्षेत्र को भी ई रिक्शा और ऑटो रिक्शा मुक्त क्षेत्र बना दिया है। वन वे ट्रेफिक की व्यवस्था हम लोगों ने कर रखी है।

यह भी पढ़ें- तांत्रिक क्रियाओं में इस्तेमाल होने वाले प्रतिबंधित जीव-जंतुओं के अंगों की तस्करी का खुलासा

गोवर्धन में 400 ई-रिक्शाओं पर डलवाए गए नंबर

एसपी यातायात ने बताया कि गोवर्धन में हम लोगों ने जो काम किया है उस से लोगों को काफी हद तक सहूलियत मिली है। 400 ई-रिक्शा ऊपर हम लोगों ने नंबरिंग डलवाने का काम किया और वही काम मैं मथुरा वृंदावन में करने जा रहा हूं। रूट बाई हम लोगों ई-रिक्शाओं को संचालित करेंगे। परिक्रमा मार्ग पर वही रिक्शा चलेंगे शहरी क्षेत्र में ई-रिक्शा के अलावा और कोई वाहन ना जाए इसके लिए भी हम लोग कार्य कर रहे हैं।

Show More
अमित शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned