Kisan Andolan , नेशनल हाईवे से लेकर यमुना एक्सप्रेस-वे पर पुलिस का कड़ा पहरा

- गणतंत्र दिवस के मौके पर किसान ट्रैक्टर रैली के चलते प्रशासन सतर्क
- हाईवे से यमुना एक्सप्रेसवे पर पुलिस का पहरा

- किसान संगठनों की हर हरकत पर खुफ़िया विभाग की नजर बनाए हुए
- पुलिस अफसरों को स्पष्ट निर्देश दिए
- दिल्ली की तरफ जाने बाले ट्रैक्टरों पर रोक

By: arun rawat

Published: 25 Jan 2021, 04:33 PM IST

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क

मथुरा. दिल्ली (Delhi) में 26 जनवरी को किसानों के ट्रैक्टर मार्च को लेकर जिला प्रशासन (District Administration) पूरी तरह से सख्त है। नेशनल हाईवे - 19 (National Highway-19) के साथ-साथ यमुना एक्सप्रेस-वे (Yamuna Expressway) सहित सभी बॉर्डर (Border) पर भारी मात्रा में पुलिस और पीएसी बल (Pac Force) की तैनाती की गयी है। किसानों के ट्रैक्टरों (Farmers Tractors) को यमुना एक्सप्रेस-वे पर रोक (Banned)लगा दी है। यमुना एक्सप्रेस-वे पर सुरक्षा का जायजा (Safety review) लेने के लिए डी.एम नवनीत चहल (D.M Navneet Chahal) और एस.एस.पी गौरव ग्रोवर (S.S.P Gaurav Grover) पहुँचे। वही पुलिस असामाजिक तत्वों (Anti-Social Elements) पर भी नजर बनाये हुई है।

 

नए कृषि कानूनों के विरोध (Opposition To New Agricultural Laws) में गणतंत्र दिवस (The Republic Day) परेड में ट्रैक्टर के पथ संचालन (Tractor Steering) के किसान संगठनों के एलान से जिला पुलिस-प्रशासन (District Police-Administration) चौकन्ना हो गया है। यमुना एक्सप्रेस-वे (Yamuna Expressway) और हाईवे (Highway) पर पुलिस (Police) और पीएसी (PAC) के सैकड़ों जवान चप्पे-चप्पे पर तैनात किए गए हैं। किसी भी हाल में दिल्ली (Delhi) के लिए ट्रैक्टर नहीं जाने दिए जाएं, ऐसे निर्देश दिए गए हैं। एक्सप्रेस-वे (Yamuna Expressway) और हाईवे-19 (Highway-19) पर पुलिस और पीएसी के जवान मुस्तैद कर दिए गए। मथुरा में कोटवन बॉर्डर (Kotvan Border) पर पुलिस की कड़ी नजर है। मांट टोल पर भी पुलिस ने चौकसी बढ़ा दी है। कृषि कानूनों (Agricultural Laws) के खिलाफ दिल्ली में होने वाली ट्रैक्टर रैली में मथुरा से कोई नहीं जा सके। जिला पुलिस प्रशासन ने 650 पीएसी (650 PAC) के जवान लगाए है। एसएसपी मथुरा ने सख्त निर्देश दिए है की कोई भी ट्रैक्टर यमुना एक्सप्रेस-वे और हाईवे से दिल्ली की ओर नहीं जायेगा।


वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ.गौरव ग्रोवर ने जानकारी देते हुए बताया कि चप्पे-चप्पे पर पुलिस और पीएसी जवानों का पहरा बैठा दिया गया है। 26 जनवरी (The Republic Day) यह सुरक्षा हाईवे और एक्सप्रेस-वे पर बनी रहेगी। पुलिस अफसरों को स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि अगर कोई ट्रैक्टर लेकर दिल्ली जा रहा है उसे समझाकर लौटा दें। पुलिस और पीएसी जवानों के अलावा किसान संगठनों (Farmer Organizations) की हर हरकत पर खुफ़िया विभाग (Intelligence department) की नजर बनाए हुए है।

उन्होंने बताया कि किसान आंदोलन को देखते हुए जिले में एएसपी-4, सीओ- आठ, इंस्पेक्टर/एसएचओ-16, एसआई-90, सिपाही-275 के अलावा दो कंपनी पीएसी को लगाया गया है।

By - Nirmal Rajpoot

arun rawat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned