भाव की ताकत से हुआ 500 वर्षों की समस्या का एक झटके में समाधान

भाव की ताकत से हुआ 500 वर्षों की समस्या का एक झटके में समाधान

By: Neeraj Patel

Published: 04 Mar 2020, 08:28 AM IST

Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

मथुरा. ऐसा लगता है जैसे भगवान ने सैंकड़ों वर्षों के सारे कार्यों के समाधान की जिम्मेदारी मोदी जी और मेरे कंधों पर दे दी है, कि हम लोग ही सारी समस्याओं का समाधान करें। रंगोत्सव कार्यक्रम में शामिल होने आए प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने यहां श्रीजी मंदिर में श्रीराधेरानी के दर्शन करने के बाद रंगोत्सव के मंच से लोगों को सम्बोधित करते हुए कहीं।

बता दें कि 2018 में बरसाना में रंगोत्सव की शुरुआत हुई और सीएम योगी इसमें शामिल भी हुए लेकिन उस समय लट्ठमार होली के दिन अत्यधिक भीड़ होने के कारण वे मंदिर दर्शन करने नहीं जा सके और यह मलाल उनके मन में था। मंगलवार को बरसाना स्थित राधा बिहारी इंटर कालेज के ग्राउंड पर आयोजित रंगोत्सव कार्यक्रम में शिरकत करते हुए कहा कि 2 वर्ष पहले आया था लेकिन भीड़ के कारण मंदिर जाना उचित नहीं समझा, ये मेरे भाव थे लेकिन आज्ञा तो राधारानी की थी कि उस समय वहां ना जाऊं क्योंकि भक्तों को परेशानी होगी और तभी से सोचता था कि श्रीराधेरानी के दर्शन होंगे या नहीं। पिछले साल चुनावों की घोषणा हो जाने के कारण नहीं आ सका लेकिन इस बार मेने कल ही कह दिया था कि 4 को लट्ठमार होली है मैं 3 को ही राधारानी के दर्शन करूंगा। ब्रज की होली का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि हम कितने गौरवशाली है कि हमारी 5 हजार साल पुरानी समृद्ध परंपरा है और हमारे पूर्वजों ने इस समृद्ध परंपरा को आज भी उसी संजीदगी और जीवंतता के साथ संजो कर रखा है। यहां के कण-कण में श्री राधेरानी और बांके बिहारी व्याप्त हैं। यहां की पवित्रता, सात्विकता,वैष्णव भाव, भक्ति और भक्ति की शक्ति का एहसास पूरी दुनिया करती है। सीएम ने कहा कि दुनिया मे किसी के पास इतनी समृद्ध परंपरा नहीं जो हमारे पास है।

सीएम योगी बोले कि कितनी खुशी हुई जब 3 साल पहले हमने अयोध्या में दीपोत्सव का कार्यक्रम किया, पूरी दुनिया उसके साथ जुड़ी, पूरी दुनिया ने उसे हाथों हाथ लिया और उसी का परिणाम की भाव कितने मजबूत होते हैं उन भावों की ताकत का एहसास करिए कि देखते ही देखते 500 वर्षों की समस्या का एक झटके में समाधान हो गया और अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त हो गया। ये भक्ति की ताकत है।

आने वाले 2 साल में यमुना भी होगी गंगा की तरह निर्मल
उन्होंने कहा कि नदियां केवल नदी नहीं हैं ये हमारी सास्कृतिक धरोहर हमारी पहचान हैं। जिनके साथ हमने मां का संबंध, एक आत्मीय भाव जोड़ा है और उसी भाव ने हमें जीने की प्रेरणा दी है। गंगा की निर्मलता में हमें अभूतपूर्व सफलता प्राप्त की है और प्रयास है कि आगामी 2 वर्ष में यमुना जी की निर्मलता भी गंगा जी की तरह हो जाए, इसके लिए हम सबको प्रयास करना चाहिए।

ना कसाईखाने जाएगी, ना लाठी खाएगी गौ माता
सीएम योगी ने कहा कि गौ माता की सेवा करके ही हमारे बांके बिहारी गोपाल कहलाए। गौरक्षा के लिए जिन्होंने काम किया उनका में धन्यवाद करता हूँ। सीएम बोले कि हमारी गौ माता अब ना कसाईखाने जाएगी और ना सड़कों पर लाठी खाएगी। इसके लिए अच्छे आश्रयस्थल बनाएंगे, इनकी सेवा और देखभाल करेंगे और फिर दूध और घी की नदियां बहाने का कार्य भारत की धरती से करेंगे।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned